Connect with us

सेहत

शैंपू की जगह इन नेचुरल चीजों से करें हेयर वॉश, मिलेंगे सिल्की और लंबे बाल

Published

on

SHARE THIS

2 मई 2024:– हर किसी को लंबे और घने बाल चाहिए. लेकिन आजकल बाल झड़ना और कम उम्र में ही बाल सफेद होने की समस्या आम होती जा रही है. जिसके लिए लोग कई तरह के महंगे शैंपू का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन उसके बाद भी कुछ खास फर्क नजर नहीं आता है. बल्कि उसमें मौजूद केमिकल भी हमारे बालों को नुकसान पहुंचा सकते हैं. इसलिए कई लोग दादी-नानी के नुस्खे अपनाते हैं. आपने तस्वीरों में देखा होगा या फिर आपकी दादी नानी ने कभी उनके लंबे या घने बालों के बारे में आपको बताया होगा. उनके लंबे और घने बालों का राज कोई हेयर प्रोडक्ट्स नहीं बल्कि कुछ नेचुरल चीजें हुआ करती थी. अगर आप भी कम उम्र में ही बाल झड़ने और सफेद होने की समस्या से परेशान रहती हैं, तो आप घर में मौजूद कुछ नेचुरल चीजों से हेयर वॉश कर सकती हैं. इससे आपको इन समस्याओं से आराम मिल सकता है.

मुल्तानी मिट्टी

मुल्तानी मिट्टी को स्किन और हेयर दोनों के लिए अच्छा माना जाता है. अगर आप बालों को धोने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं. तो इससे फ्रिजी बालों को मुलायम बनाने और स्ट्रेस करने में मदद मिल सकती हैं. इसके लिए आप मुल्तानी मिट्टी को रातभर पानी में भिगोकर रख दें और सुबह उठकर उसका सॉफ्ट पेस्ट बना लें. अब इसे अपने बालों पर कुछ मिनट तक लगाए रखने के बाद नॉर्मल पानी से हेयर वॉश करें. अगर आप चाहें तो मुल्तानी मिट्टी में दही भी मिला सकते हैं.

रीठा

बालों की ग्रोथ के लिए रीठा बहुत फायदेमंद माना जाता है. इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण खुजली की समस्या को भी कम करने में मददगार साबित हो सकते हैं. इसी के साथ ही ये स्कैल्प पर जमी गंदगी को निकालने में मददगार साबित हो सकता है. इससे बाल धोने के लिए आपको मुट्ठीभर रीठा लेकर उसे गर्म पानी में भिगोकर रखना है. इसे उबालने के लिए तब तक रखें जब तक इसकी क्वालिटी आधी न हो जाए. फिर इस पानी के गुनगुना होने के बाद इसे अच्छी तरह मसल लें जिससे इसपर झाग आ जाए, फिर इसे छान लें और शैंपू की तरह इस्तेमाल करें.

शिकाकाई

शिकाकाई में क्लेंजिंग गुण मौजूद होते हैं. जो बालों में जमी गंदगी को साफ करने में मददगार साबित हो सकते हैं. इसके लिए 2 कप पानी लें. इसमें एक बड़ा चम्मच आंवला और शिकाकाई पाउडर डालें. अब इस मिश्रम को उबालें. फिर इस पानी के गुनगुना या थंडा होने पर इसे छान लें और स्कैल्प पर इसे लगाते हुए अच्छे से मसाज करें. फिर शैंपू या नॉर्मल पानी से हेयर वॉश करें.

SHARE THIS

सेहत

ज्यादा खाएंगे तो बन जाएंगे गठिया के मरीज,टमाटर के इस हिस्से में है जहर…

Published

on

SHARE THIS

टमाटर पोषण तत्वों से भरपूर एक फल है, जिसका उपयोग हम सब्जी के रूप में करते हैं. टमाटर खाने से दिल, त्वचा, आंखें स्वस्थ रहती हैं और वजन भी कंट्रोल में रहता है. यह एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और हाइड्रेशन से भरपूर है. यही वजह है कि डाइटिशियन इसे आहार में शामिल करने की सलाह देते हैं. हालांकि, इसके कुछ हिस्सों को खाने से बचना चाहिए. आइए जानते हैं

क्या है अल्कलॉइड
अल्कलॉइड कीटों से बचाने के लिए पौधे द्वारा छोड़ा जाने वाला शक्तिशाली रसायन है. ये अल्कलॉइड जानवरों के लिए जहर के समान होते हैं. ये आलू के छिलके में भी पाए जाते हैं, साथ ही पौधे के तने और पत्तियों में भी ये भरे होते हैं. इससे भी बड़ी बात यह है कि टमाटर के बीजों में लेक्टिन नामक प्रोटीन होता है जो अन्य पोषक तत्वों से चिपक जाता है और सेलुलर डिसफंक्शन का कारण बनता है. लेक्टिन आपकी आंत में जलन पैदा कर सकता है और एसीडिटी का कारण बन सकता है.

तो कैसे खाना चाहिए टमाटर
इसलिए,  हमें टमाटर खाने से पहले उसके बीज निकालने पड़ते हैं.  छिलके को ब्लांच करना और फिर बीज निकालना भी अच्छा माना जाता है. प्रभावों को नॉर्मल करने के लिए आलू खाते समय उसका छिलका हटा दें और घी में पकाएं. अगर आपको गठिया या कोई अन्य ऑटोइम्यून बीमारी है, तो इन सब्जियों के अधिक सेवन से सावधान रहें क्योंकि ये सूजन और दर्द को बढ़ाते हैं

SHARE THIS
Continue Reading

सेहत

गर्मियों में इस तरह करें एलोवेरा का यूज, ठंडक के साथ सेहत को मिलेंगे कई फायदे…

Published

on

SHARE THIS

17 मई 2024:- गर्मी का मौसम है. इस समय लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है. बढ़ती गर्मी में शरीर को ठंडा रखना भी जरूरी है. इसके लिए एलोवेरा का यूज किया जा सकता है. एलोवेरा सिर्फ एक पौधा नहीं बल्कि प्राकृतिक खजाना है. त्वचा और बालों के लिए इसके फायदे तो हम सब जानते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि गर्मियों में एलोवेरा आपको स्वस्थ और ठंडा रख सकता है. एलोवेरा (घृत कुमारी) औषधीय गुणों से भरपूर पौधा होता है. पुराने समय से इसको स्वास्थ्य के लिए सबसे लाभदायक माना जाता है. खासकर हमारी त्वचा के लिए यह बहुत बढ़िया होता है. लेकिन इसके अलावा एलोवेरा के इस्तेमाल से आप गर्मियों में ठंडक और राहत भी पा सकते हैं. अमरता का पौधा के नाम से मशहूर एलोवेरा एक रसीला पौधा होता है जो सूरज की तेज धूप में भी खुद को ठंडा रखता है. इसलिए इसका सेवन करने से यह हमारे शरीर के तापमान को सामान्य रखता है. आइए जानते हैं एलोवेरा के किस तरह इस्तेमाल से आप गर्मियों में खुद को ठंडा रख सकते हैं.

एलोवेरा के कुछ कमाल के फायदे

एलोवेरा जेल को त्वचा पर लगाने से यह ठंडक प्रदान करता है. गर्मियों में धूप से जलन होने पर एलोवेरा जेल का लेप राहत देता है. एलोवेरा जेल में एंटी-बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जो पसीने की बदबू को दूर करते हैं. सुबह खाली पेट एलोवेरा के सेवन से पाचन क्रिया बेहतर होती है और कब्ज से भी आराम मिलता है. एलोवेरा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और बीमारियों से लड़ने में मदद करता है. एलोवेरा मेटाबोलिज्म को बढ़ाने और वजन घटाने में मदद करता है.

गर्मियों में शरीर को ठंडा रखे

ताजे एलोवेरा के पत्ते से जेल निकालकर सीधे त्वचा पर लगा सकते हैं. आप बाजार में मिलने वाले एलोवेरा जेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं इससे आपको ठंडक मिलेगी. अगर आप खाने और चाय रूप में एलोवेरा का इस्तेमाल करते हैं तो इसकी पत्ती के अंदर की आंत को काम में लें.

SHARE THIS
Continue Reading

सेहत

एसी में रहने वालों को हीट स्ट्रोक का खतरा ज्यादा,गर्मी में खुद को यूं रखें कूल…

Published

on

SHARE THIS

17 मई 2024:- एयरकंडीशन में रहना वाकई अच्छा होता है. यह बाहरी तापमान और अंदर के तापमान के बीच बैरियर का काम करता है जिसे आप अपने हिसाब से कम-ज्यादा कर सकते हैं. पर इसका नुकसान भी कम नहीं है. एसी में रहने वाले लोग जब तपिश भरी गर्मी में बाहर निकलते हैं तो थोड़ी देर के अंदर शरीर में गर्मी से तिलमिलाहट निकलने लगती है. अगर ज्यादा देर तक बाहर रहा जाए तो ऐसे व्यक्तियों में हीट स्ट्रोक का खतरा कई गुना ज्यादा बढ़ सकता है. इतना ही नहीं इस दौरान अगर व्यक्ति के शरीर से पसीना न निकले तो यह और अधिक घातक हो सकता है.

तेज धूप में बॉडी में क्या होता है
भारत के राष्ट्रपतियों के फिजिशियन रह चुके और वर्तमान में सर गंगाराम अस्पताल के सीनियर कंसल्टेंट डॉ. एम वली कहते हैं कि तपिश भरी गर्मी अपने आप में घातक होती है. इसमें सामान्य लोगों में भी हीटस्ट्रोक का खतरा रहता है लेकिन जो लोग एसी में रहते हैं, उनके लिए गर्मी के दिनों में बाहर निकलना ज्यादा मुश्किल भरा काम है. ऐसे लोगों की बॉडी एक्सट्रीम हीट को सहन नहीं कर पाती है. यही कारण है कि जब आप एसी गाड़ी से धूप में अचानक बाहर निकलेंगे तो आपको ज्यादा गर्मी लगेगी और 5 मिनट के अंदर आपको हीटस्ट्रोक भी आ सकता है. डॉ. वली ने कहा कि एसी में रहने वाले लोग जब धूप में बाहर निकलेंगे तो उनका सामना तेज गर्मी से होगी. लेकिन जब ऐसे लोग तेज धूप में बाहर निकलते हैं तापमान एसी रूम से कई गुना ज्यादा होता है. इतने कम समय के अंदर बॉडी इस गर्मी के लिए एडजस्ट नहीं हो पाती है. इस स्थिति में शरीर खुद को ठंडा करने के लिए पसीना निकालेगा. लेकिन एसी में ज्यादा देर तक रहने के कारण स्किन ड्राई होने लगती है जिससे पसीना निकलने में परेशानी हो सकती है. अगर पसीना नहीं निकलता तो यह बेहद घातक स्थिति हो सकती है. इससे हीट स्ट्रोक का खतरा कई गुना बढ़ सकता है.

किडनी भी हो सकती है फेल
डॉ. एम वली ने बताया कि जब पसीना कम निकलेगा तो शरीर का वाष्पीकरण मैकेनिज्म फेल हो जाएगा. इससे कोल्ड टेंपरेचर बढ़ जाएगा. इससे खून गाढ़ा होने लगेगा. इसके बाद शरीर में कई तरह की परेशानियां बढ़ जाएगी. उन्होंने बताया कि इसमें मसल्स में जो प्रोटीन होते हैं, वे टूटने लगते हैं. इस कारण शरीर में बहुत अधिक थकान और कमजोरी होने लगती है. व्यक्ति को किसी भी तरह का काम करने में मन नहीं लगता. शरीर में पानी की कमी होने लगती है और दिमाग में कंफ्यूजन होने लगता है. एक्सट्रीम केस में किडनी फेल हो सकता है, हार्ट रेट कम हो जाती है और मेमोरी लॉस हो सकती है. अंततः व्यक्ति बेहोश होकर गिर सकता है. डॉ. वली ने बताया कि यही कारण है कि  अगर कोई व्यक्ति एसी गाड़ी से उतर कर तेज धूप में 5 मिनट भी खड़ा हो जाता है तो उसका हाल बुरा हो जाता है. इसलिए एसी में रहने वाले व्यक्ति का शरीर ज्यादा देर तक धूप में रहने के काबिल नहीं होता और बाहर निकलते ही वह तिलमिलाने लगता है.

ऐसे लोगों को क्या करना चाहिए
डॉ. एम वली कहते हैं कि जो लोग एसी में रहते हैं, सबसे पहले तो एसी को 25 से उपर चलाना चाहिए. वहीं अगर आप बाहर निकलते हैं तो पहले कुछ देर बिना एसी में रहने की प्रैक्टिश कर लें. यानी एसी को बंद कर दें. यदि आप कार में हैं और आप बाहर निकल रहे हैं तो इससे पहले एसी बंद कर दें. इसके साथ ही आप गर्मियों के मौसम में पानी वाले फूड का ज्यादा सेवन करें. तरबूज, खीरा, ककड़ी आदि का सेवन बढ़ा दें. ताजे फल का सेवन बहुत फायदेमंद साबित होगा. बाहर निकलने के दौरान ढीले कपड़े पहनें. सूती और सफेद कपड़ा गर्मी में ज्यादा फायदेमंद है. दिन भर खूब पानी पीएं. अगर गर्मी ज्यादा महसूस हो तो गीले कपड़े सिर पर डाल लें. कोशिश करें कि तपिश भरी गर्मी में ज्यादा देर बाहर न रहना पड़े.

 

SHARE THIS
Continue Reading

खबरे अब तक

WEBSITE PROPRIETOR AND EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Rashid Jafri
Web News Portal: Amanpath News
Website : www.amanpath.in

Company : Amanpath News
Publication Place: Dainik amanpath m.g.k.k rod jaystbh chowk Raipur Chhattisgarh 492001
Email:- amanpathasar@gmail.com
Mob: +91 7587475741

Trending