Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

राम मंदिर की भूमि वापस नहीं किया जाएगा तो जिले से लेकर प्रदेश स्तर पर होगा आंदोलन

Published

on

SHARE THIS

 

बेमेतरा(खिलेश्वर घृतलहरे)   : बेमेतरा नगर के राम मंदिर की भूमि जब तक वापस नहीं किया जाएगा तब तक बेमेतरा से लेकर प्रदेश तक व्यापक स्तर पर आंदोलन की मामला ने तुल पकड़ ली है। इस दौरान मुख्यालय स्थित स्थानीय होटल में आयोजित पत्रकार वार्ता में विधायक आशीष छाबड़ा पर जमीन अदला बदली करने का संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए पत्रकार वार्ता में प्रदेश महामंत्री अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद दीपक दुबे, प्रदेश अध्यक्ष राष्ट्रीय बजरंग दल छत्तीसगढ़ भीम साहू, जिला महामंत्री अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद रायपुर असीम आचार्य एवं जिला प्रमुख सनातन हिंदू धर्म समाज आदित्य सिंह ने संयुक्त रूप से बताया कि तत्कालीन कलेक्टर रहे अनंत तायल ने न्यास की भूमि को अदला-बदली करने का नियम नहीं होने पर जिस प्रकरण को नस्तीबद करने के आदेश दिए थे, उसके बाद भी 2 माह पहले की तारीख में रामचंद्र मूर्ति मंदिर न्यास की भूमि को अदला-बदली कर देने का आरोप लगाते हुए जमीन वापस दिलाने की मांग की है।

तत्कालीन एसडीएम ने कलेक्टर आदेश के पूर्व न्यास की जमीन को अदला-बदली कर दिए जाने का खुलासा करते हुए दस्तावेज प्रस्तुत करते हुए कहा कि श्री राम मंदिर की भूमि को क्षेत्रीय विधायक ने करीबी रिश्तेदार के नाम करवाया बेमेतरा में श्री रामचंद्र मंदिर ट्रस्ट की भूमि लगभग 5 एकड़ जिसे अधिकारियों पर दबाव बनाकर कांग्रेसी विधायक आशीष छाबड़ा ने अपने करीबी रिश्तेदार सुमित कौर पति बलमीत सिंह सलूजा के नाम कर ली एवं इसके अलावा ट्रस्ट की बची हुई भूमि में से करीब चार एकड़ भूमि पर पक्की सड़क का निर्माण कराया जा रहा है ,ताकि ट्रस्ट की भूमि की उपयोगिता पूर्णता खत्म की जा सके ।इसमें कहीं-कहीं हिंदू धर्म के विरुद्ध षड्यंत्र का एहसास होता है। मंदिर की भूमि को विधायक आशीष छाबड़ा द्वारा अपने रिश्तेदार करने के पूरे प्रदेश में सनातन हिंदू समाज में खासी नाराजगी है।

कलेक्टर के आदेश के विरुद्ध जाकर की रजिस्ट्री

इन लोगों ने आगे बताया कि 4 नवंबर 2020 को कलेक्टर ने लिखित आदेश में कहा है कि श्री राम मंदिर ट्रस्ट समिति की भूमि लोक न्यास की भूमि है लोक न्याय न्याय अधिनियम 1963 के प्रावधानों के अनुसार न्यास भूमि का अंतरण संभव नहीं है।सी जी एल आर सी में अदला बदली का कोई प्रावधान नहीं है। बावजूद इसके कलेक्टर के आदेश के विरुद्ध जाकर तत्कालीन एसडीएम दुर्गेश वर्मा ने भूमि अंतरण करने का आदेश 26 सितंबर 2020 को कूट रचना करके दे दिया।

कोरोना कल में चली फाइलें

जब पूरा देश कोरोना महामारी से पीड़ित था और और लोग कोरोना के डर से अपने घरों में दुबके हुए थे तब यहां पर इस मामले पर पर्दे के पीछे कार्रवाई गुपचुप रूप से चल रही थी सभी शासकीय कार्यालय बंद करने का आदेश था तब भी राजस्व विभाग ऐसे मामले अंतिम रूप देने में के लिए खुला था 3 सितंबर 2021 को एसडीएम दुर्गेश वर्मा ने कोरोना कल के दौरान श्री राम मंदिर की अंतरण करने का आदेश दे दिया
कार्यालय से फाइले गायब तत्कालीन एसडीएम दुर्गेश वर्मा तत्कालीन तहसीलदार आशुतोष गुप्ता अपने आप को बचाने के लिए कार्यालय से फाइलें गायब करवा चुके हैं। जिससे प्रतीत होता है कि किस तरह से राम मंदिर बेमेतरा भूमि का अधिकारियों के साथ मिलकर विधायक बेमेतरा ने बंदर बाट किया।

व्यापक रूप से किया जाएगा आंदोलन कार्रवाई न होने पर न्यायालय जाने की भी तैयारी

सनातन हिंदू समाज के पदाधिकारियों ने कहा है कि श्री रामचंद्र मूर्ति मंदिर ट्रस्ट की भूमि यथा स्थान वापस देने है और भूमि का अवैध अंतरण करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग ज्ञापन सौंपकर किया गया है जिसको लेकर शुक्रवार को प्रतीकात्मक आंदोलन हुआ है यदि इस पर इस पर कार्यवाही नहीं किया जाता तो बेमेतरा शहर से लेकर प्रदेश स्तर पर व्यापक रूप से इस मामले को लेकर आंदोलन किया जाएगा साथ ही सनातन हिंदू समाज उच्च न्यायालय की शरण लगा।

निजी भूमि पर सड़क, किसान हो रहे परेशान

कृषि भूमि को व्यावसायिक दृष्टि से व्यावसायिक लाभ हेतु पीडब्ल्यूडी द्वारा सड़क बना दी गई इसके बाद किसानों को आसपास की भूमि विक्रय करने हेतु दबाव बनाया जा रहा है। विधायक ने अपने करीबी रिश्तेदार लाभ देने के लिए श्री रामचंद्र मूर्ति मंदिर ट्रस्ट की भूमि अंतरण कर व्यावसायिक लाभ हेतु जो सड़क बनाई गई उसे पीडब्ल्यूडी को बनाने का अधिकार नहीं है। क्योंकि पी डब्लू डी निजी भूमि पर सड़क निर्माण सामान्य अवस्था में नहीं कर सकता।

श्री राम मंदिर की भूमि सामने अंतरण में दे दी पीछे की भूमि

पत्रकार वार्ता में आरोप लगाते हुए श्री राम मंदिर ट्रस्ट की भूमि मुख्य मार्ग से लगी थी लेकिन कांग्रेसी विधायक के दबाव के चलते अधिकारियों ने तबादला रजिस्ट्री कर श्री राम मंदिर ट्रस्ट को मुख्य मार्ग से बहुत दूर भूमि थी जिसे श्री राम मंदिर ट्रस्ट को करोड़ों का नुकसान हुआ।
पत्रकार वार्ता में जिला भाजपा अध्यक्ष ओम प्रकाश जोशी ने विधायक आशीष छाबड़ा के द्वारा भाजपा के ऊपर लगाए गए आरोप बीजेपी का षड्यंत्र है पर श्री जोशी ने कहा कि चोरी करना और सीना जोरी करना जीवित दस्तावेज इस बात के प्रमाण है, विधायक स्वयं जांच की मांग क्यों नहीं किए इससे उनकी संलिप्तता प्रदर्शित हो रही है। पूर्व जिला भाजपा अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा ने कहा कि जब उनके करीबी को जमीन हस्तांतरण का मामला नहीं है तो बेमेतरा विधायक आशीष छावड़ा को सफाई देने की क्या आवश्यकता है, वे स्वयं इस मामले पर जांच की मांग करते। पत्रकार वार्ता में पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष विजय सिन्हा, राकेश मोहन शर्मा, विकास तंबोली, विजय सुखवानी, भाजपा पार्षद नीतू कोठारी, पार्षद नीलू राजपूत परस वैष्णो, प्रवीण सिंह, विजय ठाकुर, अन्य लोग उपस्थित थे।

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

सभी वर्गों के समावेशी विकास की दिशा में कार्य कर रही छत्तीसगढ़ सरकार: मुख्यमंत्री साय

Published

on

SHARE THIS

रायपुर, 23 फरवरी 2024 : मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय आज तीन दिवसीय मैनपाट महोत्सव के शुभारंभ में पहुंचे। समारोह में उन्होंने मैनपाट को पर्यटन की दिशा में और सुदृढ़ करने की बात कही, ताकि लोग सनातन और बौद्ध धर्म दोनों के समागम स्थल में सुकून की अनुभूति महसूस करें। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार प्रदेश के सभी वर्गों के समावेशी विकास की दिशा में कार्य कर रही है। श्री साय ने माताओं एवं बहनों का भी अभिनंदन करते हुए कहा कि प्रदेश भर की महिला शक्ति को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महतारी वंदन योजना के तहत राशि मिलना शीघ्र प्रारंभ हो जाएगा। प्रदेश भर से 70 लाख महिलाओं ने इसका फॉर्म भरा है और फॉर्म भरने की प्रक्रिया आगे भी प्रारंभ रहेगी, ताकि हमारी पात्र माताओं एवं बहनों को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने बताया कि हमारी सरकार हर छत्तीसगढ़िया के भांजे श्री राम के दर्शन का सपना पूरा करेगी। साथ ही चरण पादुका योजना को फिर से शुरू किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने मैनपाट महोत्सव में नर्मदापुर में झंडा पार्क की स्थापना के लिए एक करोड़ की घोषणा की। साथ ही मैनपाट महोत्सव आयोजन के लिए प्रतिवर्ष 50 लाख रुपए की घोषणा की। इस अवसर पर सीतापुर विधायक श्री रामकुमार टोप्पो, लुण्ड्रा विधायक श्री प्रबोध मिंज एवं अम्बिकापुर विधायक श्री राजेश अग्रवाल भी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय का तिब्बती शरणार्थी बंधुओं द्वारा पारंपरिक वेशभूषा में तिब्बती परम्परा से आत्मीय स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री श्री साय ने विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए स्टालों का अवलोकन किया। इस अवसर पर स्थानीय कलाकारों द्वारा साईक्लिंग सहित कई एडवेंचर स्पोर्ट्स का आयोजन किया गया। महोत्सव के दौरान नौकायन, जूमरिंग, आर्चरी, पतंग उत्सव, राज्य स्तरीय साइकिल रेस, पैरा सीलिंग, वैली क्रासिंग, हैंगिंग बॉल सहित अन्य रोमांचक खेलों का आयोजन होगा।

मुख्यमंत्री श्री साय ने किया विभागीय स्टॉल का अवलोकन

मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने मैनपाट महोत्सव में विभिन्न विभागों के स्टॉल का निरीक्षण किया जहां विभागीय योजनाओं पर आधारित जीवंत मॉडल बनाए गए हैं। विभागों द्वारा स्टॉल में कृषि विभाग द्वारा प्रधानमंत्री जनमन योजना अंतर्गत कृषि विकास पर आधारित प्रदर्शनी लगाई गई। पशुपालन विभाग द्वारा हर घर कुक्कुट पालन, रेशम विभाग द्वारा टसर धागाकरण, वन विभाग द्वारा वन सम्पदा, जल संसाधन विभाग द्वारा घुनघुट्टा डेम, मत्स्य विभाग द्वारा मछली पालन से समृद्धि, आदिवासी विकास विभाग द्वारा देवगुड़ी पर आधारित, जीवंत मॉडल बनाया गया। इसी तरह लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा हर घर नल पर आधारित, शिक्षा विभाग द्वारा पीएम श्री योजना, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना एवं महिला सशक्तिकरण तथा अंत्याव्यवसायी विभाग, समाज कल्याण विभाग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, स्वास्थ्य विभाग द्वारा, कृषि विज्ञान केंद्र, केंद्रीय जेल द्वारा कैदियों द्वारा बनाए गए विभिन्न काष्ठ शिल्पों, सीएसपीडीसीएल, हथकरघा के स्टॉल लगाए जाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री साय ने विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को बांटे सामग्री एवं प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय द्वारा विभिन्न विभागों के हितग्राहियों को सामग्री एवं प्रमाण पत्र का वितरण किया गया। इसमें कृषि विभाग द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड, उद्यान विभाग द्वारा पावर स्प्रेयर, पशुधन चिकित्सा विभाग द्वारा बैकयार्ड कुक्कट इकाई, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा जल जीवन मिशन, मत्स्य पालन विभाग द्वारा नाव जाल योजना और फुटकर मछली विक्रय योजना, स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयुष्मान कार्ड, शिक्षा विभाग द्वारा स्थाई कोरवा जाति प्रमाण पत्र, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, खाद्य विभाग द्वारा प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, श्रम विभाग द्वारा असंगठित कर्मकार प्रसूति सहायता योजना, अंत्यवसाई विभाग द्वारा अनुसूचित जनजाति आदिवासी महिला सशक्तिकरण, स्मॉल बिजनेस योजना, अंत्योदय स्वरोजगार योजना और महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना के 05-05 हितग्राही शामिल रहे।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

दामाखेड़ा का नाम अब होगा कबीर धर्म नगर दामाखेड़ा

Published

on

SHARE THIS

रायपुर, 23 फरवरी 2024 : मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय आज बलौदाबाजार-भाटापारा जिला के दामाखेड़ा में माघपूर्णिमा के अवसर पर आयोजित होने वाले सद्गुरू कबीर संत समागम समारोह में शामिल हुए। धर्म गुरू पंथश्री प्रकाश मुनि नाम साहेब ने मुख्यमंत्री के रूप में पहली दफा दामाखेड़ा आगमन पर श्री साय का कबीरपंथी समाज की ओर से आत्मीय स्वागत किया। मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने इस मौके पर दामाखेड़ा का नाम कबीर धर्म नगर दामाखेड़ा करने की घोषणा की। उन्होंने पूर्व में स्वीकृत 22 करोड़ रूपये से अधिक लागत से बनने वाले कबीर सागर के निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। श्री साय ने कहा कि दामाखेड़ा के 10 किलोमीटर की परिधि में कोई भी नया औद्योगिक प्रतिष्ठान शुरू न हो इसके लिए विचार किया जाएगा। समारोह में मुख्यमंत्री श्री साय ने पंथश्री हुजूर प्रकाश मुनि नाम साहेब से छत्तीसगढ़ की तरक्की और खुशहाली के लिए आशीर्वाद लिया। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री श्री विजय शर्मा, केबिनेट मंत्री श्री दयाल दास बघेल, सांसद श्री सुनील सोनी, भाटापारा विधायक श्री इंद्र कुमार साव, लुण्ड्रा विधायक श्री प्रमोद मिंज, भाटापारा पूर्व विधायक श्री शिवरतन शर्मा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती लक्ष्मी वर्मा ने भी दर्शन कर गुरू से आशीर्वाद प्राप्त किया।

मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने अपने उद्बोधन में कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश का मुख्यमंत्री का दायित्व मुझे मिला है इस दायित्व से जनता की सेवा और प्रदेश के विकास के लिए हमेशा तत्पर रहूंगा। आप सभी के विश्वास और सहयोग से प्रदेश में विकास की गंगा बहाएंगे। उन्होंने ने कहा कि बचपन से ही मेरा जुड़ाव कबीर पंथ से रहा है और चौका आरती में शामिल होते रहा हूं। मेरे गृह ग्राम बगिया में कबीर पंथ के मुनियों का पदार्पण हुआ है जो मेरे लिए सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि एक छोटे से गांव के किसान के बेटे को आप लोगों ने मुख्यमंत्री का बड़ा दायित्व दिया है। इस चुनौतीपूर्ण जिम्मेदारी पर खरा उतरने में लिए आप सबका सहयोग और मार्गदर्शन मिलता रहे। जिस प्रकार से मोदी जी की गारंटी पर आपने विश्वास जताया है उसे आगे भी कायम रखते हुए सेवा का अवसर देते रहेंगे। हम सब मिलकर छत्तीसगढ़ को विकास के पथ पर आगे ले जाएंगे।

उप मुख्यमंत्री श्री विजय शर्मा ने कहा कि हमारी सरकार ने केवल 2 माह में ही लंबे समय से रुके बड़े बड़े काम को पूरे किए हैं। इस अवधि में 18 लाख प्रधानमंत्री आवास की स्वीकृति, महतारी वंदन योजना तथा युवाओं की मांग पर पीएससी परीक्षा में हुए गड़बड़ी की सीबीआई जांच जैसे बड़े काम किए है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार विकास कार्य के लिए प्रतिबद्ध है और निरन्तर विकास के काम होते रहेंगे। उन्होंने कहा कि धर्मनगर दामाखेड़ा कबीरपंथियों की आस्था का एक प्रमुख केन्द्र है। संपूर्ण दामाखेड़ा के विकास के लिए वचनबद्ध है। यहां दर्शन के लिए आने वाले देश-विदेश के श्रद्धालु दामाखेड़ा की मधुर स्मृति लेकर वापस लौटेंगे। समारोह को खाद्य मंत्री श्री दयाल दास बघेल, पूर्व विधायक श्री शिवरतन शर्मा ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर नवोदित वंशाचार्य उदित मुनि साहेब, गुरूगोसांई भानुप्रताप साहब, दामाखेड़ा के पूर्व सरपंच कमलेश साहू, कलेक्टर चंदन कुमार, पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार, डीएफओ मयंक अग्रवाल, जिला पंचायत सीईओ नम्रता जैन अपर कलेक्टर बीसी एक्का अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश यादव,सहित जनप्रतिनिधि गण एवं श्रद्धालु बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

दिव्यांगजनों की सुविधा के लिए बने सीआरसी सेंटर का लोकार्पण, दिव्यांगों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

Published

on

SHARE THIS

रायपुर:  सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री भारत सरकार डॉ. वीरेन्द्र कुमार, सामाजिक न्याय और अधिकारिता केन्द्रीय राज्य मंत्री ए. नारायणस्वामी एवं विधानसभा अध्यक्ष छत्तीसगढ़ शासन डॉ. रमन सिंह की वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से उपस्थिति में सांसद संतोष पाण्डेय ने 32 करोड़ रूपए की लागत से राजनांदगांव विकासखंड के ग्राम ठाकुरटोला में नवनिर्मित दिव्यांगजन कौशल विकास, पुनर्वास और सशक्तिकरण समेकित क्षेत्रीय केन्द्र (सीआरसी) के नये भवन का उद्घाटन किया।

सांसद संतोष पाण्डेय ने कहा कि राजनांदगांव जिले के लिए ऐतिहासिक क्षण है। यहां दिव्यांगजनों के लिए समेकित क्षेत्रीय केन्द्र भवन का निर्माण किया गया है। यहां दिव्यांगजनों के लिए सभी प्रकार के यंत्र, प्रशिक्षण, पालकों को प्रशिक्षण और सभी प्रकार की व्यवस्था इस अत्याधुनिक भवन में व्यवस्थित रूप से की जाएगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह का इस भवन निर्माण के लिए लगातार प्रयास रहा है। आज राजनांदगांव जिले को नये भवन की सौगात मिली है, जिसमें केवल राजनांदगांव ही नहीं पूरे छत्तीसगढ़ राज्य के लोगों को लाभ प्राप्त होगा। यहां दिव्यांगजनों को सभी प्रकार का प्रशिक्षण प्राप्त होगा।

सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत को विकसित भारत बनाने के लिए तथा विश्व में अग्रणी देश बनाने के लिए जो संकल्प लिया है। हम सब उसमें सहभागी और सहयोगी बनेंगे। उन्होंने कहा कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास हम सब भागीदारी बनेंगे। उन्होंने सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री भारत सरकार डॉ. वीरेन्द्र कुमार को नये भवन के लिए आभार व्यक्त किया। इस दौरान सांसद संतोष पाण्डेय ने हितग्राहियों को सहायक उपकरण हियरिंग एड, टीएलएम किट, गतिशीलता उपकरण, व्हील चेयर सहित अन्य उपकरण प्रदान किया गया। सांसद पाण्डेय ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को शुभकामनाएं एवं शुभेक्षा दी।

उल्लेखनीय है कि दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग, सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा दिव्यांगजन कौशल विकास, पुनर्वास और सशक्तिकरण समेकित क्षेत्रीय केंद्र राजनांदगांव (सीआरसी) की स्थापना 25 जून 2016 को की गई थी। यह राष्ट्रीय बौद्धिक दिव्यांगजनों के सशक्तिकरण संस्थान (एनआईईपीआईडी) सिकंदराबाद के प्रशासनिक नियंत्रण में कार्य कर रहा है। समेकित क्षेत्रीय केंद्र दिव्यांगजनों के अधिकार अधिनियम 2016 में उल्लेखित सभी 21 प्रकार के दिव्यांगजनों को पुनर्वास और विशेष शिक्षा सेवाएं प्रदान करता है और बहुत से गतिविधियों का संचालन करके शैक्षणिक सेवाएं भी प्रदान करता है, जिसमें अल्पकालिक प्रशिक्षण कार्यक्रम, अभिभावक प्रशिक्षण कार्यक्रम, जागरूकता कार्यक्रम और विशेष शिक्षा बौद्धिक दिव्यांगता में एक दीर्घकालिक डिप्लोमा पाठ्यक्रम संचालित है।

समेकित क्षेत्रीय केंद्र राजनांदगांव वर्तमान में दिव्यांगजनों के लिए विभिन्न सेवाएं प्रदान करता है, जिसमें प्रारंभिक पहचान और हस्तक्षेप, व्यावसायिक चिकित्सा, फिजियोथेरेपी, शारीरिक चिकित्सा और पुनर्वास, मनोवैज्ञानिक हस्तक्षेप, प्रोस्थेटिक्स और ऑर्थाेटिक्स, वाक्य, भाषा और श्रवण जांच, विशेष शिक्षा, कौशल प्रशिक्षण, व्यावसायिक प्रशिक्षण, सामाजिक कार्य, प्लेसमेंट, दूरस्थ सेवाएं, मानव संसाधन विकास, अनुसंधान एवं विकास, किरण मानसिक स्वास्थ्य हेल्पलाइन (एमएचआरएच) छत्तीसगढ़ राज्य के लिए सीआरसी राजनांदगांव द्वारा संचालित की जाती है। इसके अलावा बौद्धिक दिव्यांजनों को शारीरिक दिव्यांगता के अनुरूप सहायक उपकरण कृत्रिम अंग, बैसाखी, व्हील चेयर आदि और शिक्षण एवं शिक्षण सामग्री (टीएलएम) किट सहित सहायक उपकरणों का नियमित  वितरण एडीआईपी योजना के तहत निःशुल्क किया जाता हैं। श्रवण बाधित व्यक्तियों के लिए कान के पीछे में लगने वाला श्रवण यंत्र प्रदान किया जाता है।

सांसद संतोष पाण्डेय ने कहा कि राजनांदगांव जिले के लिए ऐतिहासिक क्षण है। यहां दिव्यांगजनों के लिए समेकित क्षेत्रीय केन्द्र भवन का निर्माण किया गया है। यहां दिव्यांगजनों के लिए सभी प्रकार के यंत्र, प्रशिक्षण, पालकों को प्रशिक्षण और सभी प्रकार की व्यवस्था इस अत्याधुनिक भवन में व्यवस्थित रूप से की जाएगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह का इस भवन निर्माण के लिए लगातार प्रयास रहा है। आज राजनांदगांव जिले को नये भवन की सौगात मिली है, जिसमें केवल राजनांदगांव ही नहीं पूरे छत्तीसगढ़ राज्य के लोगों को लाभ प्राप्त होगा। यहां दिव्यांगजनों को सभी प्रकार का प्रशिक्षण प्राप्त होगा।

सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत को विकसित भारत बनाने के लिए तथा विश्व में अग्रणी देश बनाने के लिए जो संकल्प लिया है। हम सब उसमें सहभागी और सहयोगी बनेंगे। उन्होंने कहा कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास हम सब भागीदारी बनेंगे। उन्होंने सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री भारत सरकार डॉ. वीरेन्द्र कुमार को नये भवन के लिए आभार व्यक्त किया। इस दौरान सांसद संतोष पाण्डेय ने हितग्राहियों को सहायक उपकरण हियरिंग एड, टीएलएम किट, गतिशीलता उपकरण, व्हील चेयर सहित अन्य उपकरण प्रदान किया गया। सांसद पाण्डेय ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को शुभकामनाएं एवं शुभेक्षा दी।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending