Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

अमृतकाल में बूंद-बूंद पानी पर आफत, गंदा पानी पीने को मजबूर दुडमी के ग्रामीण

Published

on

SHARE THIS

स्वच्छ जल के लिए दर दर भटकने को मजबूर ग्रामीण

नारायणपुर, 19 जून 2023  :   जहां पूरा देश आजादी का अमृतकाल मना रहा है वहीं नारायणपुर जिले का एक गांव अमृतकाल में साफ पानी की बूंद बूंद को तरस रहा है।

बता दें कि जिले के पल्ली ग्राम पंचायत का आश्रित गांव दुडमी जहां निवास करने वाले ग्रामीण आज भी झरिया कुएं का पानी पीने को मजबूर है क्योंकि आजादी के 7 दशक बाद भी इस गांव के लोगों के लिए पीने के पानी की सुविधा नहीं की गईं है आज भी बूंद बूंद पानी के लिए लोग जद्दोजहद कर रहे हैं. सियासतदान बड़े-बड़े आयोजन कर अपनी उपलब्धियां गिनाते हैं, लेकिन धरातल पर उनकी जनता पानी और सड़क जैसी बुनियादी सुविधाओं के लिए त्राहिमाम कर रही है.

विकास के दावों की असली सच्चाई…

नारायणपुर जिले के पल्ली पंचायत के दुडमी गांव के लोग आज भी नदी और झरिया कुएं गड्ढों के भरोसे जीवन बिता रहे हैं. इन गड्ढों और तालाबों का गंदा पानी पीने को मजबूर हो रहे हैं. इन ग्रामीणों को तो पल पल ये चिंता सताती है कि अगली सुबह दो बूंद पानी नसीब होगी भी या नहीं. पानी की मारा-मारी खत्म हो तब ना दूसरी बुनियादी सुविधाओं के लिए मांग करें।

केन्द्र सरकार की योजनाओं को अधिकारी लगा रहे हैं पलीता…

ग्राम पंचायत पल्ली के आश्रित गांव दुडमा में बीते डेढ़ साल से जलजीवन मिशन का कार्य चल रहा है जिसके तहत हर घर तक जल पहुंचाने इस योजना का निर्माण हुआ था लेकिन जिले के अधिकारी केन्द्र की योजनाओं को पलीता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।
दुडमा गांव में बीते डेढ़ साल से पाइप लाइन बिछाने का कार्य पूर्ण हो गया है लेकिन विभागीय अधिकारियों और ठेकेदार की मिलीभगत के चलते पाईप लाईन में जल की सप्लाई शुरू नही हो पा रही है।
आधिकारी अपने वातानुकूलित कमरों से बाहर निकलेंगे तब धरातल की सच्चाई की सामने आयेगी।

गांव के जानवर जहा पीते हैं पानी ग्रामीण भी बुझा रहे हैं अपनी प्यास…

दुडमा के ग्रामीण बताते हैं कि जिस झरिया कुएं में ग्रामीण पीने का पानी निकालते हैं वहीं इस कुंआ से गांव के पालतू जानवर भी अपनी प्यास बुझाते है। आज पीने के पानी का और कोई विकल्प नहीं है तो जानवर भी अपनी प्यास बुझाने इसी स्रोत के भरोसे जिंदा है।

बीमारी से ग्रस्त गांवों के ग्रामीण…

पल्ली ग्राम पंचायत के सरपंच ने बताया कि झरिया कुंआ का पानी पीने से यहां के ग्रामीणों को कई प्रकार की बीमारियों से भी जूझना पड़ता है आए दिन यहां के ग्रामीण एवं छोटे छोटे बच्चो को पेट में दर्द, उल्टी दस्त,जैसी बीमारियों से दो चार होना पड़ता है।

स्वच्छ जल मांगने दर दर भटक रहे हैं दुडमा के ग्रामीण…

दुडमा के ग्रामीण आज हाथो में झरिया कुंआ का पानी बोतल में भरकर कलेक्टर कार्यालय पहुंचे जहा जनदर्शन कार्यक्रम में कलेक्टर से मिलकर गांव में हेडपंप स्वीकृति की मांग सम्बधि आवेदन दिया जिस पर कलेक्टर ने ग्रामीणों को जनपद सीईओ के पास जाने को कह दिया। भारी धूप में ग्रामीण जनपद पंचायत कार्यालय पहुंचे तो सीईओ अपने कार्यालय में उपलब्ध नही थे।

हैंडपंप की समस्या जनपद सीईओ का है मामला – कलेक्टर

जब इस मामले की जानकारी मीडिया को लगी तो मीडिया के लोग कलेक्टर से मिलकर जनदर्शन में दुडमी गांव के ग्रामीणों के मामले की जानकारी चाही तो कलेक्टर ने कहा कि हैंडपंप की समस्या की जानकारी कलेक्टर नही देते जनपद जिला पंचायत के सीईओ ये सब मामले को देखते है। जल जीवन मिशन का कार्य प्रगति पर है जल्द ही पानी की सुविधा मिलेगी ग्रामीणों को।

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

रमन सिंह का बड़ा बयान,विधायकों की सहमति से चुने जाएंगे सीएम

Published

on

SHARE THIS

रायपुर  : पर्यवेक्षकों की नियुक्ति को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा, विधायक दल की बैठक के लिए तीन पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं. यह तीनों पर्यवेक्षक विधायकों से सुझाव लेंगे. केंद्र की सहमति से विधायक दल का नेता चुनेंगे.

सीएम फेस को लेकर रमन सिंह ने कहा, अभी किसी का नाम फाइनल नहीं हुआ है. जब तक राय मशवरा नहीं होंगे तब तक कहना मुश्किल है. अभी सभी नाम चर्चा में है. लोकसभा चुनाव को लेकर सरकार गठन किए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा, छत्तीसगढ़ में पिछले बार से बेहतर रिजल्ट आएंगे. 11 की 11 सीटें जीते इस बड़े लक्ष्य को लेकर सरकार का गठन किया जा रहा है.

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

सीएम फेस का ऐलान जल्द,सरोज पांडेय पर्यवेक्षक बनाई गई

Published

on

SHARE THIS

रायपुर :  छग से सांसद सरोज पांडेय पर्यवेक्षक बनाई गई है. अब राजस्थान में जल्द ही सीएम फेस का ऐलान हो जाएगा। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी छत्तीसगढ़, राजस्थान, मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री के नाम को लेकर बैठक कर रही है। ये सभी पर्यवेक्षक विधायकों से चर्चा करेंगे, इसके बाद तीनों राज्यों में शपथ ग्रहण का कार्यक्रम होना है। इस कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह समेत संगठन के तमाम बड़े नेता पहुंचेंगे।

  • राजस्थान- राजनाथ सिंह, सरोज पांडेय
  • मध्य प्रदेश- मनोहर लाल खट्टर के लक्ष्मण
  • छत्तीसगढ़- सर्वानंद सोनीवाल अर्जुन मुंडा

Image

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ी में शपथ ग्रहण हेतू राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन एम. ए. छत्तीसगढ़ी छात्र संगठन

Published

on

SHARE THIS

 

रिपोर्ट गोविंद तिवारी राजिम : छत्तीसगढ़ प्रदेश की जनता की संपर्क भाषा छत्तीसगढ़ी है,यह छत्तीसगढ़ी भाषा छत्तीसगढ़ के ढाई करोड़ जनता की भाषा है और इसी भाषा के आधार पर छत्तीसगढ़ी राजभाषा का संवैधानिक दर्जा वर्ष 2007 में प्राप्त हो चुका है| एम.ए.छत्तीसगढ़ी छात्र संगठन मीडिया प्रभारी खेमराज साहू ने बताया की जब 2007 में भाजपा के सरकार थे तब यह छत्तीसगढ़ी भाषा को राजभाषा का संवैधानिक दर्जा मिला था और वर्तमान में भी भाजपा वाले अधिकतम निर्वाचित होकर आए है जिनका शपथ ग्रहण होना है तो छत्तीसगढ़ के सभी विधायकों से निवेदन है कि वे छत्तीसगढ़ी भाषा में अपने मंत्री पद का शपथ ग्रहण करे इससे छत्तीसगढ़ी भाषा और संस्कृति का विस्तार व सम्मान मिलेगा|

छत्तीसगढ़ी राजभाषा दर्जा मिले 15 वर्ष पूर्ण हो चुके है फिर भी इसे न ही भाषाई दर्जा मिला है और न ही शिक्षा के माध्यम में पाठ्यक्रम शुरू हुआ है, एम.ए. छत्तीसगढ़ी छात्र संगठन द्वारा विभिन्न आयोजनों में छत्तीसगढ़ी भाषा का जनजागरण किया जा रहा है साथ ही छत्तीसगढ़ी भाषा में शपथ ग्रहण के लिए राज्यपाल महोदय को ज्ञापन सौंपा गया है|

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

Trending