Connect with us

देश-विदेश

*नापाक’ शरजिल इमाम के बाद अब आरिफा फातिमा, दोस्तो! इतनी जहर की खेती -देखें विडियो*

Published

on

SHARE THIS

नई दिल्ली। शरजिल इमाम के बाद अब आरिफा फातिमा का भी एक वीडियो सामने आया है। बताया जा रहा है कि आरिफा भी इमाम की तरह जेएनयू (JNU) की छात्रा हैं। आरिफा का भी एक भड़काऊ वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने अपने ट्‍विटर हैंडल पर एक वीडियो शेयर किया है। पात्रा ने लिखा है- अब उस नापाक शरजिल इमाम के बाद जरा इस मोहतरमा को भी सुन लीजिए- ‘हमें किसी पे भरोसा नहीं है’। इस सुप्रीम कोर्ट पर भी विश्वास नहीं है।

अफ़ज़ल गुरु निर्दोष था। रामजन्मभूमि पर मस्जिद बनना था। दोस्तों इतने ज़हर की खेती (वो भी mass manufacturing) इन कुछ ही दिनो में तो नहीं हुआ होगा??

दरअसल, इस वीडियो में आरिफा (जैसा कि दावा किया जा रहा है जेएनयू की छात्रा हैं) कह रही हैं कि आज हम सीएए, एनआरसी के खिलाफ उतरे हैं, लेकिन हम सब सिर्फ इसके लिए नहीं उतरे हैं। हम न तो सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा कर सकते हैं, न ही सरकार पर।

आरिफा आगे कहती हैं कि सुप्रीम कोर्ट पहले कहता है कि बाबरी मस्जिद के नीचे मंदिर था, ताला खोलना गलत था। मस्जिद गिराना गलत था। अब वही सुप्रीम कोर्ट बोलता है कि वहां पर मंदिर बनेगा। दावा किया जा रहा है कि आरिफा जेएनयू में सोशल साइंस की छात्रा हैं।

SHARE THIS

देश-विदेश

बिहार में एनडीए को झटका, लालू की पार्टी में शामिल हुए सांसद महबूब अली कैसर

Published

on

SHARE THIS

राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद महबूब अली कैसर आरजेडी में शामिल हो गए हैं। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने उन्हें आरजेडी की सदस्यता दिलाई। राष्ट्रीय लोक दल के प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन ने पहले ही इसकी जानकारी दे दी थी। महबूब ने कुछ दिन पहले ही पशुपति पारस की राष्ट्रीय लोक जदनशक्ति पार्टी से इस्तीफा दिया था। इसके बाद वह चिराग पासवान से मिले थे और उनके चिराग पासवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) में शामिल होने के कयास लगाए जा रहे थे, लेकिन उन्होंने अब पाला बदलकर आरजेडी की सदस्या ग्रहण कर ली है।

चौधरी महबूब अली कैसर राष्ट्रीय लोकजनशक्ति पार्टी का हिस्सा थे। रामविलास पासवान की यह पार्टी उनके निधन के बाद 2021 में टूट गई। रामविलास के छोटे भाई पशुपति पासर ने राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी बनाई और पार्टी का दूसरी हिस्सा रामविलास के बेटे चिराग के पास गया, जिन्होंने लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) का गठन किया। 2021 में महबूल अली कैसर पशुपति पारस के गुट में थे और नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली एनडीए सरकार का समर्थन किया।

2024 में बदले हालात

2024 लोकसभा चुनाव से पहले टिकट का बंटवारा हुआ तो बीजेपी ने चिराग पासवान के गुट वाले दल को सभी सीटें दे दीं। पशुपति के गुट को कोई सीट नहीं मिली तो महबूब अली ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया और चिराग पासवान से बात कर खगड़िया से टिकट तलाशने लगे। चिराग ने इस सीट पर राजेश वर्मा को टिकट दे दिया तो अब महबूब ने आएलडी में शामिल होने का फैसला किया। महबूब के बेटे युसुफ सलाउद्दीन पहले से ही आरजेडी का हिस्सा हैं। हालांकि, कैसर को खगड़िया से टिकट मिलने की संभावना अभी भी नहीं है, क्योंकि आरजेडी ने यह सीट अपने सहयोगी दल सीपीएम को दी है और सीपीएम ने संजय कुमार को यहां से टिकट दिया है।

एनडीए की बढ़ेंगी मुश्किलें

खगड़िया के मौजूदा सांसद चुनाव नहीं लड़ रहे हैं और वह सीपीएम उम्मीदवार के समर्थन में प्रचार कर सकते हैं। इसके अलावा एनडीए गठबंधन के वोट छिटककर विपक्षी गठबंध के खाते में जा सकते हैं। इस स्थिति में राजेश वर्मा के लिए चुनाव जीतना मुश्किल हो सकता है। खगड़िया में सीपीएम और संजय कुमार का अपना वोट बैंक भी है।

 

SHARE THIS
Continue Reading

देश-विदेश

एक अद्वितीय घटना : एक महिला ने दिया 6 बच्चों को जन्म 

Published

on

SHARE THIS

रावलपिंडी :- पाकिस्तान के रावलपिंडी जिले में एक अद्वितीय घटना की चर्चा हो रही है, जहां एक महिला ने सेक्सटुपलेट्स को जन्म दिया है। जानकारी के अनुसार इस महिला को गुरुवार रात लेबर पेन के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां डॉक्टरों ने एक लंबी प्रक्रिया के बाद सेक्सटुपलेट्स का जन्म दिलाया। डॉक्टरों के अनुसार, नवजात शिशु और माता दोनों ही स्वस्थ हैं। जानकारी के अनुसार इस अद्वितीय घटना में 4 लड़के और 2 लड़कियां शामिल हैं। रिपोर्ट के अनुसार, सभी नवजात बच्चे और उनकी मां की स्थिति स्वस्थ है।

हालांकि, बच्चों को अच्छी देखभाल के लिए अभी भी ICU में रखा गया है। जानकारी के अनुसार वहीद, जो हजारा कॉलोनी में निवास करते हैं, उन्होंने अपनी पत्नी जीनत को गुरुवार को रावलपिंडी जिला अस्पताल में लेबर पेन के कारण भर्ती कराया था।
वहीं डॉक्टरों का कहना है कि सेक्सटुपलेट्स होने की दर बहुत कम होती है। महिला ने लंबे ऑपरेशन के बाद एक के बाद एक 6 बच्चों को जन्म दिया था, जिनमें से 4 लड़के और 2 लड़कियां थीं। हालांकि सभी बच्चों का वजन 2 पाउंड से कम था। एक लेबर रूम में कार्यरत डॉक्टर ने जानकारी दी कि यह डिलीवरी कोई साधारण या मामूली नहीं थी, जिसमें कई परेशानियां आई थीं।

जीनत को भी बच्चों को जन्म देने के बाद कुछ दिक्कतें आईं, लेकिन डॉक्टर ने इसे कुछ दिनों में स्वाभाविक रूप से ठीक होने का अनुमान लगाया है। इस अद्वितीय स्थिति के बाद, डॉक्टर और अस्पताल के स्टाफ काफी खुश हैं। डॉक्टर ने यह भी कहा कि इसमें उपरवाले की कृपा है कि मां और बच्चों की स्वस्थता को बनाए रखा है। दरअसल सेक्सटुपलेट्स का अर्थ है एक साथ जन्मे ग्रुप में छह संतानें। इसका जन्म होना एक अत्यधिक असामान्य घटना होती है जिसे अधिकांश महिलाओं में नहीं देखा जाता है।

 

 

SHARE THIS
Continue Reading

देश-विदेश

इंडियन रेलवे ने कर डाली बड़ी प्लानिंग, गर्मियों में पैसेंजर को नहीं होगी परेशानी

Published

on

SHARE THIS

20 अप्रैल 2024:- पिछले साल गो फर्स्ट के ग्राउंडिड होने और उसके बाद विस्तारा में पायलटों का इश्यू होने के कारण हवाई उड़ानों पर काफी असर देखने को मिला है. डिमांड ज्यादा होने के कारण गर्मियों में हवाई जहाज का किराया आसमान पर पहुंच गया है. जिसकी वजह से कई लोगों ने ट्रेनों की ओर रुख करना शुरू कर दिया है. इस परेशानी को भांपते हुए रेलवे ने ऐसी प्लानिंग की है, जिससे ट्रेनों पर भी ज्यादा लोड नहीं पड़ेगा और आम लोगों को भी परेशानी नहीं होगी. इसका मतलब है कि कंफर्म टिकट मिल पाएगी. आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर रेलवे की ओर से किस तरह की तैयारी की है.

43 फीसदी का इजाफा

इस साल गर्मियों में यात्रा की मांग में अनुमानित वृद्धि को देखते हुए रेल मंत्रालय अतिरिक्त ट्रेनों की संख्या में 43 फीसदी की बढ़ोतरी करने जा रहा है. इससे अधिक यात्रियों को अपने वांछित गंतव्यों तक सुविधाजनक ढंग से पहुंचाने में मदद मिलेगी. रेल मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि यात्रियों की सुविधा सुनिश्चित करने और गर्मियों के दौरान यात्रा की मांग में अनुमानित वृद्धि को ध्यान में रखते हुए रेलवे गर्मी के मौसम में ट्रेनों के रिकॉर्ड 9,111 फेरों का संचालन करने जा रहा है. मंत्रालय ने कहा कि यह 2023 की गर्मियों की तुलना में पर्याप्त वृद्धि को दर्शाती है जब कुल 6,369 अतिरिक्त ट्रेनों की पेशकश की गई थी.

फेरों में होगा इजाफा

इस तरह ट्रेनों के फेरों की संख्या में 2742 की बढ़ोतरी हुई है जो यात्रियों की मांगों को प्रभावी ढंग से पूरा करने के लिए भारतीय रेलवे की प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करती है. रेल मंत्रालय ने कहा कि प्रमुख रेल मार्गों पर निर्बाध यात्रा सुनिश्चित करने के लिए देश भर के प्रमुख गंतव्यों को जोड़ने के लिए अतिरिक्त ट्रेनों की सावधानीपूर्वक योजना बनाई गई है. इन 9,111 अतिरिक्त ट्रेनों में से पश्चिम रेलवे सबसे अधिक 1,878 ट्रेनों का संचालन करेगा. इसके बाद उत्तर पश्चिम रेलवे 1,623 अतिरिक्त ट्रेन चलाएगा जबकि दक्षिण मध्य रेलवे 1,012 और पूर्व मध्य रेलवे 1,003 ट्रेनें संचालित करेंगे.

जोनल रेलवे ने कसी कमर

रेल मंत्रालय ने कहा कि देशभर में फैले सभी जोनल रेलवे ने तमिलनाडु, महाराष्ट्र, गुजरात, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, दिल्ली, झारखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान से गर्मियों के दौरान इन अतिरिक्त यात्राओं को संचालित करने के लिए कमर कस ली है. मंत्रालय ने यह निर्णय पीआरएस प्रणाली में प्रतीक्षा सूची वाले यात्रियों के विवरण के अलावा मीडिया रिपोर्ट, सोशल मीडिया मंचों और रेलवे हेल्पलाइन नंबर 139 से मिली सूचनाओं के आधार पर लिया है.

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending