Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

*मनरेगा कार्डधारी परिवारों को 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराने में छत्तीसगढ़ देश में दूसरे स्थान पर*

Published

on

SHARE THIS

रायपुर । छत्तीसगढ़ ने मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना) में जरूरतमंद परिवारों को 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराने में लंबी छलांग लगाई है। इस मामले में छत्तीसगढ़ पूरे देश में अब दूसरे स्थान पर आ गया है। चालू वित्तीय वर्ष 2019-20 में प्रदेश में अब तक दो लाख 28 हजार 976 मनरेगा जॉब कार्डधारी परिवारों को 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराया गया है। इस मामले में केवल राजस्थान ही छत्तीसगढ़ से आगे है। विगत दिसम्बर माह में छत्तीसगढ़ चौथे स्थान पर था।पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने मनरेगा में लगातार अच्छे कार्यों के लिए विभागीय अमले को शाबाशी दी है। मनरेगा में राज्य के अच्छे प्रदर्शन को देखकर उन्होंने अधिकारियों-कर्मचारियों की पीठ थपथपाते हुए इसका बेहतर ढंग से क्रियान्वयन जारी रखने कहा था ताकि वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर छत्तीसगढ़ प्रथम तीन राज्यों में अपनी जगह पक्की कर सकें। उनकी अपेक्षाओं के मुताबिक चालू वित्तीय वर्ष की समाप्ति के करीब दो महीना पहले प्रदेश अब दूसरे स्थान पर पहुंच गया है।
मनरेगा के अंतर्गत प्रदेश में 1 अप्रैल 2019 से 7 फरवरी 2020 तक 22 लाख 43 हजार परिवारों को रोजगार दिया जा चुका है। इस दौरान कुल 10 करोड़ 80 लाख 18 हजार मानव दिवस रोजगार का सृजन किया गया है। इसमें महिला मजदूरों के लिए पांच करोड़ 46 लाख 85 हजार मानव दिवस का रोजगार शामिल है। यह कुल सृजित मानव दिवस का 50.63 प्रतिशत है जो कि पिछले चार वर्षों में सर्वाधिक है। भारत सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ के लिए इस साल 13 करोड़ मानव दिवस का लेबर बजट स्वीकृत किया गया है। चालू वित्तीय वर्ष के लक्ष्य के अनुसार अब तक 83 फीसदी रोजगार सृजित किए जा चुके हैं। वर्तमान में मनरेगा के तहत शुरू विभिन्न कार्यों में नौ लाख 80 हजार मजदूर काम कर रहे हैं।प्रदेश में मनरेगा मजदूरों को 100 दिनों का रोजगार उपलब्ध कराने में राजनांदगांव जिला सबसे आगे है। वहां चालू वित्तीय वर्ष में 21 हजार 713 परिवारों को 100 दिवस का रोजगार दिया गया है। बिलासपुर 19 हजार 530 परिवारों के साथ दूसरे, सूरजपुर 18 हजार 264 परिवारों के साथ तीसरे, कबीरधाम 16 हजार 251 परिवारों के साथ चौथे और गरियाबंद जिला 12 हजार 746 परिवारों के साथ पांचवें स्थान पर है।राज्य शासन के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा मनरेगा का लाभ अधिक से अधिक परिवारों तक पहुंचाने के लिए विशेष रणनीति के तहत काम किया जा रहा है। गांवों में रोजगार दिवस जैसे आयोजनों के जरिए सीधे वंचित समुदायों से काम की मांग के आवेदन लिए जा रहे हैं। मनरेगा की जिला एवं जनपद टीम द्वारा ऐसे परिवार जिन्हें 25, 50 और 75 दिन का रोजगार उपलब्ध कराया जा चुका है, उन पर फोकस कर उन्हें 100 दिनों का काम दिलाने की रणनीति पर काम किया जा रहा है। योजना के अंतर्गत चल रहे कार्यों की राज्य स्तर पर लगातार मॉनिटरिंग और समीक्षा कर हर जिले में ज्यादा से ज्यादा परिवारों को 100 दिनों का रोजगार मुहैया कराने पर जोर दिया जा रहा है।

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

आशीष सिंह बने मण्डल संयोजक

Published

on

SHARE THIS

सुरेश मिनोचा:मनेंद्रगढ़/एमसीबी : भारतीय जनता पार्टी जिला- मनेन्द्रगढ़- चिरमिरी-भरतपुर के जिलाध्यक्ष अनिल केशरवानी की सहमति से मण्डल मनेन्द्रगढ़ के प्रभारी संजय सिंह की अनुशंसा पर आशीष सिंह अधिवक्ता को भाजपा मण्डल मनेन्द्रगढ़ का “मण्डल संयोजक” नियुक्त किया गया है। यह नियुक्ति तत्काल प्रभावशील होगी। उक्ताशय की जानकारी भाजपा मीडिया प्रभारी संजय गुप्ता ने दी।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

सतपाल महराज 22 अप्रैल को भरतपुर के ग्राम घाघरा मे

Published

on

SHARE THIS

 

भक्तों एवं कार्यकर्ताओ के बीच बिताएंगे समय

सुरेश मिनोचा:मनेंद्रगढ़/एमसीबी : भारतीय जनता पार्टी प्रदेश संगठन द्वारा कोरबा लोकसभा क्षेत्र के भरतपुर -सोनहत विधान सभा के ग्राम घाघरा मे दिनांक 22 अप्रेल ,सोमवार दोपहर 12 बजे से मानव उत्थान सेवा समिति के संस्थापक एवं उत्तराखंड सरकार के मंत्रिमंडल में पर्यटन, सांस्कृतिक और सिंचाई मंत्री सतपाल महराज हेलीकाफ्टर के द्वारा ग्राम घाघरा मे पहुंचेंगे,जहां वे भक्तों एवं पार्टी के कार्यकर्ताओ के बीच काफी समय तक रहेंगे।तत्पश्चात वे रायपुर के लिए रवाना होंगे।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

अहिंसा के मूर्तिमान प्रतीक और त्याग तपस्या के आदर्श थे भगवान महावीर  : अशोक जैन

Published

on

SHARE THIS

 

पतंजलि योग साधकों ने मनाई भगवान महावीर की जयंती

सुरेश मिनोचा:मनेद्रगढ़/एमसीबी :  जैन धर्म के 24 तीर्थंकर भगवान महावीर की जयंती के अवसर पर , जैन धर्म के वरिष्ठ अनुयायी एवं पतंजलि योग समिति से जुड़े योग साधक अशोक कुमार जैन ने भगवान महावीर के त्याग ,तपस्या एवं विश्व को दिए गए उनके उपदेशों “जियो और जीने दो ” पर सारगर्भित व्याख्यान दिया। संपूर्ण कार्यक्रम का आयोजन पतंजलि योग समिति एवं महिला योग समिति के संयुक्त प्रयासों से आयोजित किया गया।इस कार्यक्रम में पतंजलि योग समिति जिला एमसीबी के प्रमुख योग साधक एवं साधिकाएं उपस्थित हुए । एमसीबी जिला इकाई पतंजलि योग समिति के द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में वरिष्ठ योग प्रशिक्षक सतीश उपाध्याय ने जैन धर्म के 24 तीर्थंकर भगवान महावीर के जन्म उत्सव , भगवान महावीर स्वामी के सांसारिक मोह माया के त्याग ,कठोर तपस्या एवं जैन तीर्थं स्थलों की विस्तृत चर्चा की । श्री उपाध्याय ने बतलाया कि ईसा से 599 वर्ष पहले वैशाली गणतंत्र के छत्रीय कुंडलपुर में एक बालक का जन्म हुआ ।बचपन में इनका नाम वर्धमान था, बाद में ये स्वामी महावीर बने। महावीर स्वामी को अति वीर और सन्मति भी कहा जाता है।

श्री उपाध्याय ने भगवान महावीर को अहिंसा का मूर्तिमान प्रतीक बताते हुए उनके जीवन त्याग और तपस्या की चर्चा की। उपस्थित योग साधकों एवं वक्ताओं के द्वारा इस अवसर पर भगवान महावीर के अहिंसा ,सत्य अपरिग्रह ,अस्तेय ,ब्रह्मचर्य के सिद्धांतों और उनके दिए गए उपदेशों की व्याख्या की गई।। पतंजलि योग समिति की ओर से जिला प्रभारी बलबीर कौर, lरिया वाधवानी, अनिता दास गुप्ता, कविता मंगतानी ,पिंकी सलूजा, सुखविंदर सिंह,जैन धर्म के प्रमुख अनुयायी एवं पतंजलि योग समिति के योग साधक अशोक जैन , सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के सहायक नेत्र अधिकारी आर डी दीवान, परमानंद सिंह, , छत्तीसगढ़ योगासन स्पोर्ट्स के युवा योग प्रशिक्षक विवेक कुमार तिवारी ,राकेश अग्रवाल आदि उपस्थित रहे।कार्यक्रम का संचालन पतंजलि योग समिति के वरिष्ठ योग प्रशिक्षक ने किया।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending