Connect with us

खेल

*टीम इंडिया के कप्तान विराट ने दोहराया BCCI बॉस गांगुली का 18 साल पुराना इतिहास*

Published

on

SHARE THIS

नई दिल्ली। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का 18 साल पुराना इतिहास दोहरा दिया है। विराट ने किसी सकारात्मक अंदाज में यह इतिहास नहीं दोहराया है बल्कि उन्होंने अपने और टीम के खराब प्रदर्शन के मामले में गांगुली की बराबरी की है।

गांगुली की कप्तानी में भारत को 2002 में न्यूजीलैंड दौरे में 0-2 से हार का सामना करना पड़ा था और विराट की कप्तानी में भारत को 2020 में न्यूजीलैंड दौरे में 0-2 से हार का सामना करना पड़ा।

कप्तानी और बल्लेबाजी के लिहाज से भी गांगुली और विराट में न्यूजीलैंड दौरों में काफी समानता रही। गांगुली ने 2002 में 5, 5, 17 और 2 सहित कुल 29 रन बनाए तथा उनका औसत 7.25 रहा जबकि विराट ने 3, 14, 2 और 19 सहित कुल 38 रन बनाए और उनका औसत 9.50 रहा। हालांकि गांगुली और विराट विदेशी जमीन पर भारत के सबसे सफल कप्तान माने जाते हैं और उन्हें इन दो दौरों में अपने करियर की पहली ‘क्लीन स्वीप’ का सामना करना पड़ा।

 

2002 और 2020 में दोनों अवसरों पर न्यूजीलैंड ने दोनों टेस्ट मैचों में टॉस जीता और भारत को पहले बल्लेबाजी करने के लिए कहा। गांगुली की कप्तानी में टीम इंडिया को 10 विकेट और चार विकेट से हार का सामना करना पड़ा था जबकि विराट की कप्तानी में भारत को 10 विकेट और 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा।

2002 में न्यूजीलैंड के मार्क रिचर्डसन 89 रनों के साथ सीरीज के शीर्ष स्कोरर रहे थे जबकि इस बार केन विलियम्सन 89 रन के साथ न्यूजीलैंड के शीर्ष स्कोरर रहे। 2002 की सीरीज में भारत का प्रति विकेट रन औसत 13.37 था जबकि 2020 में 18.05 था।

गांगुली ने 2002 में 7.25 के औसत से रन बनाए जबकि इस बार विराट ने 9.50 के औसत से रन बनाए। भारत ने 2002 और 2020 में पहली पारियों में 161, 99, 165 और 242 के स्कोर बनाए और उसे इन मैचों में हार का सामना करना पड़ा।

भारत ने सीरीज के पहले दोनों टेस्ट 10 विकेट से गंवाए और मेजबान टीम को चौथी पारी में पहले टेस्टों में 36 और नौ रन का लक्ष्य मिला। इन 2 सीरीज (2002 और 2020) भारत ने केवल 3 टेस्ट 10 विकेट के अंतर से गंवाए थे।

सीरीज के दूसरे टेस्टों में भारत ने पहली पारी में मामूली बढ़त हासिल की। 2002 में उसे पांच रन की बढ़त और 2020 में सात रन की बढ़त मिली। भारत इसका फायदा नहीं उठा पाया और दोनों अवसरों पर चार तथा सात विकेट से मैच गंवा बैठा।

दोनों सीरीज में कोई शतक नहीं बना और 2002 में मार्क रिचर्डसन ने सर्वाधिक 89 रन और 2020 में विलियम्सन ने 89 रन बनाए। यह स्कोर पहले टेस्टों में न्यूजीलैंड की पहली पारी में बने। इन दोनों सीरीज में भारत की तरफ से सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर राहुल द्रविड का 78 रन 2002 में और मयंक अग्रवाल का 58 रन 2020 में रहा।

केवल तीन भारतीय बल्लेबाज इन 2 सीरीज में 100 या उससे ज्यादा रन बना पाए। सचिन तेंदुलकर ने 2002 में तथा चेतेश्वर पुजारा और अग्रवाल ने इस साल सीरीज में 100 से ज्यादा रन बनाए।

2002 में न्यूजीलैंड में जैकब ओरम को पदार्पण कराया जो 6 फुट 6 इंच लंबे ऑलराउंडर थे। इस बार काइल जैमिसन ने पदार्पण किया और वह 6 फुट 8 इंच लंबे हैं। ओरम ने सीरीज में 11 विकेट लिए और दूसरे टेस्ट की चौथी पारी में नाबाद 26 रन बनाए। जैमिसन ने नौ विकेट हासिल किए और दोनों टेस्टों की पहली पारी में 44 तथा 49 रन की महत्वपूर्ण पारियां खेली।

SHARE THIS

खेल

गौतम गंभीर नहीं होंगे भारत के कोच,नये कप्तान के साथ खेलेगी भारतीय टीम..

Published

on

SHARE THIS
21 जून 2024:- टी20 वर्ल्ड कप के बाद भारतीय टीम को नया कोच मिलना है। वर्ल्ड कप के बाद टीम इंडिया को ज़िमाब्व्बे दौरे के लिए जाना है। भारतीय टीम में बदलाव भी देखने को मिल सकता है। टीम इंडिया के हेड कोच को लेकर इंटरव्यू हो गया है लेकिन फाइनल घोषणा नहीं हुई है। इस बीच खबरें ऐसी भी आ रही हैं कि टीम इंडिया के कोच के रूप में दो नाम फाइनल हो सकते हैं। हालांकि ये अपुष्ट खबरें हैं। गौतम गंभीर के साथ डब्ल्यू वी रमन का इंटरव्यू भी हुआ है। वह भारतीय महिला टीम के साथ भी बतौर काम कर चुके हैं। रमन को अनुभव भी है। पीटीआई की मानें तो रोहित शर्मा, विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पांड्या को आराम दिया जा सकता है। उस स्थिति में टीम इंडिया की कप्तानी सूर्यकुमार यादव के हाथों में दी जा सकती है। सूर्या ने पहले भी भारत की कप्तानी की है ज़िम्बाब्वे दौरे के समय गौतम गंभीर शायद टीम के साथ नहीं होंगे। बतौर कोच वह तब काम करते हुए नहीं दिखेंगे। सूत्रों की मानें तो वीवीएस लक्ष्मण को यह जिम्मा दिया जा सकता है। लक्ष्मण ने इससे पहले भी भारतीय टीम के साथ अस्थायी कोच के रूप में काम किया है। भारत और ज़िम्बाब्वे के बीच टी20 सीरीज का आगाज 6 जुलाई से होना है। गौतम गंभीर इस सीरीज के बाद टीम से जुड़ सकते हैं, हालांकि बतौर हेड कोच उनके नाम की घोषणा होनी भी बाकी है। जिम्बाब्वे दौरे पर टीम इंडिया में बदलाव भी किया जा सकता है।

SHARE THIS
Continue Reading

खेल

खत्म हुआ इंतजार! BCCI ने किया नए शेड्यूल का ऐलान, भारत का दौरा करेंगी ये 3 टीम

Published

on

SHARE THIS

भारतीय टीम के आगे के शेड्यूल का ऐलान कर दिया गया है। बांग्लादेश, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड की टीमें भारत के दौरे पर आने वाली हैं। इसका शेड्यूल अब से कुछ ही देर पहले बीसीसीआई की ओर से इसके शेड्यूल का ऐलान कर दिया गया है। भारतीय टीम साल 2025 की फरवरी तक का शेड्यूल सामने आ गया है।

सितंबर में बांग्लादेश की टीम करेगी भारत का दौरा 

इसी साल सितंबर से लेकर अक्टूबर तक बांग्लादेश की टीम भारत के दौरे पर आ रही है। इस सीरीज में दो टेस्ट और तीन टी20 मुकाबले खेले जाएंगे। भारत और बांग्लादेश के बीच पहला टेस्ट मैच 19 सितंबर से शुरू होगा। ये मुकाबला चेन्नई में खेला जाना है। इसके बाद एक अक्टूबर से दूसरा टेस्ट मुकाबला कानपुर में खेला जाएगा। तीन टी20 मैचों की बात की जाए तो भारतीय टीम 6, 9 और 12 अक्टूबर को बांग्लादेश के खिलाफ तीन टी20 मैच खेलती हुई नजर आएगी। इन मैचों की मेजबानी धर्मशाला, दिल्ली और हैदराबाद को दी गई है।

अक्टूबर से लेकर नवंबर तक न्यूजीलैंड की टीम करेगी भारत का दौरा 

अक्टूबर से लेकर नवंबर तक न्यूजीलैंड की टीम भारत का दौरा करने वाली है। इस सीरीज में तीन टेस्ट मैच खेले जाएंगे। सीरीज का पहला मुकाबला 16 अक्टूबर से बेंगलुरु में होना है। दूसरा टेस्ट पुणे में 24 अक्टूबर से खेला जाएगा, वहीं तीसरा और आखिरी मैच मुंबई में एक नवंबर से होगा। इसके साथ ही ये सीरीज खत्म हो जाएगी।

इंग्लैंड की टीम भी करेगी भारत का दौरा 

अगले साल यानी जनवरी 2025 में इंग्लैंड की टीम भारत के दौरे पर आएगी। इस सीरीज में 5 टी20 इंटरनेशनल मैच और तीन वनडे खेले जाएंगे। 22 जनवरी से पहला टी20 मैच चेन्नई में खेला जाएगा। सीरीज का दूसरा मैच 25 जनवरी को कोलकाता और तीसरा मैच 28 जनवरी को राजकोट में खेला जाएगा। सीरीज का चौथा मैच 31 जनवरी को पुणे में खेला जाना तय हुआ है। आखिरी और पांचवां टेस्ट मैच दो फरवरी को मुंबई में होगा। सीरीज का पहला वनडे नागपुर में 6 फरवरी, दूसरा मैच 9 फरवरी को कटक और आखिरी मुकाबला 12 फरवरी को अहमदाबाद में खेला जाएगा। इसी के साथ सीरीज समाप्त हो जाएगी।

बांग्लादेश का भारत दौरा

टेस्ट सीरीज

पहला टेस्ट- 19-23 सितंबर 2024, चेन्नई
दूसरा टेस्ट- 27 सितंबर से 1 अक्टूबर 2024, कानपुर

T20 सीरीज
पहला टी20- 6 अक्टूबर 2024, धर्मशाला
दूसरा टी20- 9 अक्टूबर 2024, दिल्ली
तीसरा टी20- 12 अक्टूबर 2024, हैदराबाद

न्यूजीलैंड का भारत दौरा

टेस्ट सीरीज
पहला टेस्ट- 16-20 अक्टूबर 2024, बेंगलुरू
दूसरा टेस्ट- 24-28 अक्टूबर 2024, पुणे
तीसरा टेस्ट- 1-5 नवंबर 2024, मुंबई

इंग्लैंड का भारत दौरा

T20 सीरीज
पहला टी20 – 22 जनवरी 2025, चेन्नई
दूसरा टी20 – 25 जनवरी 2025, कोलकाता
तीसरा टी20 – 28 जनवरी 2025, राजकोट
चौथा टी20 – 31 जनवरी 2025, पुणे
पांचवां टी20- 2 फरवरी 2025, मुंबई

वनडे सीरीज

पहला वनडे – 6 फरवरी 2025, नागपुर
दूसरा वनडे – 9 फरवरी 2025, कटक
तीसरा वनडे – 12 फरवरी 2025, अहमदाबाद

SHARE THIS
Continue Reading

खेल

क्रिकेट जगत में पसरा मातम, इस भारतीय दिग्गज ने की खुदखुशी

Published

on

SHARE THIS

भारतीय क्रिकेट टीम इस समय वेस्टइंडीज में टी20 वर्ल्ड कप 2024 में खिताब जीतने के लिए खेल रही है। लेकिन इन सब के बीच भारतीय क्रिकेट से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है। टीम इंडिया के एक पूर्व खिलाड़ी ने चौथे फ्लोर से छलांग लगाकर सुसाइड कर लिया है। इस पूर्व भारतीय खिलाड़ी ने 52 साल की उम्र में आखिरी सांस ली। बता दें, इस खिलाड़ी ने भारतीय टीम के लिए टेस्ट फॉर्मेट और घरेलू क्रिकेट कर्नाटक के लिए खेला था।

इस भारतीय दिग्गज का हुआ निधन 

भारत और कर्नाटक के पूर्व तेज गेंदबाज डेविड जॉनसन का बेंगलुरु में निधन हो गया। जॉनसन की मौत बेंगलुरु में चौथी मंजिल पर मौजूद उनके अपार्टमेंट की बालकनी से गिरने के बाद हुई है। बता दें, जॉनसन स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे थे और उन्हें तीन दिन पहले ही स्थानीय अस्पताल से छुट्टी मिली थी। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो वह डिप्रेशन का शिकार थे।

डेविड जॉनसन का क्रिकेट करियर 

भारत के लिए डेविड जॉनसन ने दो टेस्ट मैच खेले थे। 1996 में उन्होंने भारत के लिए डेब्यू किया था। इसके बाद उनको मौका नहीं मिला। इस दौरान उन्होंने कुल 3 विकेट अपने नाम किए। भारत के लिए दो टेस्ट मैच खेलने के अलावा डेविड जॉनसन ने कर्नाटक के लिए लंबे समय तक रणजी क्रिकेट खेली है। कर्नाटक के लिए उन्होंने 39 फर्स्ट क्लास मैच और 33 लिस्ट ए मैच खेले थे। 1992 में उन्होंने घरेलू क्रिकेट में डेब्यू किया था और 2002 तक वे एक्टिव रहे।

भारतीय दिग्गजों ने जताया दुख 

डेविड जॉनसन के निधन की खबर आते ही सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि संदेशों की बाढ़ सी आ गई। पूर्व भारतीय क्रिकेटर अनिल कुंबले ने एक्स पोस्ट करते हुए लिखा कि मेरे क्रिकेट साथी डेविड जॉनसन के निधन की खबर सुनकर दुख हुआ। उनके परिवार के प्रति हार्दिक संवेदना। बहुत जल्दी चले गए बेनी! दूसरी ओर पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने लिखा कि डेविड जॉनसन के निधन से दुखी हूं। भगवान उनके परिवार और प्रियजनों को शक्ति प्रदान करें।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending