Connect with us

हेल्दी लाइफ

*चौथी स्टेज का कैंसर भी हो सकता है गाजर के जूस से ठीक, जानिए कैसे करता है मदद*

Published

on

SHARE THIS

कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचने के लिए इसका इलाज पहले चरण में ही कराना बेहतर होता है। लेकिन कैंसर के ज्यादातर मामलों में इसका खुलासा तब होता है, जब यह अपनी प्रारंभिक अवस्था से आगे बढ़ चुका होता है।

ऐसे में कीमोथैरेपी के अलावा कैंसर को और कोई इलाज नहीं होता और यह अत्यधि‍क तकलीफदेह होता है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी, कि चौथी स्टेज पर आने के बाद भी कैंसर का इलाज संभव है, सिर्फ गाजर के सेवन से –

* ब्रिटेन की न्यू कैसल यूनिवर्सिटी में किए गए एक शोध के अनुसार, गाजर में पॉलीएसिटिलीन पाया जाता है, जो कैंसर कोशिकाओं को समाप्त कर ट्यूमर का विकास रोकने में सहायता करता है।

* इसके अलावा गाजर में कई तरह के विटामिन और मिनरल्स के अलावा बीटा कैरोटीन, अल्फा कैरोटीन, कैल्शियम एवं अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो आंतरिक अंगों को स्वस्थ रखने में सहायक होते हैं।

* शोध के मुताबिक गाजर में मौजूद फैलकारिनॉल, फैलकैरिन्डि‍यॉल और एंटी कैंसर तत्व लंग कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर व कोलोन कैंसर के खतरे को कम करते हैं।

* इसमें पाया जाने वाला केरेटिनॉइड एसिड महिलाओं में होने वाले स्तन कैंसर की कारक कोशि‍काओं के शुरुआती बदलाव को रोकने में कारगर होता है।

* गाजर के सेवन से कैंसर की चौथी स्टेज पर जीत हासिल करने का भी एक उदाहरण पिछले वर्ष सामने आया है। जिसमें कहा गया था कि कैमरून नामक एक महिला ने गाजर के जूस का सेवन कर कैंसर को चौथे चरण में आने के बावजूद मात देने में कामयाबी हासि‍ल की है।

कैमरून के अनुसार, उन्हें सन 2013 में कोलोन कैंसर के बारे में पता चला, जो कि चौथे चरण पर पहुंच चुका था। कीमोथैरेपी के अलावा इसके लिए कोई और विकल्प भी नहीं था। कैमरून ने इंटरनेट पर रिसर्च कर, राल्प कोले नामक व्यक्ति का अनुभव पढ़ा, जिसे प्रतिदिन 2.25 किलो गाजर का जूस पीने से कैंसर में काफी लाभ हुआ था। इसके बाद कैमरून ने भी गाजर के जूस का सेवन शुरू किया।

SHARE THIS

सेहत

रोज़ कीवी खाने से शरीर को मिलेंगे कई फायदे, जानें कब और कैसे करना चाहिए सेवन?

Published

on

SHARE THIS

फलों का सेवन हमारे लिए कितना फायदेमंद है ये तो हम सब जानते हैं। न्यूट्रिएंट्स से भरपूर फल हमारे स्वास्थ्य को और भी बेहतर बनाते हैं। कुछ ऐसे फल भी होते हैं जो गुणों की खान होते हैं यानी उनमे कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। इन्हीं फलों में से एक है कीवी, स्वाद में खट्टा-मीठा लगने वाले इस फल की लोकप्रियता इन दिनों बेहद बढ़ी है।  इस फल की सबसे ख़ास बात यह है कि आप इसका सेवन छिलके के साथ और बिना छिले दोनों तरह से कर सकते हैं। इसका खट्टा मीठा स्वाद लोगों को बेहद पसंद आता है। लेकिन क्या आप जानते हैं इसके सेवन से आप कई बीमारियों से बचे रहते हैं। चलिए आज हम आपको कीवी के फायदों के बारे में बताते हैं साथ ही यह भी की इसका कब और कैसे सेवन करना चाहिए?

पोषक तत्वों से भरपूर है कीवी

कीवी में पोटेशियम, फाइबर, विटामिन सी, फोलिक एसिड, विटामिन ई और पॉलीफेनॉल्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। साथ ही कीवी में कैलोरी बहुत ही कम मात्रा होती है इसलिए वजन कम करने वालों के लिए यह फल अमृत समान है। चलिए आपको बताते हैं किन बीमारियों में यह फल असरदार है।

इन परेशानियों में फायदेमंद है कीवी

  • आंखों की रोशनी बढाए: क्या आप जानते हैं कीवी आंखों की रौशनी के लिए बेहद फ़ायदेमंद है। इसका सेवन करने से आपके आँखों की रौशनी तेज होती है और धुंधलेपन की समस्या दूर होती है।
  • इम्यूनिटी बनाए मजबूत: जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है वो लोग मौसमी बीमारियों की चावेत में तुरंत आते हैं। ऐसे में अपनी इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए आप कीवी का सेवन करें। इसमें मौजूद विटामिन-सी आपकी कमजोर इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करते हैं। इसलिए कीवी का सेवन आपके लिए असरदार हो सकता है।
  • दिल के लिए सेहतमंद:  कीवी का सेवन करने से आपके दिल की सेहत दुरुस्त होती है। इसमें मौजूद फाइबर और पोटेशियम बैड कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करते हैं और धमनियों को मजबूत बनाने का काम करते हैं।
  • कब्ज करे दूर: अगर आप कन्स्टीपेशन के मरीज हैं तो रोज़ाना 2 से 3 कीवी का सेवन करें। दरअसल,  कब्ज की समस्या को भी दूर करने में कीवी बेहद लाभकारी  इसमें  पेट को साफ करने वाले गुण भी पाए जाते हैं।

किस समय करें कीवी का सेवन?

कीवी का सेवन आप दोपहर या शाम की बजाय सुबह 10 से 12 के बीच करें। दरअसल, कीवी में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं जो आपकी सेहत की बेहतरीन देखभाल करते हैं। आप इसे खाली पेट भी खा सकते हैं। हालांकि, खाली पेट खट्टा फल खाने से आपको एसिडिटी की समस्या हो सकती है तो इसे खाली पेट खाने की बजाय कुछ नाश्ता कर खाएं।

SHARE THIS
Continue Reading

सेहत

प्रेग्नेंसी में महिलाओं के लिए कौन से विटामिन हैं जरूरी…

Published

on

SHARE THIS

Pregnancy Tips: प्रेग्नेंसी में महिलाओं को अपना और गर्भ में पल रहे शिशु का भी ध्यान देना होता है. इस समय के दौरान महिलाओं को अपने खान-पान और आराम का पूरा ख्याल रखना चाहिए. हेल्दी डाइट ही महिलाओं को अंदरूनी ताकत देने का काम करती है. एक्सपर्ट का कहना है कि प्रेग्नेंसी के शुरुआती चरण में महिलाओं कोप्रोटीन, फाइबर, फोलेट और फोलिक एसिड की जरूरत होती है लेकिन जैसे-जैसे प्रेग्नेंसी का समय आगे बढ़ता है, महिलाओं को अपनी डाइट में विटामिन औकर मिनरल्स को शामिल करना जरूरी हो जाता है. दिल्ली के श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टीट्यूट में ऑब्सटेट्रिक्स एंड गाइनेकोलॉजी विभाग की यूनिट हेड एंड सीनियर कंसल्टेंट डॉ. पूनम अग्रवाल कहती हैं कि प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए विटामिन और मिनरल्स का सेवन बहुत जरूरी है.

हो सकती हैं ये समस्याएं

अगर प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाएं जरुरी विटामिन्स का सेवन नहीं करती हैं तो डिलीवरी के समय या डिलीवरी के बाद उन्हें कई तरह की जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है. एक्सपर्ट कहती हैं कि हालांकि ज्यादातर महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान कौन से विटामिन का सेवन करना चाहिए, इसकी जानकारी नहीं होती है. आइए जानते हैं कि प्रेग्नेंसी में कौन-कौन से पोषक तत्वों को डाइट में शामिल करना चाहिए.

विटामिन क्यों है जरूरी

डॉ. पूनम अग्रवाल बताती हैं तिप्रेग्नेंट महिलाओं के लिए आवश्यक विटामिन्स में से फोलेट सबसे जरुरी है, इससे न्यूरल ट्यूब दोष जैसे जन्म दोषों का खतरा कम होता है. मां के शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर बनाए रखने और एनीमिया जैसे रोगों से बचाव के लिए गर्भवती महिला को आयरन का सेवन करना भी बहुत जरूरी है.

ये विटामिन-मिनरल्स हैं जरूरी

मां के साथ गर्भ में पल रहे बच्चे की हड्डियों के विकास और मांसपेशियों की मजबूती के लिए कैल्शियम भी जरूरी है, जिसे गर्भावस्था के दौरान जरूर लेना चाहिए. इसके अलावा थकान, दर्द, कमजोरी और चिड़चिड़ापन जैसी समस्याओं से बचाव के लिए विटामिन डी भी महिलाओं को डाइट में शामिल करना चाहिए.गर्भ में पलने वाले शिशु के शारीरिक अंगों के सही विकास के लिए विटामिन ए बहुत जरूरी है, जिसका सेवन भी गर्भावस्था के दौरान जरूरी है. इसके अलावा विटामिन सी और आयोडीन जैसे पोषक तत्वों का सेवन मां और उसके बच्चे की हेल्थ के लिए बहुत ही आवश्यक होता है. तो गर्भावस्था में महिलाएं ये विटामिन अपनी डाइट में जरूर शामिल करें.

SHARE THIS
Continue Reading

सेहत

भीषण गर्मी के चलते बीमार होने का बढ़ गया है खतरा, बचाव के लिए अपनाएं ये उपाय…

Published

on

SHARE THIS

अयोध्या: प्रभु राम की नगरी अयोध्या में चिलचिलाती धूप और गर्मी से हर कोई बेहाल है .गर्मी के साथ-साथ पारा भी लगातार बढ़ता जा रहा है. गर्मी और लू के कारण इस मौसम को सेहत के लिहाज से काफी चुनौतीपूर्ण भी माना जा रहा है. चिलचिलाती धूप और गर्मी को लेकर डॉक्टर ने अलर्ट भी जारी कर दिया है. गर्मी और लू को लेकर बरती गई लापरवाही कई तरह की बीमारी पैदा कर सकती है. ऐसी स्थिति में आज हम आपको डॉक्टर के हवाले से बताएंगे कि गर्मी से बचने के लिए क्या खास उपाय करें. साथ ही उन बीमारियों के लक्षण जिनके होने की आशंका ऐसी गर्मी में ज्यादा रहती है.दरअसल मंदिर और मूर्तियों के शहर अयोध्या में प्रतिदिन लाखों की संख्या में राम भक्त आ रहे हैं और चिलचिलाती धूप और गर्मी की वजह से हर कोई परेशान नजर आ रहा है. ऐसी स्थिति में कुछ सावधानियां बरतनी जरूरी हैं. ऐसा न करने पर आप बीमार हो सकते हैं. डॉक्टर से जानते हैं गर्मी खुद को कैसे स्वस्थ रखें. श्री राम अस्पताल के डॉक्टर इंद्रभान विश्वकर्मा के मुताबिक तेज धूप और गर्मी की वजह से कई तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है .जैसे हैजा, डायरिया, कालरा ,डिहाइड्रेशन, उल्टी ,दस्त ,बुखार ऐसी तमाम तरह की बीमारियां होने लगती है. ऐसी स्थिति में इससे बचाव के लिए कुछ उपाए अपनाने बहुत जरूरी हैं.

श्री राम अस्पताल में तैनात फिजिशियन डॉक्टर इंद्रभान विश्वकर्मा ने बताया कि इस समय गर्मी अपने चरम सीमा पर है .टेंपरेचर काफी बढ़ा हुआ है. सुबह से ही गर्मी तेज होने लगती है. ऐसी स्थिति में गर्मी से बचने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए. दही का सेवन करना चाहिए. इसके साथ ही खीरा, ककड़ी और तरबूज का भी सेवन करना चाहिए. धूप से बचकर रहें. मास्क लगाकर चलें. छाता लगाकर चलें. इतना ही नहीं इस मौसम में हीट स्ट्रोक का खतरा ज्यादा रहता है. हीट स्ट्रोक से बचने के लिए सावधानियां बरतनी चाहिए. गर्मी से संबंधित कोई समस्या होने पर तुरंत ही निकटतम अस्पताल से संपर्क करें. गर्मी में डायरिया, डिहाईड्रेशन, हीट स्ट्रोक, हैजा जैसी बीमारियों का खतरा ज्यादा रहता है.

 

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending