Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

कोरोना महामारी में भी मजदूरों के चेहरों पर बिखरी मुस्कान, जिला प्रशासन के आश्रय स्थल पर रह रहे मजदूर हैं बेहद खुश ,दे रहे हैं सरकार को धन्यवाद

Published

on

SHARE THIS

एस एच अजहर दंतेवाड़ा 15 अप्रैल 2020। कोरोना वायरस-कोविड-19 वैश्विक महामारी के संकट काल में लॉकडाउन में विभिन्न राज्यों के मजदूर जिले में फंस गए थे, जिला प्रशासन दंतेवाड़ा ने तत्काल प्रभाव से कई राहत शिविरों का निर्माण करा वहां मजदूरों को आश्रय दिया, ऐसी विकट परिस्थिति में उनके रहने ,खाने सहित स्वास्थ्य तथा अन्य सुविधाएं मुहैया कराई गयी, जहां वे अपने घर से दूर होकर भी सुरक्षित और खुशहाल महसूस कर रहे हैं। प्री मेट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास दंतेवाड़ा में आश्रय लिए हुए बुबनपल्ली जिला मलकानगिरी के भीमा, सिंगा ,हिरमा और तम्मया नाम के मजदूर सेनेटरिंग का काम करने यहां आए थे पर लॉकडाउन के कारण वापिस ओडिशा नहीं जा पाए, जो आश्रय स्थल पर रह रहे हैं साथ ही मुज्जफरनगर उत्तरप्रदेश के रहने वाले जावेद खान अपने साथी फारुख और गुलबार के साथ भी इस आश्रय स्थल में रह रहे हैं, इनका कहना है आंखों में सपनों की जगह अभी आंसुओं ने ले ली है, वह परेशान हैं, हैरान हैं, सोच नहीं पा रहे हैं कि हम कैसे अपने घर को चलाएंगे, अभी काम करने के दिनों में हम यहां अपने घर अपने गांव अपने प्रदेश से मीलों दूर हैं, पर दिल में सुकून इस बात का हैं कि विश्वव्यापी कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी की समस्या में भी हम यहां दंतेवाड़ा में पूरी तरह से सुरक्षित हैं यहां की प्रशासन हमारी बहुत अच्छे से देखभाल कर रही है, उन्होंने माननीय मुख्यमंत्री श्री भुपेश बघेल तथा जिले के कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा को तहे दिल से धन्यवाद देते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में आप हमारे लिए विघ्नहर्ता के समान है, उन्हें आशा ही नहीं पूरा विश्वास भी हैं कि संकट की यह घड़ी जल्द ही बीत जाएगी और फिर से वह अपने घरों को लौट पाएंगे और अपने परिवार से मिल पायेंगे।

भिन्न-भिन्न राज्यों के मजदूर को मिला आश्रय

कोरोना वायरस कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण लॉकडाउन में काफी बड़ी संख्या में मजदूर दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं ऐसी भयावह स्थिति में वह अपने घर-परिवार से दूर हैं, यह बात उन्हें बेहद खल रही है परंतु से कोरोना के खिलाफ लड़ने में प्रशासन के साथ हैं, दंतेवाड़ा जिले में उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा राज्यों के मजदूर सेनेटरिंग, मिस्त्री, निर्माण कार्य सहित अन्य कार्यों के लिये आये हुए थे जो लॉकडाउन की वजह से वापस अपने राज्य नहीं जा पाए, जिनमें से 07 मजदूर दंतेवाड़ा में, 30 मजदूर बचेली के राहत शिविर में तथा 32 ठेकेदार के संरक्षण में हैं, जहाँ उनके रहने, खाने की पूरी व्यवस्था की गई है, इनके आश्रय स्थल पर बकायदा सोशल डिस्टेंस का पूरा-पूरा ध्यान रखा गया है।

महाराष्ट्र के बंजारों को भी शरण:

ऐसा नहीं हैं कि केवल आश्रय स्थल पर ही अन्य राज्यों के मजदूर शरण लिए हुए हैं रह रहे हैं, महाराष्ट्र से आए 188 बंजारो के लिए भी जिला प्रशासन ने पूरी व्यवस्था की है, जिला प्रशासन की ओर से उनके रहने के लिए टेंट की व्यवस्था की गई है साथ ही उनके खाने के लिए जिला खाद्यान्न बैंक से चावल, दाल, मसाले सहित अन्य दैनिक आवश्कता की वस्तुयें प्रदाय की जा रही है, इनके स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखते हुए समय-समय पर स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया, साथ ही सभी की जरूरतों को ध्यान में रख कर हर सम्भव मदद की जा रही है।

अन्य को भी दिया जा रहा राशनः

जिले के जिन जरूरतमंदों के पास राशनकार्ड नहीं है उन्हें भी जिला प्रशासन के द्वारा अनाज का वितरण किया जा रहा है, अब तक जिले में 455 निराश्रित, गरीब, मजदूर को गर्म पका हुआ भोजन कराया गया है, साथ ही 4159 जरूरतमंद लोगों को निःशुल्क राशन का भी वितरण किया गया, जिले के कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा स्वयं इन राहत शिविरों का समय-समय पर निरीक्षण कर रहें हैं, कलेक्टर श्री वर्मा ने तहसीलदार, सीएमओ की अगुवाई में बकायदा टीम बनाकर सभी फसें हुए मजदूर, आश्रयहीन लोगों की पहचान कर उन्हें सारी सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं।

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

राइस मिल में भीषण आग, मौके पर दमकलकर्मी मौजूद

Published

on

SHARE THIS

बलरामपुर :  राइस मिल में भीषण आग लगने की खबर आई है. बरियों चौकी क्षेत्र के ककना की शांति राइस मिल में भीषण आग लगी है. मिली जानकारी के अनुसार शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगने की संभावना जताई जा रही है. आग लगने के कारण धान से भरी बोरी और खाली बोरी जलकर खाक हो गई. आग को काबू करने के लिए अंबिकापुर से फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची है और आग पर काबू करने की कोशिश की जा रही है। बलरामपुर जिले के एनएच-343 पर ककना गांव स्थित शांति राइस मिल में रविवार दोपहर को भीषण आग लग गई। जिससे लाखों का धान और बारदाना जलकर खाक हो गया। शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगना बताया जा रहा है। अंबिकापुर, बलरामपुर और सूरजपुर से फायर ब्रिगेड की पांच टीम आग बुझाने में जुटी है।

लेकिन शाम तक आग पर काबू नहीं पाया जा सका है। सबसे पहले, आग की लपटें और धुआं उठते देख कर्मचारियों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की। कुछ ही देर में आग धान और बारदाने में फैल गई। धान के बड़े हिस्से को बचाने में टीम जुटी रही। शांति राइस मिल योगेंद्र अग्रवाल की बताई जा रही है। आग बुझाने के लिए दमकल कर्मियों को जूझना पड़ रहा है। अंबिकापुर से फायर ब्रिगेड की तीन टीम, बलरामपुर और सूरजपुर से एक-एक टीम पहुंची है। आसपास के लोगों ने भी सहयोग करते हुए पानी की व्यवस्था की। जहां आग लगी है, उसके बगल में ही बोरों में धान का बड़ा ढेर है। जिससे लाखों के नुकसान की आशंका है। शाम तक फायर ब्रिगेड की टीमें आग पर काबू पाने की कोशिश में जुटी है। राजपुर एसडीएम, तहसीलदार सहित पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं। आग पर जल्द काबू पा लिए जाने की उम्मीद जताई गई है।

 

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

अनिल टुटेजा को कोर्ट ने एक दिन के लिए जेल भेजा

Published

on

SHARE THIS

रायपुर :  शराब घोटाले मामले में राजधानी रायपुर के विशेष न्यायाधीश ने रिटायर्ड आईएएस अनिल टुटेजा को एक दिन के न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया है। सोमवार को पुन: न्यायालय में पेश किया जाएगा और ED की टीम की रिमांड की मांग करेगी।शराब घोटाला केस में नई ECIR दर्ज होने के बाद अब ED की टीम एक्शन मोड पर आ गई है। प्रवर्तन निदेशालय ने रिटायर्ड IAS अनिल टुटेजा और उनके बेटे यश टुटेजा को हिरासत मे लिया है। साथ ही 2 बड़े शराब कारोबारियों और डिस्टलर्स को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई है। सुबह ED ने गिरफ्तारी के बाद टुटेजा को कोर्ट में पेश किया। वहीं, बेटे को छोड़ दिया है।

छत्तीसगढ़ में शराब घोटाला केस में 8 अप्रैल को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ED की ECIR को सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया था। इसके साथ ही अनिल टुटेजा और उनके बेटे यश समेत 6 आरोपियों को राहत मिली थी। लेकिन, सुप्रीम कोर्ट के फैसले के 2 दिन बाद ही इस केस में EOW की FIR को अधार बनाते हुए प्रवर्तन निदेशालय ने नई ECIR दर्ज की थी। बता दें कि नई ECIR दर्ज होने के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय अगले एक सप्ताह में शराब घोटाला केस से जुड़े लोगों पर एक्शन ले सकता है। जानकारी के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय ने आबकारी केस में नए सिरे से जांच शुरू कर दी है। इस दौरान शराब कारोबारियों और अधिकारियों की गिरफ्तारी हो सकती है।

 

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

आशीष सिंह बने मण्डल संयोजक

Published

on

SHARE THIS

सुरेश मिनोचा:मनेंद्रगढ़/एमसीबी : भारतीय जनता पार्टी जिला- मनेन्द्रगढ़- चिरमिरी-भरतपुर के जिलाध्यक्ष अनिल केशरवानी की सहमति से मण्डल मनेन्द्रगढ़ के प्रभारी संजय सिंह की अनुशंसा पर आशीष सिंह अधिवक्ता को भाजपा मण्डल मनेन्द्रगढ़ का “मण्डल संयोजक” नियुक्त किया गया है। यह नियुक्ति तत्काल प्रभावशील होगी। उक्ताशय की जानकारी भाजपा मीडिया प्रभारी संजय गुप्ता ने दी।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending