Connect with us

खबरे छत्तीसगढ़

पेयजल की गुणवत्ता के लिए पानी का लगातार परीक्षण करें लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं जल संसाधन विभाग की बैठक लेकर कलेक्टर ने दिए निर्देश

Published

on

SHARE THIS

ललित साहू धमतरी, 21 अप्रैल 2020/ कलेक्टर  रजत बंसल ने आज अपराह्न लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं जल संसाधन विभाग की समीक्षा बैठक लेकर पेजयल आपूर्ति एवं तालाबों को भरने के संबंध में समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों से यह स्पष्ट रूप से कहा कि पेयजल की गुणवत्ता को लेकर किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। पीलिया जैसे जलजनित रोग की एक भी शिकायत मिलने पर संबंधित के विरूद्ध सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने अधूरे निर्माण कार्यों को पूर्ण करने के लिए हरहाल में सोशल एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने के भी निर्देश बैठक में दिए।
आज अपराह्न 3.30 बजे कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा करते हुए विकासखण्डवार पेयजलापूर्ति के बारे में जानकारी ली। साथ ही नलजल योजना के तहत लंबित निर्माण कार्यों को पुनः शीघ्रता से प्रारम्भ कराने के लिए निर्देशित किया। गर्मी के मौसम को देखते हुए हैण्डपम्पों की स्थिति, भूजल स्तर और पानी की गुणवत्ता की स्थिति के लिए कलेक्टर ने जिला पंचायत की सी.ई.ओ. श्रीमती नम्रता गांधी को ग्राम पंचायतों से जानकारी मंगवाकर वास्तविक जानकारी लेने के लिए कहा। इसके अलावा उन्होंने नगरपालिक निगम क्षेत्रांतर्गत आपूर्ति होने वाले पेयजल की गुणवत्ता नियमित रूप से परीक्षण करने की बात कही। उन्होंने आगे कहा कि पीलिया जैसे जलजनित रोग की शिकायत कहीं से भी नहीं मिलनी चाहिए। ऐसी स्थिति में संबंधित अधिकारी पर सीधे सख्ती से कार्रवाई करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए तथा पाइपलाइन के जाॅइन्ट की जांच सतत् करने के लिए भी निर्देशित किया। बैठक में कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ने बताया कि जिले में कुल 9856 हैण्डपम्प हैं, जिनमें से 9570 वर्तमान में चालू स्थिति में हैं। 48 हैण्डपम्प का सुधार कार्य प्रगति पर है तथा 238 हैण्डपम्प भूजल स्तर के गिरने के कारण बंद हैं। इसी तरह जिले में 261 नल जल योजना स्वीकृत हैं जिनमें से 200 रनिंग कंडीशन में है तथा 32 कार्य लाॅकडाउन के कारण लंबित हंै। इस पर कलेक्टर ने स्पष्ट किया कि पेयजल आवश्यक सेवा है जो कि प्रतिबंध से बाहर है, इसलिए सभी प्रगतिरत 32 में अंतर्विभागीय समन्वय स्थापित कर कार्य तत्काल शुरू कराएं। कार्यपालन अभियंता ने बताया कि हैण्डपम्प संबंधी शिकायत अथवा जानकारी के लिए विभाग द्वारा टोल फ्री नंबर 18002330008 भी जारी किया गया है।
इसके अलावा कलेक्टर ने जल संसाधन विभाग की समीक्षा करते हुए 15 मई से 15 जून के मध्य नहरों की साफ-सफाई कराने, नगर निगम के तालाबों को भरने आवश्यकतानुसार पानी छोडने, चेक डैम, स्टाॅप डैम का सुधार एवं मेंटेनेंस कार्य शीघ्रता से करने तथा विभाग में मनरेगा मद से संचालित निर्माण कार्यों को आगामी 15 जून से पहले हरहाल में पूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी संभाग तथा जल संसाधन विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।

SHARE THIS

खबरे छत्तीसगढ़

अहिंसा के मूर्तिमान प्रतीक और त्याग तपस्या के आदर्श थे भगवान महावीर  : अशोक जैन

Published

on

SHARE THIS

 

पतंजलि योग साधकों ने मनाई भगवान महावीर की जयंती

सुरेश मिनोचा:मनेद्रगढ़/एमसीबी :  जैन धर्म के 24 तीर्थंकर भगवान महावीर की जयंती के अवसर पर , जैन धर्म के वरिष्ठ अनुयायी एवं पतंजलि योग समिति से जुड़े योग साधक अशोक कुमार जैन ने भगवान महावीर के त्याग ,तपस्या एवं विश्व को दिए गए उनके उपदेशों “जियो और जीने दो ” पर सारगर्भित व्याख्यान दिया। संपूर्ण कार्यक्रम का आयोजन पतंजलि योग समिति एवं महिला योग समिति के संयुक्त प्रयासों से आयोजित किया गया।इस कार्यक्रम में पतंजलि योग समिति जिला एमसीबी के प्रमुख योग साधक एवं साधिकाएं उपस्थित हुए । एमसीबी जिला इकाई पतंजलि योग समिति के द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में वरिष्ठ योग प्रशिक्षक सतीश उपाध्याय ने जैन धर्म के 24 तीर्थंकर भगवान महावीर के जन्म उत्सव , भगवान महावीर स्वामी के सांसारिक मोह माया के त्याग ,कठोर तपस्या एवं जैन तीर्थं स्थलों की विस्तृत चर्चा की । श्री उपाध्याय ने बतलाया कि ईसा से 599 वर्ष पहले वैशाली गणतंत्र के छत्रीय कुंडलपुर में एक बालक का जन्म हुआ ।बचपन में इनका नाम वर्धमान था, बाद में ये स्वामी महावीर बने। महावीर स्वामी को अति वीर और सन्मति भी कहा जाता है।

श्री उपाध्याय ने भगवान महावीर को अहिंसा का मूर्तिमान प्रतीक बताते हुए उनके जीवन त्याग और तपस्या की चर्चा की। उपस्थित योग साधकों एवं वक्ताओं के द्वारा इस अवसर पर भगवान महावीर के अहिंसा ,सत्य अपरिग्रह ,अस्तेय ,ब्रह्मचर्य के सिद्धांतों और उनके दिए गए उपदेशों की व्याख्या की गई।। पतंजलि योग समिति की ओर से जिला प्रभारी बलबीर कौर, lरिया वाधवानी, अनिता दास गुप्ता, कविता मंगतानी ,पिंकी सलूजा, सुखविंदर सिंह,जैन धर्म के प्रमुख अनुयायी एवं पतंजलि योग समिति के योग साधक अशोक जैन , सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के सहायक नेत्र अधिकारी आर डी दीवान, परमानंद सिंह, , छत्तीसगढ़ योगासन स्पोर्ट्स के युवा योग प्रशिक्षक विवेक कुमार तिवारी ,राकेश अग्रवाल आदि उपस्थित रहे।कार्यक्रम का संचालन पतंजलि योग समिति के वरिष्ठ योग प्रशिक्षक ने किया।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

पुराना पुल धंसा अनदेखे हादसे को दे रहा न्योता

Published

on

SHARE THIS


रिपोर्टर मुन्ना पांडेय,लखनपुर+ सरगुजा  : राष्ट्रीय राजमार्ग 130 में ग्राम जूनाडीह के समीप चुल्हट नदी में बने पुराने पुल के एक किनारे से धंस जाने से भयानक हादसा होने की संभावना बढ़ गई है। क्षति ग्रस्त पुल एकं अनदेखे भयानक हादसे को न्योता दे रहा है । पुल के धंस जाने से अम्बिकापुर बिलासपुर मुख्य मार्ग में चलने वाहनों की फजीहत बढ़ गया है। दरअसल साल 1972-73 में तकरीबन 56 वर्ष पहले बनाया गया यह पुल काफी जर्जर हो चुका है। लखनपुर एरिया में राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो चुका है। लेकिन राष्ट्रीय राजमार्ग ठेका कम्पनी ने इस पुराने पुल को खुद के हाल पर जस का तस छोड़ दिया है।

आज़ सूरते हाल ऐसा है कि पुल अपने आप चटकने धसकने लगा है। यदि क्षति ग्रस्त पुल पर समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो तय है कि भयानक दुर्घटना होगा। आसपास के रहवासियों ने पुल को लेकर शासन प्रशासन तथा राष्ट्रीय राजमार्ग ठेका कम्पनी का ध्यानाकर्षण कराया है। ताकि समय रहते हैं पुल में सुधार कार्य कराया जा सके।

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे छत्तीसगढ़

बिलासपुर : वन्य प्राणियों के अवशेष के साथ 5 आरोपी गिरफ्तार

Published

on

SHARE THIS

बिलासपुर :  वनमंडल बिलासपुर व अचानकमार टाइगर रिजर्व की संयुक्त टीम ने पेंगोलिन की खाल, हड्डी और तेंदुए के दांत की बिक्री करने के लिए घूम रहे पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपी कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिए गए हैं। वन विभाग को खबर मिली कि कोटा में सीवी रामन यूनिवर्सिटी के पास कुछ लोग वन्य जीवों के खाल व हड्डियों लेकर रुके हुए हैं और ग्राहक का इंतजार कर रहे हैं। वन विभाग की संयुक्त टीम ने पहुंचकर अर्टिका कार में सवार मुंगेली जिले के खुड़िया और चचेड़ी ग्राम के पांच आरोपियों अमन कारीकांत, रमेश कतलम, भरत ध्रुव, रिकू मरावी और अंकित जोगांश को हिरासत में ले लिया। उनके पास से पैंगोलिन की खाल, दांत और हड्डियां तथा तेंदुए की दांत मिली, जिन्हें जब्त कर लिया गया। आरोपियों ने बताया कि उन्होंने 6 माह पहले तेंदुए का शिकार किया था और उसे जमीन पर दफना दिया था। उसे अभी बिक्री के लिए लाये थे। आरोपियों की बताई गई जगह आलमखार में वन विभाग की टीम ने खुदाई कराई है, जहां तेंदुए का अवशेष मिला। आरोपियों में एक रिंकू मरावी की 21 अप्रैल को शादी होनी थी। सभी आरोपी जेल भेज दिए गए हैं।

 

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending