Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

चुनाव को लेकर गरमाई सियासत: PM मोदी का आज छग दौरा, कांग्रेस ने ‘दागे’ 36 सवाल, कहा -मोदी कब तोड़ेंगे चुप्पी

Published

on

SHARE THIS

प्रधानमंत्री मोदी आज  बिलासपुर आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव होने में महज ढाई महीने ही शेष बचे हैं। ऐसे में बीजेपी और कांग्रेस केंद्रीय नेता छत्तीसगढ़ पर लगातार फोकस किए हुए हैं। दोनों पार्टियों के दिग्गज नेता प्रदेश का दौरा कर रहे हैं। दोनों दलों के नेता पूरी तरह से चुनावी समर में कूद चुके हैं।

इसी बीच प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद दीपक बैज ने कहा  कि प्रधानमंत्री सिर्फ विपक्ष को कोसते है। उनके पास अपनी उपलब्धियों के बारे में कुछ बोलने को है ही नहीं। महंगाई, बेरोजगारी, किसानों की आय, कालाधन के बारे में प्रधानमंत्री चुप रहते है। प्रधानमंत्री के द्वारा भाजपा के द्वारा किये गये वायदों से ही कुछ सवालों के जवाब जनता जानना चाहती है। प्रधानमंत्री जवाब दें-

1 छत्तीसगढ़ की यात्री ट्रेनों को लगातार रद्द क्यों किया जा रहा है?
2 छत्तीसगढ़ के चावल का कोटा 86 लाख मीट्रिक टन से घटाकर 61 लाख क्यों किया?
3 छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा मांगे गये बारदाने की पूरी स्वीकृति क्यों नहीं दे रहे?
4 छत्तीसगढ़ के रमन सिंह के घोटाले 36000 करोड़ के नान, 6200 करोड़ के चिटफंड घोटाले की जांच केंद्र सरकार क्यों नहीं करवाती है?
5 अच्छे दिन कब आयेंगे ?
6 किसके अकाउंट में 15 लाख जमा किए ?
7 महंगाई कब कम होगी ?
8 पेट्रोल-डीजल के दाम कब कम होंगे ?
9 2 करोड़ बेरोजगारों को रोजगार क्यों नहीं मिला ?
10 चीन को लाल आंख कब दिखाएंगे ?
11 नोटबंदी से जनता को और सरकार को क्या मिला ?
12 370 हटने से कश्मीर में कितनो ने प्लॉट खरीदा और कितनी कंपनी ने प्लांट खड़े किए ?
13 किसानों की आय दुगनी हुई क्या ?
14 बेटियां सुरक्षित क्यो नही ?
15 शिक्षा संस्थानों की हालत खस्ता क्यो ?
16 जीएसटी से व्यापारियों ने और सरकार ने क्या पाया, क्या खोया ?
17 100 स्मार्ट सिटी का वादा था, कितने स्मार्ट सिटी बने ?
18 सांसदों द्वारा गोद लिए गए गांव में से कितने गांव का विकास हुआ और कितने गांव अभी भी गोदी में बैठे है ?
19 सरकारी संपत्ति को बेच-बेच कर कब तक देश चलेगा ?
20 पुलवामा में सेना के जवानों की हत्या का जिम्मेदार कौन ?
21 स्वच्छ भारत के तहत अभियान में करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे है, कितने शहर स्वच्छ हुए ?
22 9 साल में ईडी और आईटी की रैड कितने भाजपाई नेताओ के ऊपर पड़ी ?
23 2014 से पहले आपके पास भ्रष्टाचारियों की फाइल होती थी, उसमे से कितने कांग्रेसियों पर कार्यवाही करते हुए जेल में भेजा ?
24 बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा दिया था, पर बेटियां नेताओ की वजह से प्रताड़ित होकर दिल्ली में धरना दे रही थी आरोपी भी भाजपाई सांसद था उस सांसद पर कार्यवाही क्यों नहीं हुई?
25 नोटबंदी के बाद आतंकवाद खत्म हो जाएगा ऐसा आपने कहा था, क्या वो हुआ? क्या कश्मीर में भारत के जवान शहीद नहीं हो रहे ?
26 आपकी सरकार में किसानों की आत्महत्या बंद क्यों नहीं हुई?
27 2022 में हर बेघर को अपना घर देने का वादा था, वादा कितना पूरा हुआ ?
28 नोटबंदी में कितने भाजपाई नेता नोट बदलने के लिए लाइन में खड़े थे? कितनों के पास आय से अधिक कालाधन मिला?
29 विदेश में जमा काला धन कितने भारतीयों का है? किसका है? वापस कब लायेंगे ?
30 आपकी हर एक विदेश यात्रा में कितना खर्च हुआ ?
31 उज्जवला योजना के तहत कितने लाभार्थियों को मुफ्त सिलेंडर दिया गया? उनमें से कितनों ने अपने पैसे से रिफिल करवाया?
32 पकौड़ा, पान, पंचर उद्योग के तहत कितने युवाओं को रोजगार मिला?
33 5 ट्रिलियन इकोनॉमी की बाते की थी, आज अर्थव्यवस्था बदहाल क्यों हैं?
34 2000 की नोट आपकी सरकार ने ही लॉन्च की थी, ऐसा क्या हुआ की कम समय पर ही बंद करने का निर्णय लेना पड़ा?
35 डॉलर के मुकाबले रुपये का हाल बेहाल क्यों हैं?
36 मणिपुर में भी डबल इंजिन की सरकार है फिर दंगे क्यों भड़के? मणिपुर में कुछ करते क्यों नहीं?

प्रधानमंत्री जी पूरा भरोसा है आप इन सवालों का जवाब नहीं देंगे लेकिन जनता के इन सवालों को हम उठाते रहे है आगे भी उठाते रहेंगे।

आय से अधिक संपत्ति की जांच की शिकायत

रमन सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की जांच की शिकायत भी पीएमओ में हुई है। केंद्र में भाजपा की सरकार होने के कारण रमन सिंह के घोटालों की जांच नहीं हो रही है। राज्य की जनता का मानना है कि भाजपा का नेता होने के कारण रमन सिंह को केंद्र सरकार का संरक्षण मिला हुआ है। देश भर में विपक्षी दलों की सरकारों, विपक्ष के नेताओं के ऊपर बिना किसी ठोस कारण के केंद्रीय एजेंसियां जांच के लिये पहुंच जाती है।

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

श्रीरामलला दर्शन के इच्छुक भक्त कर रहे हैं आवेदन,अयोध्या धाम जाने के लिए निकाय एवं ग्राम पंचायतों में ले रहे हैं आवेदन

Published

on

SHARE THIS

कोरिया 28 फरवरी, 2024 : छत्तीसगढ़ सरकार के बहुप्रतिक्षित श्रीरामलला दर्शन (अयोध्या धाम) योजना का लाभ लेने के लिए नगर पालिका परिषद, बैकुण्ठपुर, शिवपुर-चरचा तथा जिले के ग्राम पंचायतों में आवेदन जमा करना शुरू हो गया है। गत दिनों कलेक्टर श्री विनय कुमार लंगेह ने कलेक्ट्रेट सभागृह में अधिकारियों की बैठक लेकर छत्तीसगढ़ शासन के पर्यटन विभाग द्वारा योजना के बारे में दी गई दिशा-निर्देश के संबंध में जानकारी साझा की थी। आवेदन के साथ आवश्यक दस्तावेज करना होगा जमा जानकारी के मुताबिक श्रीरामलला दर्शन (अयोध्या धाम) जाने के इच्छुक भक्तगण नगर पालिका परिषद, बैकुण्ठपुर, शिवपुर-चरचा तथा जिले के ग्राम पंचायतों में पर्यटन विभाग द्वारा जारी पांच पृष्ठों के आवेदन को जमा करने पर पावती दी जाएगी। जनपद पंचायत, सोनहत के सीईओ ने बताया कि ग्राम पंचायतों में कोटवारों के माध्यम से इस संबंध में मुनादी कराई गई है। आवेदन स्पष्ट हिंदी भाषा में ही भरे जाएंगे। साथ ही 3.5 बाई 3.5 सेमी साइज की नवीनतम रंगीन फोटो प्रथम पृष्ठ पर लगाना होगा साथ ही राशन कार्ड, ड्रायविंग लाइसेंस, विद्युत देयक, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड या फिर शासन द्वारा स्वीकार्य कोई अन्य साक्ष्य जमा करना होगा।

प्रथम चरण में इन भक्तों को मिलेगी प्राथमिकता जिले के इच्छुक आवेदनकर्ता में प्रथम चरण में 55 वर्ष अथवा उससे अधिक उम्र के व्यक्तियों को प्राथमिकता के साथ चयन किया जाएगा। इस योजना में भाग लेने वाले की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष व अधिकतम 75 वर्ष होगा। 75 प्रतिशत हितग्राही ग्रामीण क्षेत्रों से तथा 25 प्रतिशत शहरी क्षेत्र के होंगे। चिकित्सक प्रमाण देना होगा यात्रियों के मेडिकल सर्टिफिकेट के अभाव में कोई यात्रा हेतु यात्री रवाना नहीं हो सकेगा। ब्लड ग्रुप, ब्लड प्रेशर, अस्थमा, एलर्जी, मधुमेह आदि का भी उल्लेख करना होगा ताकि यात्रा के दौरान मेडिकल सहायता की आवश्यकता होने पर मदद की जा सके। यात्री अपने स्वास्थ्य संबंधी दवाइयां स्वयं रखेंगे। यात्रा हेतु चिकित्सक द्वारा शारीरिक व मानसिक रूप से सक्षम होने का प्रमाण देंगे।

मेडिकल टेस्ट में अनफिट पाए जाने गए यात्रियों के स्थान पर प्रतीक्षा सूची में शामिल व्यक्तियों को भेजने की व्यवस्था की जाएगी। पर्यटन विभाग द्वारा जारी निर्देश में बताया गया है कि श्रीरामलला दर्शन (अयोध्या धाम) के तहत जाने वाले या़त्री अपने साथ महंगे आभूषण, गहने आदि ले जाने पर प्रतिबंध होगा। यात्रियों को ठंड से बचने के लिए गर्म कपड़े रखेंगे तथा सामान की सुरक्षा स्वयं करेंगे। तीर्थ स्थल पर जाने वाले यात्रियों को मर्यादा के अनुसार आचरण करेंगे तथा वेशभूषा शालीन एवं पारंपरिक रखेंगे। श्री रामलला दर्शन योजना के तहत यात्रा की तिथियां और जरूरी जानकारी समय से पहले यात्रियों को दी जाएगी। योजना के क्रियान्वयन हेतु अपर कलेक्टर श्री अरूण मरकाम को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया तो डिप्टी कलेक्टर श्री उमेश पटेल को सहायक नोडल अधिकारी बनाया गया है।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

कृषि मंत्री एक मार्च को जाएंगे अयोध्या धाम,प्रभु श्री राम लला का सपरिवार करेंगे दर्शन

Published

on

SHARE THIS

रायपुर, 28 फरवरी 2024 : कृषि मंत्री राम विचार नेताम अयोध्या में प्रभु श्री राम लला का दर्शन कर जन्मदिन को अवस्मरणीय बनाने के लिए सपरिवार अयोध्या जाएंगे और छत्तीसगढ़ की सुख-समृद्धि के लिए प्रभु से आर्शीवाद लेंगे। उन्होंने कहा है हमारे आराध्य प्रभु श्री राम अयोध्या में 500 सालों बाद जन्म स्थान पर पुनः विराजमान हुए हैं। प्रभु श्री राम का ननिहाल होने के कारण छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए दोहरी खुशी का मौका है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के हाथों प्रभु श्री राम लला की प्राण प्रतिष्ठा से हर भारतीय गौरान्वित हुआ है।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

रेत की भंडारण कर माफिया मालामाल शासन को लाखों की चपत, जिम्मेदार अधिकारी मौन

Published

on

SHARE THIS

 

अम्बागढ़ चौकी : नवीन ज़िला मोहला, मानपुर, अम्बागढ़ चौकी स्थानीय अधिकारियों के नाक के नीचे रेत की अवैध उत्खनन कर इन दिनों जोरो जोरो से रेत की भंडारण किया जा रहा है। रेत घाट बंद होने और बारिश से पहले रेत माफिया काफी मात्रा में रेत जगह जगह भंडारण किया है। मतलब रेत उत्खनन की पाबंदी के बाद भी नदी का दोहन अच्छी खासी तरह से किया जा रहा है । बावजूद इसके जिला खनिज विभाग अधिकारी मौन दिखाई पड़ रहे हैं। जिसके चलते शासन को राजस्व में लाखों का नुकसान उठाना मजबूरी हो गया है ।इसके अलावा आम लोगों में भी अवैध उत्खनन भार पड़ता है क्योंकि डबल ट्रिपल दाम पर रेती लेना आम बात है। रेत कारोबारियों की मानें तो वर्तमान स्थिति पर मुख्यालय में एक ट्रिप रेती पहुंचाने के लिए 6500 – 6000 तक लिया जा रहा है । इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि मुख्यालय के बाहर रेती की कीमत क्या हो सकती है। तभी छोटे से लेकर बड़े कारोबारी नियम को ताक में रखकर रेत का भंडारण कर रहे हैं। ताकि रेत निकासी पाबंदी का अच्छी तरह लाभ उठाया जा सके ।

यही वजह है कि रेत घाट से अभी भी रेत निकासी धड़ल्ले से किया जा रहा है। जिससे जनप्रतिनिधियों के अलावा विभागीय अधिकारी भी अच्छी तरह अवगत हैं। लेकिन दुर्भाग्य की बात है आज तक अवैध कारोबारियों के खिलाफ कोई बड़ी कार्यवाही नहीं हो पाया। यही वजह है कि इस बार आम लोगों के अलावा किसानों में भी अवैध उत्खनन को लेकर रोष देखा जा रहा है। क्योंकि नदी की दोहन करने के साथ आजू बाजू जमीन को भी भारी नुकसान पहुंचाने एवं सड़क की हालत काफी ज्यादा खराब हो रही है ।यहां बताना लाजमी होगा कि पूरनापानी संचालित रहा जैसे बरसात के दौरान उत्खनन पर पाबंद लगा दिया गया है । मगर, सांगली, थूहड़बरी,ईटागुटा सिर्रभाठा सेमरबाधा, धानापयली, कान्हे, सहित कई नदी इलाकों से आय दिन 20 से 50 माजदा रेत निकाला जा रहा है।

खासकर रात के अंधेरे का सहारा लेकर रेत माफिया रेत निकाल रहे है चौकी के ह्रदय स्थल मेरेगाव के पास बहुत बड़ा रेत का भंडार है और जगह जगह रेत की भंडारण कर रहे है। और पूरी वस्तु स्थिति से अवगत अधिकारी हाथ पर हाथ धरे नजर आ रहे हैं। ग्रामीणों की मानें तो वर्तमान की तरह आने वाले दिनों तक रेत का निकासी किया जाता है। तो नदी किनारे काफी ज्यादा कटा व होगा जिससे नाराज किसान भी अब खुलकर रेत माफियाओं के खिलाफ मोर्चा खोल कलेक्टर से शिकायत करने की बात कह रहे हैं। क्योंकि चंद पैसा कमाने के लिए रेत कारोबारी पर्यावरण की परवाह किए बिना लगातार नदी का दोहन कर रहे है। बावजूद इसके जिम्मेदार अधिकारियों के कानों में जूं तक नहीं रेंग रहा है।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending