Connect with us

ज्योतिष

देवी देवताओं को भोग लगाने के बाद क्या घंटी बजानी चाहिए? जानें क्या कहते हैं धर्म शास्त्र

Published

on

SHARE THIS

हर किसी के घर में गरुड़ घंटी जरूर होती है। सुबह भगवान को नींद से जगाने से लेकर आरती और भोग लगाने तक घंटी जरूर बजाई जाती है। घर हो या मंदिर, भगवान को प्रसाद या भोग लगाते समय लोग घंटी जरूर बजाते हैं। बहुत से लोगों को नहीं पता होता कि भोग लगाते समय घंटी क्यों बजाई जाती है। ऐसे में आज हम आपको बताएंगे कि भोग लगाते समय घंटी क्यों बजाई जाती है। इसके अलावा भोग लगाने से पहले कितनी बार घंटी बजानी चाहिए, आइए जानते हैं ।

क्यों बजाते हैं घंटी?

पौराणिक ग्रंथ के अनुसार भगवान के सामने घंटी या घंटा वायु तत्व को जागृत करने के लिए बजाया जाता है। वायु के ये पांच मुख्य तत्व व्यान वायु, उदान वायु, समान वायु, अपान वायु और प्राण वायु आदि हैं। भगवान को नैवेद्य चढ़ाते समय घंटी पांच बार बजाई जाती है। नैवेद्य चढ़ाते समय वायु के पांचों तत्वों का स्मरण किया जाता है और घंटी या घंटा 5 बार बजाया जाता है और भगवान को भोग लगाया जाता है। पांच बार घंटी बजाने से भगवान और वायु तत्व जागृत होते हैं। जिससे हमारे द्वारा चढ़ाए गए प्रसाद की सुगंध वायु के माध्यम से भगवान तक पहुंचती है। इसके साथ ही सही संख्या में घंटी की ध्वनि बजाने से आप भी परम तत्व के नजदीक खुद को पाते हैं, ये आपकी मानसिक शांति के लिए भी बहुत आवश्यक होता है।

शरीर को लाभ

घंटी बजाने का न केवल धार्मिक महत्व है, बल्कि यह शारीरिक दृष्टि से भी लाभकारी है। घंटी बजाने से उत्पन्न ध्वनि व्यक्ति के शरीर के सभी सातों चक्रों को सक्रिय करती है। साथ ही घंटी की ध्वनि से मस्तिष्क को भी शांति का अनुभव होता है। यह ध्वनि शरीर के अंदर के सभी नकारात्मक विचारों और बुराइयों को दूर करने का काम करती है। इसलिए घंटी के ध्वनि को पवित्रतादायक माना जाता है। घंटी की ध्वनि आपमें आध्यात्मिक ऊर्जा भी भरती है। अगर आप निरंतर पूजा करते हैं और घंटी बजाते हैं तो आपके मस्तिष्क में विचार सकारात्मक रूप से प्रभावित होते हैं। जो लोग योग ध्यान करते हैं उनके लिए घंटी की ध्वनि बहुत शुभ फलदायक सिद्ध होती है।

इस समय घंटी न बजाएं

कई लोग मंदिर से निकलते समय घंटी बजाते हैं, उन्हें देखकर दूसरे लोग भी मंदिर से निकलते समय घंटी बजाने लगते हैं, जो कि गलत है। वास्तु शास्त्र के अनुसार मंदिर से निकलते समय घंटी नहीं बजानी चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से आप मंदिर की सकारात्मक ऊर्जा वहीं छोड़ देते हैं, इसलिए मंदिर से निकलते समय घंटी नहीं बजानी चाहिए। बल्कि जब आप मंदिर में प्रवेश करें या भगवान के सामने पहुंचें, तो घंटी जरूर बजाएं।

SHARE THIS

आस्था

24 एकादशियों का फल देती है निर्जला एकादशी, इस व्रत को करने से पहले जान लें सही नियम

Published

on

SHARE THIS

हिंदू धर्म में एकादशी व्रत का विशेष महत्व बताया गया है। एकादशी का व्रत भगवान विष्णु को समर्पित है। इस दिन श्री हरि की उपासना करने से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है। साल में 24 एकादशी आती हैं, जिसमें निर्जला एकादशी का व्रत सबसे अधिक महत्वपूर्ण मानी जाती है। कहते हैं कि निर्जला एकादशी का व्रत 24 एकादशियों का फल देती हैं। निर्जला एकादशी के व्रत में पानी की एक बूंद भी ग्रहण नहीं की जाती है। कठोर नियमों के कारण सभी एकादशी व्रतों में निर्जला एकादशी व्रत सबसे कठिन माना जाता है। तो आइए जानते हैं कि निर्जला एकादशी व्रत करने से पहले किन बातों का ध्यान रखना होता है।

निर्जला एकादशी व्रत 2024 तिथि और महत्व

हिंदू पंचांग के अनुसार, ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि का आरंभ 17 जून को  सुबह 4 बजकर 43 मिनट से होगी और समाप्त 18 जून को सुबह 7 बजकर 28 मिनट पर होगी। निर्जला एकादशी का व्रत 18 जून 2024, मंगलवार को रखा जाएगा।  जो लोग साल की सभी चौबीस एकादशियों का उपवास नहीं रख पा रहे हैं वे निर्जला एकादशी का व्रत रख सकते हैं। मान्यताओं के अनुसार, निर्जला एकादशी उपवास करने से दूसरी सभी एकादशियों का लाभ मिल जाता हैं।

निर्जला एकादशी व्रत नियम

निर्जला एकादशी का व्रत बिना अन्न और जल के रखा जाता है। इस व्रत में जल ग्रहण नहीं किया जाता है इसलिए इसे निर्जला व्रत कहते हैं। एकादशी व्रत के अगले दिन सूर्योदय के बाद पारण किया जाता है। एकादशी व्रत का पारण द्वादशी तिथि समाप्त होने से पहले करना अति आवश्यक है। यदि द्वादशी तिथि सूर्योदय से पहले समाप्त हो गई हो तो एकादशी व्रत का पारण सूर्योदय के बाद ही होता है। द्वादशी तिथि के अंदर पारण न करना पाप करने के समान होता है।

निर्जला एकादशी के दिन भगवान विष्णु के साथ मां लक्ष्मी की भी पूजा करें। एकादशी के दिन व्रत कथा जरूर पढ़ें। इसके अलावा निर्जला एकादशी के दिन दान करने का भी विशेष महत्व है। निर्जला एकादशी के दिन अन्न के साथ जल का दान भी करें। राहगीरों से लेकर पशु-पक्षियों के लिए पानी की व्यवस्था करें। जल का दान करने से विष्णु की कृपा प्राप्त होती है।

निर्जला एकादशी के दिन क्या नहीं करना चाहिए?

  • एकादशी के दिन तुलसी को स्पर्श करना वर्जित माना गया है। इस दिन तुलसी में जल अर्पित न करें।
  • निर्जला एकादशी के दिन तामसिक चीजों से दूर रहें।
  • निर्जला एकादशी व्रत के दिन जमीन पर सोना चाहिए।
  • निर्जला एकादशी व्रत में अन्न और जल ग्रहण नहीं किया जाता है।
  • एकादशी व्रत का पारण करने के बाद ही जल का सेवन करें।
  • निर्जला एकादशी के दिन चावल का सेवन नहीं करें और न ही बाल, नाखून और दाढ़ी नहीं कटवाना चाहिए।

SHARE THIS
Continue Reading

आस्था

राशि के अनुसार आपका दिन कैसा रहेगा और किन उपायों से इसे आप बेहतर कर सकते हैं

Published

on

SHARE THIS

आज ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि और शुक्रवार का दिन है। अष्टमी तिथि आज रात 12 बजकर 4 मिनट तक रहेगी। आज शाम 7 बजकर 9 मिनट तक सिद्धि योग रहेगा। साथ ही आज पूरा दिन पूरी रात पार कर के कल सुबह 8 बजकर 15 मिनट तक उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र रहेगा। इसके अलावाआज धूमावती जयंती है। साथ ही आज रात 12 बजकर 28 मिनट पर सूर्य मिथुन राशि मे प्रवेश करेंगे। जानिए कैसा रहेगा आपके लिए 14 जून 2024 का दिन और किन उपायों से आप ये दिन बेहतर बना सकते हैं। साथ ही जानते हैं कि आपके लिए लकी नंबर और लकी रंग कौन सा होगा।

मेष राशि-

आज आपका दिन आज ठीक-ठाक रहेगा। इस राशि की महिलाओं के लिए आज का दिन बहुत ही खास है। अपना समय शॉपिंग में बिता सकती हैं। नौकरी की तलाश कर रहे लोगों को आज किसी मल्टी नेशनल कम्पनी से जॉब के लिए कॉल आ सकता है। आज अपने आप पर विश्वास करें। इस राशि के मंत्रियों की विदेश सम्बन्धी यात्रायें हो सकती है। कुल मिलाकर आज आपका दिन अच्छा रहेगा।

  1. शुभ रंग- ग्रे
  2. शुभ अंक- 4

वृष राशि-

आज आपका दिन कॉन्फिडेंस से भरा रहेगा। किसी नए काम की शुरुआत करने पर मित्र और परिवार का साथ मिलेगा, जिससे आपका उत्साह बढ़ेगा। यात्रा से संबंधित बनाई गई योजना सफल होगी और आपको इस यात्रा के दौरान नए अनुभव मिलेंगे। लवमेट से मदद मिलेगी आज कोई निर्णय लेना आपके लिए आसान होगा। व्यापार में आज आपको ज्यादा लाभ मिलने से खुशी मिलेगी। आज बिना वजह किसी से उलझने से बचना चाहिए।

  1. शुभ रंग- गुलाबी
  2. शुभ अंक- 9

मिथुन राशि-

आज आपका दिन खुशियों से भरा रहेगा। इस राशि की महिलाएं जो कोई बिजनेस करने की सोच रही है उनके लिए आज का दिन अच्छा है। आज ऑफिस में कुछ अधिक ही काम रहेगा। आज किसी भी काम को करने में जल्दबाजी न करें। अपने बिजी शेड्यूल से थोड़ा समय ईश्वर की आराधना के लिए निकालें मन शांत रहेगा। दांपत्य जीवन में खुशियां बनी रहेगी।

  1. शुभ रंग- लाल
  2. शुभ अंक- 5

कर्क राशि-

आज के दिन भाग्य आपका साथ देगा। अगर आप नयी जमीन लेने का प्लान बना रहे हैं तो घर के बड़ों की राय जरूर लें। आज लोगों से मिल रहे साथ का सही उपयोग करेंगे। आवेश में आकर कोई भी निर्णय लेने से आज आपको बचना चाहिए। अपने समय का सदुपयोग करने से आपको लाभ होगा। संतान को शिक्षा में उन्नति मिलेगी। लवमेट के लिए दिन अच्छा रहने वाला है।

  1. शुभ रंग- मैजेंटा
  2. शुभ अंक- 8

सिंह राशि-

आज आपका दिन खुशनुमा पल लेकर आया है। आज कोई बुजुर्ग या वरिष्ठ व्यक्ति आपको सही सलाह दे सकता है। अगर आज किसी नये काम की शुरुआत करना चाहते हैं, तो आज का दिन आपके लिए अच्छा रहेगा। आज आप सकारात्मक सोच के साथ काम करेंगे तो आपको सफलता जरुर मिलेगी। आज व्यापारिक मामलों में आपकी व्यस्तता बढ़ेगी। आपकी आर्थिक स्थिति पहले से अच्छी होगी।

  1. शुभ रंग- नीला
  2. शुभ अंक- 1

कन्या राशि-

आज आपका दिन आपके लिए नई खुशियां लाया है। राजनीति से जुड़े लोगों के लिए दिन अच्छा है समाज हित में किये गये कामों की तारीफ हो सकती है। आज प्रयत्न करने से आपके रुके हुए कार्य भी समय पर

पूरा हो जायेगा। आज आप किसी कंपनी के साथ कोई बड़ी डील साइन करने में सफल होंगे। आज अपनी स्किल्स को बढ़ाने के लिए किसी अनुभवी व्यक्ति से सलाह लेंगे।

  1. शुभ रंग- बैंगनी
  2. शुभ अंक- 3

तुला राशि-

आज आपका दिन आपके अनुकूल रहने वाला है। आज आप अपने काम से जुड़ी पूरी जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करेंगे। आज कोई भी पारिवारिक निर्णय लेते समय जल्दबाजी न करें, परिवार की राय भी ले लें। आज आपकी कड़ी मेहनत से लोग प्रभावित होंगे और आपका अनुसरण करेंगे। आज आप ऑफिस के किसी काम में उलझे रहेंगे। आज आपका दांपत्य जीवन शानदार रहने वाला है।

  1. शुभ रंग- नारंगी
  2. शुभ अंक- 6

वृश्चिक राशि-

आज का दिन आपके लिए महत्वपूर्ण रहेगा। किसी बुजुर्ग महिला की सेवा का अवसर मिलेगा। आज आप हर तरह के काम निपटाने के लिए तैयार रहें। आपको सोचे हुए कामों से फायदा हो सकता है। छात्रों के लिए आज का दिन अच्छा रहने वाला है। आज जीवनसाथी आपको कोई उपहार देंगे। स्पोर्ट से जुड़े लोगों के लिए आज का दिन अच्छा रहने वाला है।

  1. शुभ रंग- पीला
  2. शुभ अंक- 4

धनु राशि-

आज आपका दिन लाभदायक रहेगा। आज आपको पहले किए हुए मेहनत का फल जरूर मिलेगा। आज आपके जीवन में सकारात्मक बदलाव आयेगा। फिल्म जगत से जुड़े लोगों के लिए आज का दिन सफलता दिलाने वाला साबित होगा। छात्रों को थोड़ी और मेहनत करने कीजरूरतहै। आज आप घर के जरूरत का सामान खरीदने मार्केट जायेंगे। वकील वर्ग के लिए आज का दिन अच्छा रहने वाला है।

  1. शुभ रंग- मैरून
  2. शुभ अंक- 6

मकर राशि-

आज आपका दिन अच्छा रहेगा। आज आपको आय के कई मौके मिलेंगे, किसी भी मौके को हाथ न जाने दें। आज आपको किसी से उपहार मिल सकता है, जिससे पूरे दिन आपका मन प्रसन्न रहेगा। इस राशि के छात्रों को करियर में आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। आज आप सही योजना के तहत अपने करियर में बदलाव लायेंगे। नवविवाहित दंपत्ति आज साथ में घूमने जाएंगे।

  1. शुभ रंग- भूरा
  2. शुभ अंक- 8

कुंभ राशि-

आज का दिन शानदार रहने वाला है। इस राशि के इंजीनियर्स के लिए आज का दिन फायदा देने वाला है। आज कोई भी कार्य करते समय आपको धैर्य रखना होगा। आज परिवार से जुड़ी किसी समस्या का समाधान मिलने से आपको राहत मिलेगी । व्यापार को आगे बढाने में पिता का सहयोग मिलेगा। सेहत के प्रति आपको सतर्क रहना होगा। आज आपका दांपत्य जीवन अच्छा रहने वाला है।

  1. शुभ रंग- हरा
  2. शुभ अंक- 5

मीन राशि-

आज आपका दिन फेवरेबल रहेगा। नौकरी कर रहे लोगों को पदोन्नती के अवसर मिलेंगे। आज ऑफिस में आपको सम्मनित किया जाएगा। काम की गति तेज करने का कोई नया प्लान बनायेंगे। आज परिवार वालों के साथ घर पर स्वादिष्ट डिनर का आनंद उठाएंगे। आज आपके जीवन में चल रही सारी परेशानियों का हल निकल जाएगा। आज अचानक धन लाभ होने से आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत बनेगी।

  1. शुभ रंग- पिच
  2. शुभ अंक- 9

SHARE THIS
Continue Reading

आस्था

गंगा दशहरा पर बन रहा है दुर्लभ संयोग, इस दिन इन मंत्रों का जरूर करें जाप, सभी पापों से मिलेगी मुक्ति

Published

on

SHARE THIS

ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि के दिन गंगा दशहरा का पर्व मनाया जाता है। इस दिन गंगा स्नान का विशेष महत्व है।  गंगा दशहरा के दिन गंगा नदी में स्नान करने से व्यक्ति द्वारा अनजाने में हुई गलतियों के पश्चाताप से छुटकारा मिलता है और शुभ फलों की प्राप्ति होती है। लेकिन अगर कोई व्यक्ति गंगा नदी में स्नान करने न जा सके तो वह किसी अन्य पवित्र नदी में गंगा मैय्या का ध्यान करता हुआ स्नान कर सकता है और अगर आपके लिए यह भी संभव न हो तो अपने घर में ही नहाने के पानी में थोड़ा-सा गंगाजल मिलाकर, उससे स्नान करें और दोनों हाथ जोड़कर मन ही मन गंगा मैय्या को प्रणाम करें। इस साल गंगा दशहरा पर कई शुभ योग का संयोग बनने जा रहा है। तो आइए जानते हैं कि इस दिन क्या करने से शुभ फलों की प्राप्ति होगी।

गंगा दशहरा का महत्व

गंगा दशहरा के दिन गंगा मैय्या का अविर्भाव पृथ्वी पर हुआ था। आप लोगों को पता ही होगा कि राजा भागीरथ की कठिन तपस्या के कारण ही गंगा मैय्या का पृथ्वी पर आगमन संभव हो पाया था। हालांकि पृथ्वी के अंदर गंगा के वेग को सहने की शक्ति न होने के कारण भगवान शिव ने उन्हें अपनी जटाओं के बीच स्थान दिया, जिससे धारा के रूप में पृथ्वी पर गंगा का जल उपलब्ध हो सके। गंगा दशहरा के दिन गंगा

मैय्या के साथ-साथ भगवान शिव की उपासना का भी महत्व है।

गंगा दशहरा के दिन बन रहे हैं ये योग

हिंदू पंचांग के अनुसार, इस साल गंगा दशहरा का 16 जून 2024 को मनाया जाएगा। गंगा दशहरा के दिन चित्रा नक्षत्र और पंच महायोग का संयोग बन रहा है। गंगा दशहरा पर अमृत सिद्धि, मानस, वरीयान, सर्वार्थ सिद्धि योग और रवि योग बन रहा है। ये अत्यंत शुभ और फलदायी माना जाता है। इस योग में गंगा स्नान और पूजा पाठ करने से मां गंगा की कृपा प्राप्त होती है और सभी तरह के पापों से मुक्ति मिलती है।

गंगा स्नान के समय इन मंत्रों का करें जाप

  • ‘ॐ नमो भगवति हिलि हिलि मिलि मिलि गंगे माँ पावय पावय स्वाहा’
  • ‘ॐ नमो गंगायै विश्वरुपिणी नारायणी नमो नम:’
  • ‘गंगे च यमुने चैव गोदावरी सरस्वति। नर्मदे सिन्धु कावेरी जलऽस्मिन्सन्निधिं कुरु’
  • ‘ॐ नमो गंगायै विश्वरुपिणी नारायणी नमो नम:’

 

 

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending