Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में नकली सोना दिखाकर की लाखों की ठगी, केस दर्ज

Published

on

SHARE THIS

कोरबा :  नकली सोना को असली बता कर 6.50 लाख रूपये, चांदी के बर्तन व सोने की अंगूठी की ठगी कर ली गई। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज विवेचना में लिया है। घटना दर्री थाना अंतर्गत पीपी कांपलेक्स जमनीपाली की है। यहां सुनील कुमार सोनी निवासी गांधी चौक जायसवाल गली कोरबा, बाबा श्याम ज्वेलर्स के नाम से स्वर्ण ज्वेलर्स बनाने और विक्रय करने का काम करता है। सुनील ने पुलिस को बताया कि उसके दुकान में माह नवंबर 2023 में पहली बार गिर्राज नामक व्यक्ति उसके पास आया और छोटे कम कीमत के स्वर्ण आभूषण बना कर चला गया, उसके बाद लगातार मेरी दुकान में आता था और पुराने जेवर तोड़ाकर नए डिजाइन के ज्वेलर्स बनाकर ले जाता था। उसके साथ एक महिला जिसका नाम गायत्री एवं दो लडका रामेश्वर,विक्रम आते थे, जिसे वह अपनी बहु, पुत्र एवं भतीजा बताता था। सोनी ने कहा कि इस प्रकार नियमित रूप से आने में और बात करने में उसने अपने विश्वास में ले लिया।

पांच जनवरी 2024 को गिर्राज पुनः दुकान आया और 10-10 ग्राम के 15 पीस लाकेट कुल वजन 150.800 ग्राम को दिखाते हुए कहा कि इस जेवर को तोड़कर नए जेवर बनवाना है। उक्त लाकेट को पहले भी ला चुका था और उसकी जांच करने पर सही मिला था। परंतु उस वक्त गिर्राज ने सोने को वापस ले लिया था कि पांच जनवरी को पुनः वही सोना दिखाया, पर बातो में उलझा कर दोबारा जांच करने नहीं दिया। इसके बाद उसने 45 हजार रूपये का एक जेवर और 6.50 लाख नकद उसे प्रदान किया। सोनी ने कहा कि चार दिन बाद उक्त पुराने सोने को तोड़ कर नया जेवर बनाने की प्रक्रिया शुरू की तो वह सोना नकली निकला, तब छले जाने का अहसास हुआ। गिर्राज को ढुंढने का प्रयास किया, तो वह नहीं मिला। उसने स्वर्ण आभूषण देते हुए अपना आधार कार्ड भी दिया था। जिसमें उसका मूल पता वार्ड नंबर 13 नजदीक पोखर, नया कलोनी बैलारा ,नदबई भरतपुर राजस्थान का लेख है और स्वयं को गोपालपुर में रहकर कंबल आदि का व्यवसाय करना बताया था। मामले में पुलिस ने धारा 420, 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया। दुकान में लगे सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस ने जब्त किया। पुलिस का कहना है कि मामले की विवेचना की जा रही है। जल्द ही आरोपित पकड़ लिए जाएंगे।

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

श्रद्धालुओं का अयोध्या भ्रमण: कलेक्टर लंगेह और जनप्रतिनिधियों ने दी हरी झंडी

Published

on

SHARE THIS

कोरिया, 17 जुलाई 2024  : आज जिले के 108 श्रद्धालु श्री रामलला दर्शन के लिए अयोध्या धाम के लिए रवाना हुए। कलेक्टरेट परिसर से कलेक्टर श्री विनय कुमार लंगेह, जनपद अध्यक्ष श्रीमती सौभाग्यवती खुसरो, अपर कलेक्टर श्री अरुण मरकाम व वरिष्ठ नागरिक श्री शैलेष शिवहरे ने बस को हरी झंडी दिखाकर इस यात्रा की शुरुआत की।

धार्मिक उत्साह से भरे श्रद्धालु
श्रद्धालु श्री राम लला के दर्शन के लिए बेहद उत्साहित नजर आए। जय श्रीराम के उदघोष के साथ सुबह 8 बजे यात्रियों का काफिला अम्बिकापुर रेलवे स्टेशन के लिए रवाना हुआ, जहां से वे विशेष ट्रेन द्वारा अयोध्या धाम पहुंचेंगे।

यात्रा योजना 2024 के तहत दूसरा चरण
छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा स्थानीय निवासियों को अयोध्या धाम यात्रा की सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से लागू की गई श्री रामलला दर्शन (अयोध्या धाम) यात्रा योजना 2024 के तहत यह दूसरा चरण था। रवाना होने से पहले सभी श्रद्धालुओं की प्राथमिक स्वास्थ्य जांच की गई। तीन अनुरक्षक–श्री राजकिशोर सिंह, शिवलाल राजवाड़े और श्रीमती नीमा पटेल भी इस यात्रा में शामिल हैं।

सरकार के प्रयासों की सराहना
बैकुंठपुर विकासखंड के ग्राम जामपारा निवासी 65 वर्षीय श्री रामलाल ने सरकार को धन्यवाद देते हुए कहा कि विष्णु सरकार ने हमारे सपने को साकार किया है। वहीं, शिवपुर-चरचा के वार्ड क्रमांक 6, अम्बेडकर नगर निवासी श्रीमती रिंकी देवी सिंह ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय का आभार व्यक्त किया।

श्रद्धालुओं की भावनाएं
57 वर्षीय श्री विकास तिवारी, चरचा निवासी ने खुशी के साथ कहा कि वे कभी नहीं सोच सकते थे कि वे अयोध्या तीर्थ कर सकेंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय की योजना के लिए धन्यवाद किया।

बस को हरी झंडी दिखाने के दौरान बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, यात्रियों के परिजन और विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। सभी ने श्रद्धालुओं को सुखद यात्रा के लिए शुभकामनाएं दी।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

स्कूल रेडिनेस के तहत खेल-खेल में सीखने का हुआ प्रशिक्षण

Published

on

SHARE THIS

रायपुर, 17 जुलाई 2024:- राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अंतर्गत ‘स्कूल रेडीनेस’ कार्यक्रम- ग्रेड 1 के बच्चों के लिए 3 माह का खेल आधारित शाला तैयारी के कक्षा संचालन, शासकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में वर्तमान शिक्षा सत्र हेतु पढ़ाने वाले शिक्षकों के 4 दिवसीय वर्चुअल प्रशिक्षण एससीईआरटी छत्तीसगढ़ रायपुर के संचालक, श्री राजेंद्र कुमार कटारा के मार्गदर्शन में दिया गया। बच्चे खेल-खेल में 3 माह में सीखेंगे और साथ ही उनका सर्वांगीण विकास होगा। इस प्रशिक्षण में मुख्य रूप से तीन लक्ष्य पर प्रकाश डाला गया जिस पर बच्चों के अच्छे स्वास्थ्य और खुशहाली को बनाए रखना, बच्चों में प्रभावशाली संप्रेषण बनना और बच्चों को सीखने के प्रति उत्साह और पर्यावरण से जुड़ाव की बातें कही गई है

 

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

निर्धारित मानक अनुसार काम न करने वालों पर होगी कड़ी कार्यवाही  : डॉ आशुतोष

Published

on

SHARE THIS

कोरिया : जिले में हो रहे विकास कार्यों की गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। निर्माण कार्य में लापरवाही बरतने वाले और घटिया निर्माण करने वालों पर प्रशासन की कड़ी नजर है। जिला पंचायत कोरिया के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ आशुतोष ने सभी निर्माण एजेंसी को सख्त चेतावनी जारी करते हुए कहा कि किसी भी योजना के तहत होने वाले निर्माण कार्य पूरी गुणवत्ता के साथ कराएं अन्यथा कड़ी कार्यवाही के लिए तैयार रहें। इस तरह के एक मामले में संज्ञान लेते हुए जिला पंचायत सीईओ ने निर्माण कार्य में लापरवाही बरतने वाले कार्य एजेंसी पर बेहद सख्त कार्यवाही करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। अब निर्माण एजेंसी को घटिया निर्माण कार्य तोड़कर नए सिरे से कार्य कराना होगा। यह निर्माण कार्य का मामला सोनहत जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत कैलाशपुर का है। यंहा महात्मा गांधी नरेगा योजना के अंतर्गत तीन सौ मीटर सामुदायिक नाली का निर्माण कार्य ग्राम पंचायत के द्वारा कराया जाना था। लेकिन ग्राम पंचायत ने लापरवाही बरतते हुए निर्धारित मानक के अनुसार कार्य नहीं कराया। इसी प्रकार एक अन्य तटबन्ध कार्य व स्टॉपडेम कार्य भी मनरेगा योजना के तहत ग्राम पंचायत द्वारा कराए जाने की स्वीकृति प्रदान की गई थी। लेकिन इन कार्यों में भी मानक और गुणवत्ता का ध्यान न रखते हुए निर्माण एजेंसी ने मनमाने तरीके से कार्य करा दिया। इस मामले की शिकायत प्राप्त होते ही कलेक्टर कोरिया श्री विनय कुमार लँगेह के निर्देशन में जिला पंचायत सीईओ ने तुरंत जांच टीम बनाकर मौके पर रवाना की।

जिला पंचायत में कार्यरत सहायक अभियंता ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के नेतृत्व में जांच दल ने अवकाश के दिन ही समस्त कार्यों का भौतिक परीक्षण किया और निर्माण कार्य के सेम्पल एकत्र कर लिए हैं। जांच टीम ने सभी कार्यस्थल की प्रथम दृष्टया रिपोर्ट में ही यह पाया कि नाली निर्माण, तटबन्ध निर्माण कार्य और एक स्टॉपडेम निर्माण कार्य स्वीकृति प्रावधान के अनुसार नहीं बनाए गए हैं। जांच टीम की प्रारम्भिक रिपोर्ट मिलते ही सीईओ जिला पंचायत डॉ आशुतोष चतुर्वेदी ने स्वीकृति के प्रावधानों के अनुसार कार्य न कराए जाने के कारण सभी निर्माण कार्य तोड़कर पुनः नए सिरे से सभी कार्य मानक अनुसार कराए जाने के निर्देश जारी कर दिए हैं। साथ ही उन्होंने तीन दिवस में सभी कार्यस्थलों की विस्तृत जांच रिपोर्ट भी तलब की है। जिला पंचायत सीईओ ने बताया की कार्य की निगरानी करने के लिए तकनीकी सहायक और एसडीओ भी जिम्मेदार हैं, उनका पक्ष जानने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। विस्तृत जांच के बाद यदि अन्य जिम्मेदार व्यक्तियों की लापरवाही सामने आती है तो उन पर भी कठोर कार्यवाही की जाएगी। यदि किसी जिम्मेदार के द्वारा लापरवाही बरती गई है तो उस पर आवश्यक अनुशासनात्मक कार्यवाही भी की जाएगी। उन्होंने कहा कि किसी भी स्थिति में घटिया निर्माण कार्य बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending