Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

अदभुदय युक्थ क्लब खेलेगा भारत खिलेगा भारत विकास मानपुर परिक्षेत्र के तत्वाधान मे संच खड़गांव अंचल राजनांदगांव विध्यालय

Published

on

SHARE THIS

 

अम्बागढ़ चौकी : ग्राम संबलपुर मे एकल अभियान के तहत एक दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता आयोजित किया गया था जिसमे ग्राम पंचायत सरोली के सरपंच श्री पालसिंग कंवले जी,और वार्ड पंच श्री विनोद मंडावी जी और अंचल अभियान प्रमुख श्री जगत राम यादव जी और श्री धनंजय तोप्पा ग्राम पंचायत सरोली उपसरपंच एवं श्री गोपाल सिंग कोटरिया और श्री पिंटु पटेल संच प्रमुख और हमारे सहयोगी राजीव गांधी युवा मितान क्लब के समस्त भाईयों का सहयोग प्राप्त हुआ जिसमे संच खड़गांव के 26 विद्या ग्राम सभी आचार्य और प्रतियोगिता में भाग लेने वाले बच्चों की संख्या 380 थे जिसमे 100 भी. दौड़200 मी दौड़ 400 भी. दौड़ और कबड्डी,लंबी कूद, ऊंची कूद कुश्ती आदि चार प्रकार के खेल शामिल था जिसमें 34 बच्चों का जिला स्तरीय खेल के लिए चयन हुआ*

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

दिव्यांगजनों की सुविधा के लिए बने सीआरसी सेंटर का लोकार्पण, दिव्यांगों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

Published

on

SHARE THIS

रायपुर:  सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री भारत सरकार डॉ. वीरेन्द्र कुमार, सामाजिक न्याय और अधिकारिता केन्द्रीय राज्य मंत्री ए. नारायणस्वामी एवं विधानसभा अध्यक्ष छत्तीसगढ़ शासन डॉ. रमन सिंह की वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से उपस्थिति में सांसद संतोष पाण्डेय ने 32 करोड़ रूपए की लागत से राजनांदगांव विकासखंड के ग्राम ठाकुरटोला में नवनिर्मित दिव्यांगजन कौशल विकास, पुनर्वास और सशक्तिकरण समेकित क्षेत्रीय केन्द्र (सीआरसी) के नये भवन का उद्घाटन किया।

सांसद संतोष पाण्डेय ने कहा कि राजनांदगांव जिले के लिए ऐतिहासिक क्षण है। यहां दिव्यांगजनों के लिए समेकित क्षेत्रीय केन्द्र भवन का निर्माण किया गया है। यहां दिव्यांगजनों के लिए सभी प्रकार के यंत्र, प्रशिक्षण, पालकों को प्रशिक्षण और सभी प्रकार की व्यवस्था इस अत्याधुनिक भवन में व्यवस्थित रूप से की जाएगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह का इस भवन निर्माण के लिए लगातार प्रयास रहा है। आज राजनांदगांव जिले को नये भवन की सौगात मिली है, जिसमें केवल राजनांदगांव ही नहीं पूरे छत्तीसगढ़ राज्य के लोगों को लाभ प्राप्त होगा। यहां दिव्यांगजनों को सभी प्रकार का प्रशिक्षण प्राप्त होगा।

सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत को विकसित भारत बनाने के लिए तथा विश्व में अग्रणी देश बनाने के लिए जो संकल्प लिया है। हम सब उसमें सहभागी और सहयोगी बनेंगे। उन्होंने कहा कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास हम सब भागीदारी बनेंगे। उन्होंने सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री भारत सरकार डॉ. वीरेन्द्र कुमार को नये भवन के लिए आभार व्यक्त किया। इस दौरान सांसद संतोष पाण्डेय ने हितग्राहियों को सहायक उपकरण हियरिंग एड, टीएलएम किट, गतिशीलता उपकरण, व्हील चेयर सहित अन्य उपकरण प्रदान किया गया। सांसद पाण्डेय ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को शुभकामनाएं एवं शुभेक्षा दी।

उल्लेखनीय है कि दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग, सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा दिव्यांगजन कौशल विकास, पुनर्वास और सशक्तिकरण समेकित क्षेत्रीय केंद्र राजनांदगांव (सीआरसी) की स्थापना 25 जून 2016 को की गई थी। यह राष्ट्रीय बौद्धिक दिव्यांगजनों के सशक्तिकरण संस्थान (एनआईईपीआईडी) सिकंदराबाद के प्रशासनिक नियंत्रण में कार्य कर रहा है। समेकित क्षेत्रीय केंद्र दिव्यांगजनों के अधिकार अधिनियम 2016 में उल्लेखित सभी 21 प्रकार के दिव्यांगजनों को पुनर्वास और विशेष शिक्षा सेवाएं प्रदान करता है और बहुत से गतिविधियों का संचालन करके शैक्षणिक सेवाएं भी प्रदान करता है, जिसमें अल्पकालिक प्रशिक्षण कार्यक्रम, अभिभावक प्रशिक्षण कार्यक्रम, जागरूकता कार्यक्रम और विशेष शिक्षा बौद्धिक दिव्यांगता में एक दीर्घकालिक डिप्लोमा पाठ्यक्रम संचालित है।

समेकित क्षेत्रीय केंद्र राजनांदगांव वर्तमान में दिव्यांगजनों के लिए विभिन्न सेवाएं प्रदान करता है, जिसमें प्रारंभिक पहचान और हस्तक्षेप, व्यावसायिक चिकित्सा, फिजियोथेरेपी, शारीरिक चिकित्सा और पुनर्वास, मनोवैज्ञानिक हस्तक्षेप, प्रोस्थेटिक्स और ऑर्थाेटिक्स, वाक्य, भाषा और श्रवण जांच, विशेष शिक्षा, कौशल प्रशिक्षण, व्यावसायिक प्रशिक्षण, सामाजिक कार्य, प्लेसमेंट, दूरस्थ सेवाएं, मानव संसाधन विकास, अनुसंधान एवं विकास, किरण मानसिक स्वास्थ्य हेल्पलाइन (एमएचआरएच) छत्तीसगढ़ राज्य के लिए सीआरसी राजनांदगांव द्वारा संचालित की जाती है। इसके अलावा बौद्धिक दिव्यांजनों को शारीरिक दिव्यांगता के अनुरूप सहायक उपकरण कृत्रिम अंग, बैसाखी, व्हील चेयर आदि और शिक्षण एवं शिक्षण सामग्री (टीएलएम) किट सहित सहायक उपकरणों का नियमित  वितरण एडीआईपी योजना के तहत निःशुल्क किया जाता हैं। श्रवण बाधित व्यक्तियों के लिए कान के पीछे में लगने वाला श्रवण यंत्र प्रदान किया जाता है।

सांसद संतोष पाण्डेय ने कहा कि राजनांदगांव जिले के लिए ऐतिहासिक क्षण है। यहां दिव्यांगजनों के लिए समेकित क्षेत्रीय केन्द्र भवन का निर्माण किया गया है। यहां दिव्यांगजनों के लिए सभी प्रकार के यंत्र, प्रशिक्षण, पालकों को प्रशिक्षण और सभी प्रकार की व्यवस्था इस अत्याधुनिक भवन में व्यवस्थित रूप से की जाएगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह का इस भवन निर्माण के लिए लगातार प्रयास रहा है। आज राजनांदगांव जिले को नये भवन की सौगात मिली है, जिसमें केवल राजनांदगांव ही नहीं पूरे छत्तीसगढ़ राज्य के लोगों को लाभ प्राप्त होगा। यहां दिव्यांगजनों को सभी प्रकार का प्रशिक्षण प्राप्त होगा।

सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत को विकसित भारत बनाने के लिए तथा विश्व में अग्रणी देश बनाने के लिए जो संकल्प लिया है। हम सब उसमें सहभागी और सहयोगी बनेंगे। उन्होंने कहा कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास हम सब भागीदारी बनेंगे। उन्होंने सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री भारत सरकार डॉ. वीरेन्द्र कुमार को नये भवन के लिए आभार व्यक्त किया। इस दौरान सांसद संतोष पाण्डेय ने हितग्राहियों को सहायक उपकरण हियरिंग एड, टीएलएम किट, गतिशीलता उपकरण, व्हील चेयर सहित अन्य उपकरण प्रदान किया गया। सांसद पाण्डेय ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को शुभकामनाएं एवं शुभेक्षा दी।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

प्रकृति ने सरगुजा को दी है अकूत सुंदरता और सुकून

Published

on

SHARE THIS

 

कोरिया  : छत्तीसगढ़ को प्रकृति ने भरपूर आशीष दी है। जब सरगुजा सम्भाग की बात करें तो प्रकृति की गोद में बसे और हरियाली की चादर से ढंके हैं मानो यह जन्नत की नगरी कश्मीर हो।

तीन दिवसीय मैनपाट महोत्सव का शुभारंभ प्रदेश के लोकप्रिय मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय के द्वारा किया गया।

वर्ष 2012 में हुई थी शुरूआत
बता दें मैनपाट में पर्यटन को बढ़ावा देने तथा विकास को गति देने के लिए वर्ष 2012 में जिला प्रशासन सरगुजा द्वारा मैनपाट महोत्सव की शुरुआत की थी। इस तरह हर वर्ष मैनपाट महोत्सव का आयोजन किया जाता है, जिसमें स्थानीय व देश के नामी कलाकारों के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी जाती है और विभागीय स्टॉलों से विकास की झलक देखने को मिलती है तो यहां एडवेंचर स्पोर्ट्स, नौकायन, पतंग फेस्ट, मेला, दंगल आदि गतिविधियां लोगों के मनोरंजन का माध्यम बनते हैं।

इस वर्ष तीन दिवसीय महोत्सव
तीन दिवसीय मैनपाट महोत्सव 23 फरवरी से 25 फरवरी तक रोपाखार जलाशय के समीप आयोजन किया गया है।

समुद्र सतह से 3781 फीट ऊंचाई पर
मैनपाट विन्धपर्वत माला पर स्थित है, जिसकी समुद्र सतह से ऊंचाई 3781 फीट है इसकी लम्बाई 28 किलोमीटर और चौडाई 10 से 13 किलोमीटर है। राजधानी रायपुर से अम्बिकापुर की दूरी लगभग 365 किमी है, वहीं अम्बिकापुर से मैनपाट की दूरी लगभग 50 किमी है। यहां की जलवायु के कारण मैनपाट को छत्तीसगढ का शिमला कहा जाता है।

प्रदेश के चारों दिशाओं में विराजी है मातेश्वरी
बस्तर से लेकर सरगुजा अपनी नैसर्गिक प्राकृतिक सौंदर्य के लिए जाना जाता है वहीं चारो दिशाओं में दंतेश्वरी माई, माँ बम्लेश्वरी, माँ महामाया, माँ चंद्रहासिनी विराजी है, जिनकी आशीर्वाद इस प्रदेश को सतत मिल रही है।

संस्कृतियों का संगम स्थल
पर्यटन की दृष्टि से सरगुजा सम्भाग का बड़ा स्थान है। मैनपाट जहां सुंदर वादियां, खुशनुमा वातावरण और ऊंची-ऊंची पहाड़ियों से घिरा, विभिन्न संस्कृतियों का संगम स्थल है। जहां पहुंचते ही मन को सुकून व अलौकिक शांति की प्राप्ति होती है।

मुख्यमंत्री ने की घोषणा
मुख्यमंत्री श्री विष्णु देवसाय ने मैनपाट महोत्सव के लिए 50 लाख रुपए की घोषणा की तो नर्मदापुर में झंडा पार्क बनाने के लिए एक करोड़ रूपए देने की घोषणा की। श्री साय ने मैनपाट को पंचमढ़ी की तरह और छत्तीसगढ़ का शिमला बताया।

दूर तक फैला पाट क्षेत्र
मैनपाट के नयनाभिराम दृश्य स्वतः ही सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। यहां चारों ओर फैली हरियाली, घुमावदार पहुँचमार्ग, मन को असीम शीतलता प्रदान करने वाले जलप्रपात, अचंभित करने वाले प्राकृतिक दृश्य और दूर-दूर तक फैला पाट क्षेत्र है।

मैनपाट में है खुशनुमा वातावरण
वैसे तो मैनपाट का मौसम वर्षभर खुशनुमा होता है, परन्तु नवम्बर से जनवरी के मध्य सर्दियों के मौसम में मैनपाट की खूबसूरती और बढ़ जाती है। बारिश के बाद झरनों की सुंदरता, चारों ओर खेतों में लहलहाती हुई टाऊ की फसल दर्शनीय होती है। इसलिए ये मौसम मैनपाट में सैर करने के लिए सबसे अच्छा मौसम है।

आलू और टाऊ की खेती के लिए प्रसिद्ध
सरगुजा सम्भाग वैसे तो अनेक संसाधनों के लिए प्रसिद्ध है। लेकिन यहां आलू की खेती देश के अलग अलग राज्यों तक पहुंचती है। इसी तरह टाउ की खेती भी इस अंचल में बड़ी सँख्या में की जाती जो प्रसिद्ध है।
प्रमुख पर्यटन स्थल –
बौद्ध मंदिर
मैनपाट से ही रिहन्द एवं मांड नदी का उदगम हुआ है। इंडो-चाइना वार के पश्चात 1962-63 में तिब्बती शरणार्थियों को मैनपाट में बसाया गया। यहां तिब्बती लोगों का जीवन एवं बौद्ध मंदिर आकर्षण का केन्द्र है। इसलिए इसे मिनी तिब्बत भी कहा जाता है।
टाइगर प्वाइंट–
मैनपाट के महत्वपूर्ण प्रमुख टूरिस्ट स्पॉट में टाइगर प्वाइंट का अपना विशेष महत्व है। टाइगर प्वाइंट एक खूबसूरत प्राकृतिक झरना है जिसमें पानी इतनी तेजी से गिरता है कि शेर के गरजने जैसी आवाज आती है। चारों तरफ घनघोर जंगलों के बीच पहाड़ से गिरता हुआ झरना बहुत ही आकर्षक लगता है।
उल्टापानी –
मैनपाट के बिसरपानी गांव में स्थित उल्टापानी छत्तीसगढ़ की सबसे ज्यादा अचंभित और हैरान करने वाला दर्शनीय स्थल है। यहां पर पानी का बहाव नीचे की तरफ न होकर ऊपर यानी ऊँचाई की ओर होता है। यहां सड़क पर खड़ी न्यूट्रल चारपहिया गाड़ी 110 मीटर तक गुरूत्वाकर्षण के विरूद्ध पहाड़ी की ओर अपने आप लुढ़कती है।
जलजली–
मैनपाट में प्रकृति के नियमों से दूर जलजली वह पिकनिक स्पॉट है जहाँ दो से तीन एकड़ जमीन काफी नर्म है और इसमें कूदने से धरती गद्दे की तरह हिलती है। आस-पास के लोगों के मुताबिक कभी यहां जल स्त्रोत रहा होगा जो समय के साथ उपर से सूख गया तथा आंतरिक जमीन दलदली रह गई। इसी वजह से यह जमीन दलदली व स्पंजी लगती है।
फिश प्वाइंट–
मैनपाट में पर्यटकों के लिए जंगलों के बीच एक रोमांचकारी और मन को लुभाने वाला मशहूर जगह फिश प्वाइंट (मछली) स्थित है। यह भी एक जलप्रपात है।
मेहता प्वाइंट–
मैनपाट में स्थित मेहता प्वाइंट ऊंची पहाडियां, गहरी घाटियां तथा वन मनोरम दृश्यों से भरपूर हैं। मैनपाट आने वाले पर्यटक सुंदर व्यू का आनन्द लेने के लिए इस पिकनिक स्पॉट में अवश्य पहुंचते हैं।
ठिनठिनी पत्थर-
अम्बिकापुर के 12 किमी. की दूरी पर दरिमा हवाई अड्डा हैं। दरिमा हवाई अड्डा के पास बडे-बडे पत्थरो का समूह है। इन पत्थरो को किसी ठोस चीज से ठोकने पर आवाजे आती है। सर्वाधिक आश्चर्य की बात यह है कि ये आवाजे विभिन्न धातुओ की आती है। इनमे से किसी- किसी पत्थर खुले बर्तन को ठोकने के समान आवाज आती है। इन पत्थरो मे बैठकर या लेटकर बजाने से भी इसके आवाज मे कोई अंतर नही पड़ता है। एक ही पत्थर के दो टुकडे अलग-अलग आवाज पैदा करते है। इस विलक्षणता के कारण इस पत्थरो को अंचल के लोग ठिनठिनी पत्थर कहते है।
इसके अतिरिक्त यहां बूढ़ा नागदेव जलप्रपात है जिसे जलपरी प्वाइंट भी कहते है। प्रकृति की गोद में बसे इस जलप्रपात तक पहुंचते ही सारी थकान दूर हो जाती है।

 

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर बैकुंठपुर विधानसभा स्तरीय चुनाव प्रबंधन समिति की बैठक हुई आयोजित

Published

on

SHARE THIS

 

6 मार्च को आस्था स्पेशल ट्रेन से जिले वासियों को रामलला दर्शन कराने बनी रूपरेखा

कोरिया बैकुंठपुर  :  आगामी लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर कोरिया जिला भाजपा कार्यालय में विधानसभा स्तरीय चुनाव प्रबंधन समिति की बैठक आयोजित की गई । बैठक का संचालन करते हुए भाजपा जिला महामंत्री पंकज गुप्ता के द्वारा बैठक में उपस्थित कार्यकर्ताओं पदाधिकारियों को बैठक के विषय को संक्षेप में अवगत कराते हुए मुख्य बातों पर ध्यानाकर्षण कराया गया । तत्पश्चात जिला महामंत्री पंकज गुप्ता ने उपस्थित कार्यकर्ताओं पदाधिकारियों को आबंटित लोकसभा चुनाव हेतु दायित्व का स्मरण कराने भाजपा जिला अध्यक्ष कृष्ण बिहारी जायसवाल को आमंत्रित किया।

बैठक में उपस्थित लोकसभा चुनाव प्रबंधन समिति के सदस्यों को कृष्ण बिहारी जायसवाल के द्वारा उनके दायित्वों को समझाते हुए बताया गया की आप सभी लोगों को मिले दायित्व अनुसार अपनी तैयारी पूरी करें।जिसमे दीवार लेखन,वाहन प्रभारी, छोटी,बड़ी सभाओं के प्रभारी,मीडिया प्रबंधन,सोशल मीडिया प्रभारी,यात्रा प्रवास प्रभारी,बूथ प्रभारी,चुनाव संसाधन प्रभारी,न्यायिक विधिक सलाहकार,विगत दो चुनाव के आंकड़ों के प्रभारी,आरोप पत्र प्रभारी,वीडियो वाहन प्रभारी,संकल्प पत्र प्रभारी,अन्य राज्य से प्रवासी कार्यकर्ता से समन्वय प्रभारी,प्रचार सामग्री प्रभारी सहित अन्य दायित्व पर प्रकाश डालते हुए सभी को दायित्व समझाया।

जिसके बाद सरगुजा संभाग अंतर्गत 6 मार्च को अंबिकापुर से रवाना होने वाली आस्था स्पेशल ट्रेन से कोरिया जिले वासियों को अयोध्या रामलला दर्शन हेतु जिले वासियों को जागरूक करने और उनका सहयोग करते हुए प्रत्येक व्यक्ति 12 सौ रुपए का टिकट करवाकर पूरी सुगमता पूर्वक यात्रा कराने के लिए कृष्ण बिहारी जायसवाल द्वारा सभी कार्यकर्ताओं से अपील की गई।बैठक में मुख्य रूप से जिला अध्यक्ष कृष्ण बिहारी जायसवाल,जिला महामंत्री पंकज गुप्ता,जिला उपाध्यक्ष लक्ष्मण राजवाड़े,विधानसभा विस्तारक विश्वनाथ साहू,मनोज गुप्ता,विमलकांत गुप्ता,अशोक जायसवाल,महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष धर्मवती राजवाड़े सहित चुनाव प्रबंधन समिति के समस्त सदस्य उपस्थित रहे।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending