Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

*सभापति प्रमोद दुबे ने निगम व्हाईट हाउस पहुंचकर श्री गणेश उपासना करके पदभार संभाला*

Published

on

SHARE THIS

रायपुर- आज मकर संक्रांति के पावन पर्व अवसर पर नगर पालिक निगम रायपुर के नवनिर्वाचित सभापति श्री प्रमोद दुबे ने नगर निगम मुख्यालय व्हाईट हाउस के प्रथम तल पर स्थित सभापति कक्ष में पहुंचकर निगम अध्यक्ष के पद का पदभार प्रथम पूज्यदेव श्री गणेश की अपनी धर्मपत्नी श्रीमती दिप्ती दुबे एवं परिवारजनों सहित उपासना करने के उपरांत ग्रहण कर लिया।

सभापति प्रमोद दुबे को निगम व्हाईट हाउस पहुंचकर रायपुर नगर निगम के महापौर एजाज ढेबर ने बुके देकर हार्दिक शुभकामनाएं दी । मुख्य रूप से सभापति श्री दुबे को पदभार ग्रहण करने पर सभापति कक्ष पहुंचकर धरसींवा विधायक श्रीमती अनिता योगेन्द्र शर्मा, पूर्व विधायक रमेश वल्र्यानी, पार्षद सर्वश्री सूर्यकांत राठौड़, अजीत कुकरेजा, अमित दास, ज्ञानेष शर्मा, सुन्दर जोगी, अमर बंसल, जितेन्द्र अग्रवाल, श्रीमती शीतल बोगा, पूर्व पार्षद श्री जगदीश कलश, जगदीशआहूजा, जादूमणी जीतू भारती, निगम अपर आयुक्त लोकेश्वर साहू, उपायुक्त पीआर धु्रव, निगम सचिव नेतराम चंद्राकर, उपायुक्त श्रीमती कृष्णा खटिक, जोन कमिष्नर सर्वश्री विनय मिश्रा, चंदन शर्मा, अरूण धु्रव, अरूण साहू सहित बडी संख्या में आमजनों, निगम अधिकारियों कर्मचारियों ने बुके देकर फूल माला पहनाकर स्वागत किया।
इस अवसर पर सभापति प्रमोद दुबे ने निगम व्हाईट हाउस में पदभार ग्रहण करने पर सभी को धन्यवाद दिया एवं कहा कि वे सभापति के रूप में नगर निगम के महापौर एवं निगम नेता प्रतिपक्ष से निगम सदन को शांति पूर्ण चलाने के लिये अपने-अपने दल के सदस्य पार्षदों को सकारात्मक भाव से सुझाव देने हेतु प्रेरित करने के लिये आग्रह करेंगे। महापौर एवं विपक्ष के सदस्य पार्षद सदैव ऐसी योजना को प्राथमिकता में रखेंगे जिससे वार्डो में निवास करने वाले नागरिकों को स्वच्छ पेयजल मिले, गड्ढे युक्त सड़क हो नगर को साफ सुथरा प्रदूषण मुक्त रखने, प्रदूषित जल निकासी हेतु गुणवत्ता पूर्ण पक्की नालियों का निर्माण, उन्नत प्रकाश व्यवस्था, तालाबों को स्वच्छ रखना, कचरा को गाड़ी में डालना तथा रैन वाटर हार्वेस्टिंग का कडाई से पालन हो।
सभापति श्री दुबे ने कहा कि चूंकि रायपुर नगर निगम का सदन उच्च कोटि की चर्चा एवं सुझावों के लिये जाना जाता है। इसलिए उनकी सभी पार्षदों से अपेक्षा रहेगी कि वे सदन के भीतर गरिमापूर्ण तरीके से वार्ड विकास की योजनाएं तैयार कर महापौर तथा निगम अमले द्वारा उनका पारदर्शिता यथोचित क्रियान्वयन निर्धारित सीमा में करवाने का प्रयास करें। सभापति श्री दुबे ने कहा कि विगत 5 वर्षो के दौरान महापौर के तौर पर नगर निगम रायपुर में उनके कार्यकाल में नया बस स्टैण्ड 50 करोड़ वाली योजना, जवाहर बाजार , शास्त्री बाजार का नये स्वरूप की योजना का भूमिपूजन सहित अनेक सामुदायिक भवनों एवं बाजारों सहित महाराजबंध तालाब से पुरानी बस्ती महामाया मंदिर तक जाने वाला मार्ग पूर्णता की ओर अग्रसर है। इसे शीघ्र जनता को समर्पित करने की दिषा में महापौर एजाज ढेबर तेजी से कार्य करेंगे । ऐसी उनसे अपेक्षा है।
सभापति श्री दुबे ने कहा कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेष बघेल, रायपुर के प्रभारी मंत्री रविन्द्र चौबे एवं नगरीय प्रषासन मंत्री डाॅ. शिव कुमार डहरिया ने राजधानी नगर निगम के 70 वार्डो में वार्ड कार्यालय खोलकर मोहल्ला क्लीनिक की शुरूआत करने पर्याप्त धनराशि व सुविधा उपलब्ध करवायी है। साथ ही आमजनों की समस्या वार्ड स्तर पर सुलझे ऐसा सभी पार्षदों का प्रथम लक्ष्य होना चाहिए। ऐसी मंसा मुख्यमंत्री श्री बघेल की है। सभापति ने कहा कि निगम के सभी पार्षद जनभावनाओं का सम्मान कर पूर्ण समर्पण सहित जनअपेक्षाएं पूर्ण करने कोई कसर बाकी नहीं रखेंगे। उन्होने कहा कि वे कोशिश करेंगे कि सदन के भीतर प्रश्नों के सभी उत्तर तथ्यात्मक रूप से सभी पार्षदों को प्राप्त हो साथ ही वे संसदीय परंपरा का निर्वहन अनुशासन सहित करेंगे। पक्ष विपक्ष सभी का लक्ष्य रायपुर शहर का व्यवस्थित एवं उच्च कोटि तथा गुणवत्ता पूर्ण विकास का हो । इस दिशा में स्वस्थ चर्चा हो ऐसा इनका प्रयास होगा।
सभापति श्री दुबे ने कहा कि उन्होने पूर्व में रायपुर शहर के व्यवस्थित विकास हेतु नागरिकों से रायशुमारी कर वार्डो के साथ रायपुर की चारों दिशाओं में व्यवस्थित विकास की दिशा में कई महत्वपूर्ण कार्य किये। जिसका परिणाम रहा कि देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, उपराष्ट्रपति के हाथों रायपुर शहर सम्मानित हुआ। अब आगे उनकी कोशिश होगी की निगम सदन के अंदर रायपुर शहर को प्रथम स्थान की ओर ले जाने एवं सर्वसुविधा युक्त शहर शीघ्रता से बने इसकी चर्चा होकर समाधान निकले।

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

स्वास्थ्य विभाग ने की संविदा पदों पर भर्ती हेतु कौशल परीक्षा के लिए पात्र सूची जारी

Published

on

SHARE THIS

महासमुंद 28 फरवरी 2024 : मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग महासमुंद द्वारा 15 वें वित्त आयोग एवं हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर अंतर्गत 06 प्रकार के 18 संविदा पदों पर भर्ती हेतु कौशल परीक्षा के लिए पात्र अभ्यर्थियों की सूची जारी कर दी गई थी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि  कौशल परीक्षा हेतु तिथि, समय एवं स्थान की जानकारी का विवरण महासमुन्द जिले की वेबसाइट मेंhttps://mahasamund.gov.in/एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के सूचना पटल पर देखी जा सकती है।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

स्वामी आत्मान्द स्कुल एक बार फिर सुर्खियों मे

Published

on

SHARE THIS

 

अम्बागढ़ चौकी : अल्पसंख्यक मोर्चा अंबागढ़ चौकी के जिला अध्यक्ष रियाजुद्दीन (राजू) कुरैशी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी बताया कि आज अल्पसंख्यक मोर्चा द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी अंबागढ़ चौकी को ज्ञापन सौंपकर स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल अंबागढ़ चौकी में 01 मार्च से होने वाले बोर्ड परीक्षाओं में पारदर्शिता रखने एवं कक्षा पहली से आठवीं तक की वार्षिक परीक्षा मार्च माह में संपन्न कराने का आग्रह किया है। जिला अध्यक्ष राजू कुरैशी ने बताया कि 01मार्च से होने वाले बोर्ड परीक्षाओं को लेकर पालकों एवं बच्चों में संशय की स्थिति उत्पन्न हो गई है पालकों एवं बच्चों से जानकारी मिली है कि ईस वर्ष अंबागढ़ चौकी आत्मानंद स्कूल में बोर्ड की परीक्षाएं हायर विंग में न होकर प्रायमरी और मिडिल स्कूल में आयोजित की जा रही है जोकि बहुत सी शंकाओं को जन्म देता है प्रायमरी और मिडिल के बच्चों को अभी से हायर विंग में बैठाया जा रहा है जबकि हायर विंग में बोर्ड परीक्षाओं से संबंधित सभी सुविधाएं उपलब्ध है उसके बाद भी प्रायमरी और मिडिल स्कूल में बोर्ड परीक्षाओं को आयोजित करना शंकाओं को जन्म देता है ।

कुछ बिंदुओं पर ध्यान देना आवश्यक है जोकि निम्न लिखित है –
01, हायर विंग की सभी कक्षाओं में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं जिससे बोर्ड की परीक्षाएं हायर विंग में कराया जाना ही उचित होगा क्योंकि इससे स्कूल और शिक्षा विभाग किसी भी प्रकार की विवाद की स्थिति में सीसीटीवी कैमरे का उपयोग कर सकतीं हैं।
02, बोर्ड परीक्षाओं में स्थानीय स्कूल शिक्षकों की ड्यूटी न लगाकर दूसरे स्कूलों के शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जावे जिससे परीक्षाओं में पारदर्शिता बनी रहें
03, बोर्ड परीक्षाओं में हायर सेकंडरी के शिक्षकों की परीक्षा ड्यूटी लगाई जानी चाहिए न कि प्रायमरी और मिडिल स्कूल की। और जब अंबागढ़ चौकी आत्मानंद स्कूल परीक्षा केंद्र है तो सिर्फ अंबागढ़ चौकी आत्मानंद स्कूल के शिक्षकों की ही ड्यूटी क्यों लगाई जाती है जब हमारे पास वैसलियन स्कूल, संस्कार स्कूल के हायर सेकंडरी के शिक्षक भी उपलब्ध है मगर उसके बाद भी सिर्फ अंबागढ़ चौकी के शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाती है भले वो चाहे प्रायमरी और मिडिल स्कूल के क्यों न हों?
04, प्रायमरी और मिडिल स्कूल की किसी भी कक्षाओं में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं जोकि बोर्ड परीक्षाओं के लिए उचित नहीं है।
05, प्रायमरी और मिडिल स्कूल की परीक्षाएं सभी स्कूलों और अन्य जिलों में भी मार्च से शुरू हो रहे हैं मगर अंबागढ़ चौकी में अप्रैल में प्रायमरी और मिडिल स्कूल की परीक्षाएं भीषण गर्मी में अप्रैल में कराने की बात कही जा रही है
06, जबकि आपने स्वयं जिला शिक्षा अधिकारी ने सभी प्रचार्य की बैठक लेकर प्रायमरी और मिडिल के बच्चों की परीक्षाएं मार्च में लेने को कहा था किंतु उसके बाद भी स्थानीय प्राचार्य द्वारा आपके आदेश अवहेलना करते हुए छोटे बच्चों की परीक्षाएं भीषण गर्मी में अप्रैल को कराने को कहा जा रहा है। जो कहीं से सही नहीं है क्योंकि छोटे बच्चों को गर्मी में स्कूल बुलाया जाना कहीं से भी सही प्रतीत नहीं होता है।

जिला अध्यक्ष राजू कुरैशी ने कहा कि जिला शिक्षा अधिकारी से आग्रह है किया गया है कि इन सभी बिंदुओं पर विशेष ध्यान देते हुए अंबागढ़ चौकी के प्राचार्य को आदेशित किया जावे कि बोर्ड परीक्षाओं को वहां लिया जावे जहां सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हो और ईस बात का विशेष ध्यान रखा जावे कि वो सीसीटीवी कैमरे चालू अवस्था में हो, क्योंकि एक तरफ सरकार शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर रोज नये बदलाव कर रही है और दूसरी तरफ अंबागढ़ चौकी में परीक्षाओं को उन कक्षाओं में आयोजित किया जा रहा है जहां सीसीटीवी कैमरे नहीं है? साथ ही ईस बात का भी ध्यान रखा जावे ईसी स्कूल के शिक्षकों की ड्यूटी बोर्ड परीक्षाओं में न लगाईं जावे दूसरे स्कूलों के शिक्षकों को बोर्ड परीक्षाओं में ड्यूटी के लिए बुलाया जावे, साथ जिला शिक्षा अधिकारी के आदेश पालन करते हुए छोटे बच्चों को गर्मी में स्कूल न बुलाकर प्रायमरी और मिडिल स्कूल की परीक्षाएं मार्च में लिया जावे, क्योंकि जब स्कूल प्रबंधन 9वीं और 11वीं की परीक्षाएं मार्च में ले सकता है तो सिर्फ प्रायमरी और मिडिल के बच्चों के साथ दोहरा मापदंड क्यों? अतः आपसे पुनः निवेदन है कि समय-सीमा को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार द्वारा शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर लगातार किये जा रहें प्रयास को सफल बनाने में अपना योगदान देवे और अंबागढ़ चौकी के प्राचार्य को तत्काल आदेशित कर उचित कार्यवाही करें। जिला अध्यक्ष राजू कुरैशी ने बताया कि ईस ज्ञापन की प्रतिलिपी बृजमोहन अग्रवाल स्कूल शिक्षा मंत्री छत्तीसगढ़ शासन,विजय शर्मा प्रभारी मंत्री अंबागढ़ चौकी जिला ,जिलाधीश जिला अंबागढ़ चौकी, ब्लाक शिक्षा अधिकारी चौकी ब्लाक को भी दिया गया है जिसमें बोर्ड परीक्षाओं की गंभीरता को देखते हुए त्वरित कार्रवाई हो सकें।

राजू कुरैशी जिला अध्यक्ष अल्पसंख्यक मोर्चा अंबागढ़ चौकी जिला

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना : निर्धन परिवारों की बेटियों के विवाह का सपना हो रहा पूरा

Published

on

SHARE THIS

रायपुर, 28 फरवरी 2024 : मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना से निर्धन परिवारों की बेटियों के विवाह का सपना पूरा हो रहा है। योजना के तहत बालोद जिले में मंगलवार को 185 जोड़े दाम्पत्य सूत्र में बँधे। महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा टाऊन हाॅल में 16 जोडें, वार्ड क्रमांक 13 गुण्डरदेही में 55 जोड़े और डौण्डी विकासखण्ड के ग्राम कुसुमकसा में 74 जोड़े तथा ग्राम सुरसुली के नर्मदा धाम में 42 जोड़ों का विवाह संपन्न कराया गया। इस अवसर पर राज्य सरकार द्वारा वर-वधुओं को जीवनोपयोगी विभिन्न सामग्रियों सहित सुखमय जीवन की मंगलकामना के साथ 21 हजार रूपए का चेक प्रदान किया गया। इस अवसर पर जनप्रतिनिधि, वर-वधु के परिवारजन सहित शासकीय अधिकारी-कर्मचारी भी मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की कन्याओं के विवाह के लिए विशेष प्रयास है। इससे विवाह के दिनों-दिन बढ़ते खर्च से अभिभावकों को राहत मिल रही है। राज्य सरकार द्वारा वर्ष 2024-25 के बजट में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के लिए 38 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा इस साल 7600 कन्याओं के विवाह का लक्ष्य है। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत प्रति जोड़ा सहायता राशि 50 हजार रूपए दी जाती है। योजना के तहत 21 हजार रूपये तक की आर्थिक सहायता सामग्री के रूप में, 21 हजार रूपये का बैंक ड्राफ्ट तथा सामूहिक विवाह आयोजन व्यवस्था पर अधिकतम 8 हजार रूपये तक व्यय किया जाता है।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending