Connect with us

राजनीति

कांग्रेस महासचिव अविनाश पांडे का दावा, गहलोत सरकार के पास 109 विधायकों का समर्थन

Published

on

SHARE THIS

जयपुर। राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बागी तेवर अपना लेने के कुछ घंटे बाद कांग्रेस महासचिव अविनाश पांडे ने दावा किया है कि राज्य के 109 विधायक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समर्थन में हैं और उन्होंने इस संबंध में एक समर्थन पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। उन्होंने कहा कि कुछ और विधायक भी मुख्यमंत्री गहलोत के संपर्क में हैं और वे भी समर्थन पत्र पर हस्ताक्षर कर देंगे।

राजस्थान में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच पांडे ने मुख्यमंत्री निवास पर रविवार देर रात 2.30 बजे कहा कि 109 विधायकों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली सरकार और सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी के नेतृत्व पर पूरा विश्वास जताते हुए पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। कुछ अन्य विधायकों की भी मुख्यमंत्री से फोन पर बात हुई है। वे भी पत्र पर हस्ताक्षर करेंगे।

पांडे ने कहा कि विधायकों को सोमवार सुबह 10.30 बजे होने वाली बैठक में शामिल होने के लिए व्हिप जारी किया गया है। बैठक में भाग नहीं लेने वाले विधायकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि पायलट ने रविवार रात दावा किया कि अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में है और 30 से अधिक विधायकों ने उन्हें समर्थन देने का वादा किया है। उन्होंने कहा कि उन्हें समर्थन देने वाले इन विधायकों में कांग्रेस के विधायक और निर्दलीय विधायक शामिल हैं।

एक आधिकारिक बयान में पायलट ने कहा कि वे सोमवार को होने वाली कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होंगे। एक बयान में कहा गया था कि राजस्थान के उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सचिन पायलट सोमवार को होने वाली कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होंगे।

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

सांसद बृजमोहन अग्रवाल ने विधायक पद से दिया इस्तीफा, विधानसभा अध्यक्ष रमन सिंह को सौंपा त्यागपत्र

Published

on

SHARE THIS

रायपुर :  भाजपा के वरिष्ठ नेता बृजमोहन अग्रवाल ने सांसद बनने के बाद आज विधायक पद से इस्तीफा दिया. अग्रवाल ने विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह को अपना इस्तीफा सौंपा. इस दौरान विधायक अजय चंद्राकर, विधायक पुरंदर मिश्रा, अनुज शर्मा, पूर्व सांसद सुनील सोनी सहित कई नेता मौजूद रहे.

इस्तीफे के बाद बृजमोहन अग्रवाल ने कहा, एक नई पारी की शुरुआत कर रहा हूं. आप सभी का प्यार और दुलार मिलता रहेगा. मैं रायपुर दक्षिण की जनता से माफी मांगता हूं. मुझे विधायक का पद नई दायित्व के साथ छोड़ना पड़ा है. मैं संसद में जनहित के मुद्दों को उठाता रहूंगा. केंद्र में मंत्री नहीं बन पाने का मुझे मलाल नहीं है.

बता दें कि हाल ही लोकसभा चुनाव में रायपुर लोकसभा से बृजमोहन अग्रवाल ने बड़ी जीत दर्ज की थी. उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी विकास उपाध्याय को लगभग 6 लाख मतों से हराया था.

जानिए बृजमोहन अग्रवाल का राजनीतिक सफर

बृजमोहन अग्रवाल का जन्म एक मई 1959 को रायपुर में हुआ था. काॅमर्स व आर्ट्स दोनों विषय से पोस्ट ग्रेजुएशन, एलएलबी की डिग्री भी ली है. साल 1986  में इनकी शादी सरिता देवी अग्रवाल से हुई.  इनके 2  बेटे और 1 बेटी हैं. वे मध्यप्रदेश से बंटवारे से पूर्व भी मंत्री का पद संभाल चुके हैं. मध्यप्रदेश विधानसभा द्वारा उन्हें सर्वश्रेष्ठ विधायक का पुरस्कार भी प्रदान किया गया है. बृजमोहन ने मात्र 16 साल की उम्र में ही 1977 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की सदस्यता ले ली थी. वर्ष 1981 और 1982 के दौरान वे छात्रसंघ के अध्यक्ष भी रहे. 1984 में वे भारतीय जनता पार्टी के सदस्य बने. 1988 से 1990 तक वे भाजयुमो के युवा मंत्री भी रहे. 1990 में वे पहली बार मध्यप्रदेश विधानसभा में विधायक चुनकर आए. वे राज्य के सबसे युवा एमएलए थे. इसके बाद से वे 1993, 1998, 2003, 2008, 2013, 2018 और 2023 में विधायक चुने गए.

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

कांग्रेस कल रायपुर में करेगा धरना प्रदर्शन

Published

on

SHARE THIS

रायपुर :  छत्तीसगढ़  के बलौदाबाजार जिले में हुई दिल दहला देने वाली घटना को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी 18 जून को रायपुर के राजीव गांधी चौक पर धरना-प्रदर्शन करेंगे. कांग्रेस कमेटी ने स्थानीय शासन प्रशासन की विफलता को कारण माना है. घटना को लेकर कांग्रेस ने भाजपा सरकार के विष्णु देव साय से इस्तीफे की मांग भी की है. कांग्रेस का कहना है कि बलौदा बाजार की घटना ने साबित कर दिया कि सुरक्षा को लेकर सरकार कितनी गंभीर है.

पूरी घटना को लेकर कांग्रेस के नेता बलोदा बाजार भी पहुंचे थे और वहां पीड़ितों से मुलाकात भी की है, जिसे लेकर कांग्रेस ने सरकार पर कई आरोप लगाए हैं. इसी कड़ी में प्रदेश कांग्रेस कमेटी एक दिवसीय धरना प्रदर्शन करने जा रही है, जिसमें कांग्रेस के  प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज समेत कई नेता शामिल होंगे. को सुबह 11:30 से प्रारंभ होने वाले इस धरना प्रदर्शन का आह्वान  प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा किया गया है.

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

सांसद बृजमोहन अग्रवाल विधायक पद से देंगे इस्तीफा

Published

on

SHARE THIS

रायपुर :  लोकसभा चुनाव में रायपुर से जीतने वाले शिक्षा एवं पर्यटन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ की राजनीति में हलचल मचा दी है। उन्होंने कहा है कि अभी तय करेंगे विधायक से इस्तीफा दें या सांसद से। बृजमोहन अग्रवाल ने इससे पर्दा हटाते हुए कहा कि वे विधायक पद से 18 या 19 जून को इस्तीफा देंगे। इसके बाद नियमानुसार वे 6 महीने तक मंत्री पद पर रह सकते हैं। इस पर उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जब चाहेंगे तब मंत्री पद से इस्तीफा दे दूंगा। भाजपा के सूत्रों की मानें तो 15 जुलाई के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार कभी भी हो सकता है। एक मंत्री का पद पहले से खाली है, विस्तार में बृजमोहन अग्रवाल से भी इस्तीफा ले लिया जाएगा। ऐसे में दो मंत्री पद भरे जाएंगे। इसको लेकर विधायकों की दौड़ भी शुरू हो गई। रविवार को प्रदेश के सहप्रभारी नतिन नबीन ने कई बैठकें ली। नबीन ने एक गोपनीय बैठक भी की, इसमें मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय, प्रदेश अध्यक्ष किरण सिंहदेव, क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल और संगठन महामंत्री पवन साय उपस्थित रहे। इस बैठक में मंत्रिमंडल को लेकर भी चर्चा हुई। मंत्रियों की परफार्मेंस में तीन की स्थिति खराब बताई जा रही है।

ऐसे में मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान दो के अलावा तीन और मंत्रियों को भी बदला जा सकता है। बृजमोहन अग्रवाल संसद के नए सत्र में शामिल होने दिल्ली जाएंगे। मीडिया ने इस्तीफे, मंत्री पद को लेकर सवाल किए इसके जवाब बृजमोहन ने दिए। उनसे जब पूछा गया कि आप कब इस्तीफा दे रहे हैं बृजमोहन बोले- केंद्रीय नेतृत्व में सांसद का चुनाव लड़वाया है तो सोच समझकर लड़वाया है। नियम के अनुसार जब भी होगा मैं विधायक पद से इस्तीफा दूंगा। मुख्यमंत्री जी के अधिकारों में है कि वह चाहे तो किसी भी जो विधायक नहीं है, उसको भी 6 महीने तक मंत्री रख सकते हैं। ये कहकर बृजमोहन ने मंत्री पद पर बनने रहने की अपनी इच्छा जता दी। बृजमोहन की जगह कौन होगा ?: ये पूछे जाने पर कि आपकी जगह यहां प्रदेश में कौन होगा, दक्षिण कौन जीतेगा, बृजमोहन ने जवाब में कहा- जो आएगा वह अपना परफॉर्मेंस दिखाएगा, पांचों उंगलियां बराबर नहीं होती हैं। केंद्र में पद को लेकर कहा- अभी बहुत समय है अभी तो सरकार को बने हुए मुश्किल से 6 दिन हुए हैं अभी तो 5 साल बाकी हैं। दक्षिण विधानसभा को लेकर हा कि रायपुर की जनता और हमारे कार्यकर्ता हैं जो दक्षिण में दमदारी दिखाते हैं मैं जो कुछ भी हूं उनके दाम पर हूं। दिल्ली में सांसद पद की शपथ लेंगे अग्रवाल: 8वीं लोकसभा का पहला सत्र अगले हफ्ते यानी 24 जून से शुरू होने वाला है। यह सत्र 9 दिन यानी 3 जुलाई तक चलेगा। 26 जून से लोकसभा स्पीकर के चुनाव की प्रक्रिया शुरू होगी।

ऐसी खबरें हैं कि भाजपा ओम बिड़ला को दूसरी बार स्पीकर बना सकती है, वहीं चंद्रबाबू नायडू की ञ्जष्ठक्क और नीतीश कुमार की छ्वष्ठ स्पीकर पद मांग रही हैं। इस बीच नए सांसदों की शपथ का कार्यक्रम भी होना है। बृजमोहन अग्रवाल देश की संसद में शपथ लेंगे। आज धरसीवां, तिल्दा-नेवरा में निकालेंगे विजय आभार रैली : जननायक अजेय योद्धा, लाडले लोकप्रिय नेता रायपुर लोकसभा के नवनिर्वाचित सांसद, शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल जनता से मिले अपार स्नेह आशीर्वाद से रिकॉर्ड मतों से मिली ऐतिहासिक जीत के लिए जनता के प्रति कृतज्ञता और आभार प्रगट करने के उद्देश से 17 जून सोमवार को 4 बजे धरसीवां – कूरा, 6 बजे खरोरा, 7 बजे तिल्दा – नेवरा में विजय आभार रैली मे शामिल होंगे।

विधायकों की बैठक में मेयर चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली से कराने पर मिला फीडबैक प्रदेश भाजपा कार्यालय में प्रदेश प्रभारी नितिन नबीन ने लगातार बैठकें लीं। हर लोकसभा क्षेत्र में पार्टी के परफॉर्मेंस को लेकर बात की गई। इन बैठकों में सरोज पांडे नजर भी नजर आईं। वो कोरबा से लोकसभा चुनाव हार चुकी हैं। बैठक में कोरबा की गड़बडिय़ों-खामियों पर भी बड़े नेताओं ने बात की। सरोज पांडेय ने अपनी बात संगठन के नेताओं से कह दी है। माना जा रहा है कि वो कुछ स्थानीय नेताओं के अपेक्षाकृत साथ न देने की शिकायत कर चुकी हैं। इन बैठकों में प्रदेश अध्यक्ष किरण सिंह देव, महामंत्री संगठन पवन साय मौजूद रहे। संगठन के नेताओं ने सांसद दल की बैठक ली। कोर कमेटी, भाजपा विधायक दल की भी बैठक हुई है। लोकसभा क्लस्टर प्रभारियों की भी बैठक में सियासी चर्चाएं हुईं। सबसे अहम बैठक विधायकों की रही। पार्टी सूत्रों की मानें तो इस बैठक में महापौर का चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली से करवाने पर बात हुई। अधिकांश नेताओं ने सीधे महापौर का चुनाव करवाने का फीडबैक बड़े नेताओं को दिया है। इस बैठक में मेयर का चुनाव किस प्रणाली से कराया जाए, इस पर विधायकों से राय मांगी गई। ज्यादातर विधायकों ने प्रत्यक्ष प्रणाली से मेयर का चुनाव कराने के पक्ष में अपनी बात कही। जल्द ही भाजपा इसे लेकर समिति बना सकती है।

ग्राउंड लेवल पर इस फैसले के असर का कैलकुलेशन किया जाएगा। योग दिवस प्रभारी बनेंगे : इस बैठक में आने वाले दिनों में पार्टी की एक्टिविटी पर भी बात की गई। संगठन में दिल्ली से निर्देश हैं कि योग दिवस को बेहतर तरीके से मनाया जाए। भाजपा इसे लेकर हर जिले में कार्यक्रम करेगी। हर जिले में नेताओं को प्रभारी बनाया जाएगा। रायपुर में प्रमुख कार्यक्रम होगा। इसमें मुख्यमंत्री, अन्य मंत्री और विधायक शामिल होंगे। मुख्यमंत्री भी हुए शामिल: प्रदेश भाजपा कार्यालय में अलग-अलग श्रेणियां की बैठकें हुईं। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय भी इन बैठकों में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने कहा कि, हमने 11 में से 10 सीटें जीती हैं। सबने खूब परिश्रम किया है। आगामी कार्य योजना को लेकर चर्चा हुई है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष किरणदेव ने बैठकों को लेकर कहा कि, भाजपा साल भर के कार्य योजना को लेकर काम करती है। संगठन के कार्यक्रम में सभी जनप्रतिनिधि उपस्थित रहेंगे। यह सुनिश्चित किया गया। इतनी गर्मी में भी निचले स्तर तक समन्वय स्थापित किया। अब नगरी निकाय चुनाव की दृष्टि से संगठन के माध्यम से तैयारी करेंगे।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending