Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

*पलारी के दर्जनों ग्रामों में हो रहा है, अवैध ईट भट्ठे का संचालन, खनिज विभाग के अधिकारी मौन*

Published

on

SHARE THIS

हेमंत बघेल संवाददाता पलारी
पलारी विकासखंड अंतर्गत दर्जनों गांव में अवैध र्इंट भटठे का संचालन किया जा रहा है। क्षेत्र में राजस्व और खनिज विभाग की मेहरबानी व अनदेखी के चलते क्षेत्र में अवैध ईंट भटठे का संचालन जोरों पर है जबकी ईट बनाने के लिए पर्यावरण विभाग से अनुमति लेना जरूरी है। अनुमति के बगैर ईंट बनाना गैरकानूनी है लेकिन क्षेत्र में ऐसे सैकड़ों छोटे-छोटे भटठे का संचालन अवैध रूप से किया जा रहा है। इससे ना सिर्फ पर्यावरण को नुकसान हो रहा है, बल्कि राजस्व की भी हानि हो रही है एवं पानी मिट्टी व राखड़ का जमकर इस्तेमाल किया जा रहा है। जिसके कारण लगातार भू-जल स्तर गिरता जा रहा है। जिले के विभिन्न विकासखंड में भी ईट भटठे का अवैध रूप से संचालन किया जा रहा है ।ईट बनाने वाले कई मध्यप्रदेश से तो कई क्षेत्र के लोग है। जो बिना अनुमति के धडल्ले से अवैध ईट का निर्माण कर रहे है। वही सभी ईट संचालन करने वालों से पूछा गया तो उनके पास कोई जवाब नहीं है। बाहर से आये ईट बनाने वाले पाड़े का कहना है कि हम यहां कमाने खाने आये है और आज तक किसी भी अधिकारी यहाँ चेक करने नहीं आया और न कुछ जानकारी मांगी है। इस तरह की बदहाली आने वाले दिनों में खेतों की उर्वरक शक्ति खत्म हो जाएगी। जहाँ बिना अनुमति के अवैध ईट निर्माण कर रहे है जिनकों अधिकारियों की डर नहीं और डर भी कैसे होगा खनिज विभाग के साथ राजस्व विभाग चूप्पी साधी बैठी है।

*नियम की उड़ा रहे हैं धज्जियां*

वायु को प्रदूषित करने और जमीन की उर्वरा शक्ति को कम करने में ईट भटठे अहम भूमिका निभा रहे हैं। भटठे प्रदूषण ना फैलाएं इसके लिए उनके संचालक का नियम काफी सख्त रखा है। ग्रीन ट्रिब्यूनल एनजीटी ने बगैर पर्यावरण सर्टिफिकेट के ईंट भट्टे का संचालन पर रोक लगा रखी है। इसके बावजूद भटठे संचालक ना पर्यावरण की चिंता कर रहे हैं और ना ही सामाजिक सरोकार का निर्वहन किया जा रहा है। विकास खंड स्तर से जिला स्तर तक के अधिकारी की उदासीनता इन्हें संदेह के घेरे में खड़ा कर रहे हैं।

*क्या है नियम*
ईंट भट्ठा आबादी क्षेत्र से 200 मीटर दूर होना चाहिए। खनन के लिए खनन विभाग की अनुमति जरूरी पर्यावरण लाइसेंस और प्रदूषण विभाग से एनओसी जारी होना चाहिए। ईट भटठे चलाने के लिए जिला पंचायत प्रदूषण विभाग और पर्यावरण विभाग से अनुमति लेना आवश्यक होता है और प्रदूषण का मानक भी तय होता है। लेकिन जिला के अधिकारों का अपना ही कानून और नियम है जिसे साफ जाहिर होता है कि अवैध ईंट भटठे संचालक और अधिकारी की मिली भगत से सारा खेल खेला जा रहा है। खनिज विभाग के साथ राजस्व विभाग चूप्पी साधी बैठी है। फिलहाल अभी पर्यावरण विभाग एनओसी नहीं दे रही हैं।

आपके माध्यम से जानकारी प्राप्त हुआ है, आगे जांच करा कर उचित कार्यवाही करेंगे, जिला खनिज अधिकारी, एम. चंद्रशेखर*

हेमंत बघेल संवाददाता पलारी

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

पुराना पुल धंसा अनदेखे हादसे को दे रहा न्योता

Published

on

SHARE THIS


रिपोर्टर मुन्ना पांडेय,लखनपुर+ सरगुजा  : राष्ट्रीय राजमार्ग 130 में ग्राम जूनाडीह के समीप चुल्हट नदी में बने पुराने पुल के एक किनारे से धंस जाने से भयानक हादसा होने की संभावना बढ़ गई है। क्षति ग्रस्त पुल एकं अनदेखे भयानक हादसे को न्योता दे रहा है । पुल के धंस जाने से अम्बिकापुर बिलासपुर मुख्य मार्ग में चलने वाहनों की फजीहत बढ़ गया है। दरअसल साल 1972-73 में तकरीबन 56 वर्ष पहले बनाया गया यह पुल काफी जर्जर हो चुका है। लखनपुर एरिया में राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो चुका है। लेकिन राष्ट्रीय राजमार्ग ठेका कम्पनी ने इस पुराने पुल को खुद के हाल पर जस का तस छोड़ दिया है।

आज़ सूरते हाल ऐसा है कि पुल अपने आप चटकने धसकने लगा है। यदि क्षति ग्रस्त पुल पर समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो तय है कि भयानक दुर्घटना होगा। आसपास के रहवासियों ने पुल को लेकर शासन प्रशासन तथा राष्ट्रीय राजमार्ग ठेका कम्पनी का ध्यानाकर्षण कराया है। ताकि समय रहते हैं पुल में सुधार कार्य कराया जा सके।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

बिलासपुर : वन्य प्राणियों के अवशेष के साथ 5 आरोपी गिरफ्तार

Published

on

SHARE THIS

बिलासपुर :  वनमंडल बिलासपुर व अचानकमार टाइगर रिजर्व की संयुक्त टीम ने पेंगोलिन की खाल, हड्डी और तेंदुए के दांत की बिक्री करने के लिए घूम रहे पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपी कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिए गए हैं। वन विभाग को खबर मिली कि कोटा में सीवी रामन यूनिवर्सिटी के पास कुछ लोग वन्य जीवों के खाल व हड्डियों लेकर रुके हुए हैं और ग्राहक का इंतजार कर रहे हैं। वन विभाग की संयुक्त टीम ने पहुंचकर अर्टिका कार में सवार मुंगेली जिले के खुड़िया और चचेड़ी ग्राम के पांच आरोपियों अमन कारीकांत, रमेश कतलम, भरत ध्रुव, रिकू मरावी और अंकित जोगांश को हिरासत में ले लिया। उनके पास से पैंगोलिन की खाल, दांत और हड्डियां तथा तेंदुए की दांत मिली, जिन्हें जब्त कर लिया गया। आरोपियों ने बताया कि उन्होंने 6 माह पहले तेंदुए का शिकार किया था और उसे जमीन पर दफना दिया था। उसे अभी बिक्री के लिए लाये थे। आरोपियों की बताई गई जगह आलमखार में वन विभाग की टीम ने खुदाई कराई है, जहां तेंदुए का अवशेष मिला। आरोपियों में एक रिंकू मरावी की 21 अप्रैल को शादी होनी थी। सभी आरोपी जेल भेज दिए गए हैं।

 

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

सीएम साय ने बस हादसे में घायल जवानों के बेहतर इलाज के दिए निर्देश

Published

on

SHARE THIS

रायपुर :  सीएम विष्णुदेव साय ने बस हादसे में घायल जवानों के बेहतर इलाज के निर्देश दिए है। X पोस्ट में सीएम ने लिखा, फरसपाल से चुनाव ड्यूटी कर लौट रहे CRPF जवानों की बस के डिलमिली, तोकापाल में दुर्घटनाग्रस्त होने से दस जवानों के घायल होने की दुःखद खबर प्राप्त हुई। घायल सभी जवानों के बेहतर इलाज के निर्देश दिए हैं, सभी खतरे से बाहर हैं। ईश्वर से उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूँ।

बता दें कि बस्तर जिले में जवानों से भरी बस पलट गई। हादसे में करीब 12 जवान घायल हुए हैं। इनमें से 5 की हालत गंभीर है, जिन्हें डिमरापाल मेडिकल कॉलेज अस्पताल लाया गया है। बाकी जवानों को मामूली चोटें आई हैं। जिनका इलाज तोकापाल के अस्पताल में किया गया। हादसा कोड़ेनार थाना क्षेत्र में हुआ है।

जानकारी के मुताबिक, ये मध्यप्रदेश सशस्त्र बल के जवान हैं, जिनकी दंतेवाड़ा में चुनाव ड्यूटी लगी थी। रविवार को सभी बस से दंतेवाड़ा से गरियाबंद जा रहे थे। इसी बीच डिलमिली गांव के पास बस के आगे एक बैल आ गया। जिसे बचाने की कोशिश में बस सड़क से नीचे उतर गई और बेकाबू होकर पलट गई।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending