Connect with us

देश-विदेश

इब्राहिम रईसी के निधन के बाद काले रंग के कपड़े से ढकी गई राष्ट्रपति की कुर्सी, ये है प्रमुख वजह

Published

on

SHARE THIS

तेहरानः ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का हेलीकॉप्टर दुर्घटना में निधन हो जाने के बाद उनकी कुर्सी को काले रंग के कपड़े से ढंक दिया गया है। इसकी वजह सिर्फ शोक मनाने का संकेत ही नहीं है, बल्कि एक खास धार्मिक वजह भी है। ईरान के मंत्रिमंडल ने राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी के निधन की घोषणा होने के बाद एक आपात बैठक बुलाई उसके बाद शोक संदेश जारी करके कहा कि रईसी ने देश की सेवा करते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया है। इस रिपोर्ट के साथ एक तस्वीर जारी की गयी है, जिसमें रईसी की कुर्सी को काले रंग के कपड़े से ढका गया है और मेज पर उनकी तस्वीर रखी हुई है।

इसके पीछे की वजह शोक व्यक्त करने के साथ-साथ इब्राहिम रईसी का वह धार्मिक सिद्धांत है, जिसके तहत वह हमेशा काली पगड़ी पहनते थे। दरअसल वह इस्लाम धर्म के प्रवर्तक पैगंबर मोहम्मद के वंशज माने जाते हैं। इसलिए हमेशा काली पगड़ी पहने थे। उनकी काली पगड़ी इस बात की द्योतक थी कि वह पैगम्बर मोहम्मद से सीधे जुड़े हुए हैं। इसीलिए ईरानी मंत्रिमंडल ने रईसी के निधन के बाद उनकी कुर्सी को काले कपड़े से ढंक दिया।

ईरान में घोषित हुआ 5 दिनों का शोक

ईरान ने इब्राहिम रईसी के निधन पर 5 दिनों का राष्ट्रीय शोक घोषित किया है।  मंत्रिमंडल ने बयान में कहा, ‘‘हम अपने वफादार, प्रशंसनीय और प्रिय राष्ट्र को आश्वस्त करते हैं कि राष्ट्र के नायक और सेवक तथा नेतृत्व के वफादार मित्र रईसी की अथक निष्ठा के साथ सेवा का मार्ग जारी रहेगा।’’ ईरान के उत्तर-पश्चिम स्थित पहाड़ी क्षेत्र में हेलीकॉप्टर हादसे का शिकार हुए राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी, विदेश मंत्री और अन्य लोग दुर्घटनास्थल पर मृत पाए गए। देश की सरकारी मीडिया ने यह जानकारी दी। इसके साथ ही मंत्रिमंडल ने 5 दिनों के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की।

5 वर्ष की उम्र ही हो गई थी पिता की मौत

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी के पिता की मौत उस वक्त हो गई थी, जब रईसी केवल 5 वर्ष के थे। इसके बाद उनकी जिंदगी बिना पिता के साये के साथ आगे बढ़ी। ईरान के राष्ट्रपति बनने से पहले वह न्यायपालिका के प्रमुख के रूप में साल 2019-21 तक काम कर चुके हैं। इसके बाद 2021 में राष्ट्रपति चुने गए। वहीं साल 1988 में खूनी ईरान-इराक युद्ध के अंत में हजारों राजनीतिक कैदियों को सामूहिक तौर पर फांसी दिए जाने के मामले में वह पूरी दुनिया में चर्चा में आ गए। इस क्रूर हत्याकांड में शामिल होने के आरोपों के कारण रईसी पर अमेरिका ने प्रतिबंध लगा दिया था। इब्राहिम रईसी का जन्म साल 1960 में मशहद में हुआ था, जो ईरान का दूसरा सबसे बड़ा शबर और शिया मुसलमानों का पवित्र तीर्थस्थल है।

पैगंबर मोहम्मद के वंशज माने जाते हैं रईसी

इब्राहिम रईसी को पैगंबर मोहम्मद के वंशज के रूप में भी जाना जाता है। जब रईसी 15 साल के थे तो उन्होंने मदरसे में भाग लेना शुरू कर दिया। इसके बाद छात्र जीवन में उन्होंने पश्चिमी समर्थित शाह के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में भी भाग लिया था। हालांकि साल 1979 आते-आते इस आंदोलन का नेतृत्व अयातुल्ला खामेनेई ने करना शुरू किया, जिसे बाद में इस्लामिक क्रांति का नाम दिया गया। इस क्रांति के बाद रईसी न्यायपालिका में शामिल हो गए। बता दें कि खामेनेई द्वारा प्रशिक्षित होने के कारण वे कई शहरों में बतौर अभियोजक कार्य करते रहे। तेहरान में रईसी जब अभियोजक बने तो उनकी आयु उसक वक्त मात्र 25 साल थी। साल 2019 में रईसी को न्यायपालिका प्रमुख के रूप में नियुक्त किया गया।

SHARE THIS

देश-विदेश

पोप फ्रांसिस ने पीएम मोदी को लगाया गले, G7 देशों को संबोधित करने वाले पहले पोप बने

Published

on

SHARE THIS

इटली: पोप फ्रांसिस ने आज शुक्रवार को सात देशों के समूह ‘जी7’ को संबोधित किया। इसके साथ ही वह जी7 देशों को संबोधित करने वाले पहले पोप बन गए। उन्होंने विश्व के अग्रणी औद्योगिक देशों के नेताओं के समक्ष कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) की संभावनाओं और खतरों पर प्रकाश डाला। फ्रांसिस ने दक्षिणी इटली में आयोजित वार्षिक शिखर सम्मेलन में जी7 और अन्य आमंत्रित देशों को संबोधित किया। पोप ने जी7 के प्रत्येक सदस्य और अतिथियों का स्वागत किया। इस दौरान वह भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिले। फ्रांसिस ने पीएम मोदी को देखते ही गले लगा लिया।

रिकॉर्ड तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएम मोदी अपने पहले विदेश दौरे पर इटली के जी7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं। पीएम मोदी और फ्रांसिस की यह मुलाकात काफी यादगार रहेगी। मोदी ने फ्रांसिस से इस दौरान उनका हालचाल भी पूछा। बता दें कि पीएम मोदी मेजबान इटली की प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी के विशेष आमंत्रण पर इटली पहुंचे हैं। पीएम मोदी ने जी7 से इतर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादिमिर जेलेंस्की के साथ द्विपक्षीय वार्ता भी की है। अभी वह इटली की पीएम जॉर्जिया मेलोनी के साथ भी द्विपक्षीय वार्ता कर दोनों देशों के संबंधों को और मजबूत करेंगे।

पोप फ्रांसिस शुक्रवार को सात देशों के समूह ‘जी7’ को संबोधित करने वाले पहले पोप बन गये। उन्होंने विश्व के अग्रणी औद्योगिक देशों के नेताओं के समक्ष कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) की संभावनाओं और खतरों पर प्रकाश डाला। पोप फ्रांसिस ने दुनिया के समृद्ध लोकतंत्रों के नेताओं का आह्वान किया वे कृत्रिम बुद्धिमत्ता के विकास और इस्तेमाल में मानवीय गरिमा को सर्वोपरि रखें। फ्रांसिस ने ‘ग्रुप ऑफ सेवन’ (जी7) के समक्ष अपनी नैतिक शक्ति का परिचय भी दिया। पोप को मेजबान इटली ने एआई पर अपने वार्षिक शिखर सम्मेलन में एक विशेष सत्र को संबोधित करने के लिए आमंत्रित किया था। फ्रांसिस ने कहा कि राजनीतिज्ञों को एआई को मानव-केंद्रित बनाने में अग्रणी भूमिका निभानी चाहिए, ताकि मानवीय निर्णय हमेशा मनुष्यों द्वारा लिए जाएं, मशीनों द्वारा नहीं। उन्होंने कहा, ‘‘यदि हम लोगों से अपने और अपने जीवन के बारे में निर्णय लेने की क्षमता छीन लें तथा उन्हें मशीनों के विकल्पों पर निर्भर रहने के लिए बाध्य कर दें, तो हम मानवता को आशाहीन भविष्य की ओर ले जाएंगे।’’

कुछ देश और वैश्विक निकाय ओपनएआई के चैटजीपीटी द्वारा शुरू किए गए ‘जनरेटिव आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस’ का इस्तेमाल बढ़ने पर एआई पर मजबूत सुरक्षा उपायों के लिए जोर दे रहे हैं। इटली की प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी ने फ्रांसिस को आमंत्रित किया था। फ्रांसिस ने एआई से जुड़ी चिंताओं को दोहराया और अन्य लोगों को इस संबंध में सचेत किया। अपने भाषण के अलावा, फ्रांसिस ने पूरे दिन द्विपक्षीय बैठकें कीं। उन्होंने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के साथ-साथ अल्जीरिया, ब्राजील, भारत, केन्या, तुर्किये और इंडोनेशिया के नेताओं के साथ बैठकें कीं। वह अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों सहित जी7 सदस्यों से भी मुलाकात करेंगे।

SHARE THIS
Continue Reading

देश-विदेश

सट्टे के खिलाफ पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 9 आरोपी गिरफ्तार, कैश देखकर अधिकारियों के उड़े होश

Published

on

SHARE THIS

उज्जैन:  उज्जैन पुलिस ने मध्य प्रदेश के इतिहास की सबसे बड़ी सट्टे की कार्रवाई करते हुए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सट्टा खेलने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया । मुखबिर की सूचना पर यह कार्रवाई उज्जैन के दो स्थानों पर एक साथ की गई। उज्जैन के थाना नीलगंगा क्षेत्र स्थित सी 19 ड्रीम्स कॉलोनी के अलावा थाना खाराकुआं क्षेत्र के मुसद्दीपुरा में पुलिस की यह कार्रवाई हुई। पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि T20 वर्ल्ड कप क्रिकेट को लेकर बड़े पैमाने पर सट्टा चल रहा है। पुलिस ने पहले दोनों जगहों की रेकी कीऔर फिर देर रात दबिश दी ।

14 करोड़ 98 लाख रुपए नगद बरामद

पुलिस ने जब दबिश तो इन जगहों से 14 करोड़ 98 लाख रुपए नगद, विदेशी मुद्रा, 41 मोबाइल, 19 लैपटॉप, 5 मैक मिनी, 1 आईपैड,  राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय सिम, दो पेन ड्राइव, तीन मेमोरी कार्ड सहित अन्य संचार उपकरण, क्रेडिट कार्ड व डेबिट कार्ड बरामद हुए है । इस मामले में कुल 9 लोगों को हिरासत में लिया गया है। गिरफ्तार आरोपी तीन राज्यों के बताए जा रहे हैं। जिसमें पंजाब का लुधियाना, मध्य प्रदेश का नीमच और उज्जैन राजस्थान का निंबाहेड़ा शामिल है।

अंतर्राष्ट्रीय गिरोह चला रहा था सट्टे का नेटवर्क 

उज्जैन पुलिस कंट्रोल रूम पर मामले का खुलासा करते हुए आईजी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि सट्टे का नेटवर्क चलाने वाला अंतर्राष्ट्रीय गिरोह है। शुरुआती जांच में यह पता चला है कि मुख्य सरगना पीयूष चोपड़ा है, जो कि फरार है । उसके परिजनों को भी हिरासत में लिया गया है। इसके अलावा 9 अन्य लोग हैं जिन्हें हिरासत में लिया गया है।

पुलिस कर रही पूछताछ

पुलिस इस मामले में पूछताछ कर रही है। पुलिस के मुताबिक यह गिरोह इलेक्ट्रॉनिक तौर पर क्रिकेट के सट्टे का नेटवर्क संचालित करता था। इस गिरोह में और कौन-कौन लोग शामिल है। कौन-कौन मदद करता था उनकी भी पड़ताल की जा रही है। सट्टे के तार अंतरराष्ट्रीय स्तर तक फैले हुए हैं। हाईटेक एप्लीकेशन एवं हाईटेक डिवाइस का भी उपयोग किया जा रहा था। जब्त 14 करोड़ 98 लख रुपए को मशीनों के द्वारा देर रात से सुबह तक गिना गया।

SHARE THIS
Continue Reading

खेल

T20 World Cup 2024: सुपर 8 में क्या रहेगा भारत का शेड्यूल, इन टीमों से होगा मुकाबला

Published

on

SHARE THIS

भारतीय टीम का कारवां अब टी20 वर्ल्ड कप 2024 में सुपर 8 की ओर बढ़ चुका है। ये बात सच है कि भारतीय क्रिकेट टीम को अभी एक और लीग मुकाबला खेलना है, लेकिन इससे पहले ही उसकी दूसरे राउंड में सीट पक्की हो चुकी है। इस बीच सवाल ये है कि सुपर 8 में भारतीय टीम किन टीमों से भिड़ती हुई नजर आएगी। साथ ही इन मैचों की तारीख क्या होगी। हम अभी से आपको इसके बारे में बता देते हैं

भारत ने बैक टू बैक जीते 3 मुकाबले, ग्रुप ए से दूसरी टीम तय नहीं 

टीम इंडिया ने इस साल के टी20 वर्ल्ड कप में अपने पहले तीन मैच जीतकर और 6 अंक हासिल कर ये तय कर लिया है कि वो अगले राउंउ में जा रही है। खास बात ये है ​कि भारत के ग्रुप यानी ए ग्रुप से दूसरी टीम कौन सी होगी, जो अगले राउंड में जाएगी, ये तय नहीं है, लेकिन इस बीच यूएसए के सुपर 8 में जाने की काफी प्रबल संभावना है। इस बीच आईसीसी ने पहले ही तय कर दिया था कि भारतीय टीम अपने ग्रुप में चाहे कहीं भी खत्म करे, अगर वो टॉप 2 में रहती है तो उसे ए1 ही माना जाएगा।

20 जून को सुपर 8 का पहला मैच खेलेगी भारतीय टीम 

भारतीय टीम सुपर 8 में अपने सफर की शुरुआत 20 जून से करने वाली है। इस दिन टीम का मुकाबला अफगानिस्तान से होगा। ये मैच आज सुबह ही तय हो गया था। ये मुकाबला वेस्टइंडीज के बारबाडोस में खेला जाएगा। इसके बाद भारतीय टीम का अगला मैच 22 जून को खेला जाएगा। हालांकि अभी ये तय नहीं है कि इस दिन भारतीय टीम किससे टक्कर लेगी। इसके लिए बांग्लादेश और नीदरलैंड्स के बीच मुकाबला है। हालांकि अभी तक के प्रदर्शन के आधार पर माना जा रहा है कि बांगलादेश की टीम आगे जाएगी और भारत का मैच भी उसके साथ होगा।

24 जून को खेला जाएगा भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बड़ा मुकाबला 

इन दो मैचों के बाद भारतीय टीम 24 जून को एक बार फिर से मैदान में उतरेगी। इस दिन भारत का मुकाबला ऑस्ट्रेलिया से होगा। भारतीय टीम के लिए ये मैच काफी ज्यादा अहम है और यही वो मैच है, जो सबसे बड़ा होगा। मुकाबला सेंट लूसिया में खेला जाएगा। खास बात ये है कि सुपर 8 में जो भी टीम 2 मैच जीत जाएगी, सेमीफाइनल में एंट्री कर जाएगी। हालांकि दो मैच जीतने पर नेट रन रेट का मामला फंसा सकता है, लेकिन तीन मैच जीतने वाली टीम की जगह सुपर 8 में पक्की हो जाएगी। इसलिए जो टीम भारत से टक्कर लेंगी, उससे तो लगता है कि भारत की सेमीफाइनल तक की राह करीब करीब तय है। हालांकि कुछ उलटफेर हो जाए तो बात अलग है।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending